• होम
  • इंटरनेट
  • ख़बरें
  • ताइवान की 1 लाख भारतीय वर्कर्स को हायर करने की तैयारी, आकर्षक सैलरी की पेशकश

ताइवान की 1 लाख भारतीय वर्कर्स को हायर करने की तैयारी, आकर्षक सैलरी की पेशकश

ताइवान के साथ एंप्लॉयमेंट को लेकर एग्रीमेंट से चीन की नाराजगी बढ़ सकती है। ताइवान एक स्व-शासित आइलैंड है और चीन इसके साथ किसी आधिकारिक एक्सचेंज का विरोध करता है

ताइवान की 1 लाख भारतीय वर्कर्स को हायर करने की तैयारी, आकर्षक सैलरी की पेशकश
ख़ास बातें
  • भारत से जल्द हजारों वर्कर्स को ताइवान भेजने की योजना है
  • इससे ताइवान का पड़ोसी देश चीन नाराज हो सकता है
  • ताइवान ने भारतीय वर्कर्स को स्थानीय लोगों के समान वेतन की पेशकश की है
विज्ञापन
पिछले कुछ वर्षों में भारत और ताइवान के बीच कारोबार में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। भारत से जल्द हजारों वर्कर्स को ताइवान भेजने की योजना है। हालांकि, इससे ताइवान का पड़ोसी देश चीन नाराज हो सकता है। भारत और ताइवान के बीच अगले महीने एक एंप्लॉयमेंट मोबिलिटी एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए जा सकते हैं। 

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय वर्कर्स को ताइवान में फैक्टरियों, हॉस्पिटल्स और खेतों में रोजगार दिया जा सकता है। ताइवान की जनसंख्या में उम्रदराज लोगों की संख्या बढ़ रही है। हालांकि, भारत में करोडों युवाओं के रोजगार के लिए इकोनॉमी तेजी से नहीं बढ़ रही। अगले कुछ वर्षों में ताइवान की जनसंख्या में बूढ़े लोगों की संख्या 20 प्रतिशत से अधिक होने का अनुमान है। ताइवान के साथ एंप्लॉयमेंट को लेकर एग्रीमेंट से चीन की नाराजगी बढ़ सकती है। ताइवान एक स्व-शासित आइलैंड है और चीन इसके साथ किसी आधिकारिक एक्सचेंज का विरोध करता है। चीन और ताइवान के बीच समुद्री सीमा है। पिछले कुछ वर्षों में ताइवान के अमेरिका के साथ संबंध मजबूत हुए हैं। अमेरिका की ओर से इसे हथियार और अन्य साजो सामान भी दिया गया है। इससे चीन की नाराजगी बढ़ी है। 

पिछले दो दशकों में भारत का चीन से इम्पोर्ट बढ़ा है। हालांकि, ताइवान के साथ एग्रीमेंट का यह मतलब नहीं हौगा कि भारत की ओर से  'वन इंडिया पॉलिसी' को अनदेखा कर रहा है। इस पॉलिसी के तहत ताइवान को चीन के हिस्से के तौर पर माना जाता है। भारत ने इस पॉलिसी को लेकर आधिकारिक तौर पर अपनी स्थिति पर जोर नहीं दिया है और ताइवान के साथ कारोबार को बढ़ाया है। ताइवान के साथ एंप्लॉयमेंट से जुड़े एग्रीमेंट को लेकर बातचीत अंतिम चरण में है। ताइवान वाले वर्कर्स के स्वास्थ्य को प्रमाणित करने के लिए एक मैकेनिज्म बनाया जा रहा है। 

ताइवान में बेरोजगारी दर पिछले दो दशक से अधिक में सबसे निचले स्तर पर चली गई है और सरकार को इकोनॉमी की ग्रोथ बरकरार रखने के लिए वर्कर्स की जरूरत है। भारतीय वर्कर्स को ताइवान ने स्थानीय लोगों के समान वेतन और इंश्योरेंस की भी पेशकश की है। भारत में केंद्र सरकार ऐसे देशों के साथ एंप्लॉयमेंट से जुड़े एग्रीमेंट करने पर जोर दे रही जो वर्कफोर्स की कमी से जूझ रहे हैं। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. 2 टचस्क्रीन डिस्प्ले और 32GB रैम के साथ आता है Asus का नया Zenbook Duo (2024) लैपटॉप, जानें कीमत
  2. WhatsApp वेब यूजर्स को जल्द ही मिलेगा नया कस्टमाइज साइडबार, जानें सबकुछ
  3. Redmi K70 Ultra में होगा तगड़ा प्रोसेसर! मिलेगी 24GB रैम और 120W चार्जिंग
  4. Anand Mahindra: इस्राइल के एयर डिफेंस सिस्‍टम के मुरीद हुए आनंद महिंद्रा, बोले- हमें भी करना होगा फोकस
  5. 75,65,55 और 43 इंच डिस्प्ले के साथ Haier S800QT QLED टीवी हुए लॉन्च, जानें सबकुछ
  6. What is Arrow 3 System : क्‍या है इस्राइल का Arrow 3 डिफेंस सिस्‍टम, जिसने ईरानी मिसाइलों की ‘हवा’ निकाल दी!
  7. इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी Polestar का पहला स्मार्टफोन 23 अप्रैल को होगा लॉन्च, जानें क्या होगा खास?
  8. Oppo K12 होगा OnePlus Nord CE 4 की कॉपी! अगले हफ्ते लॉन्चिंग
  9. Vivo V30e के स्पेसिफिकेशंस लीक, सोनी IMX882 OIS कैमरा, 5500mAh बैटरी के साथ देगा दस्तक
  10. iQOO Z9 सीरीज के फीचर्स का खुलासा! 6000mAh बैटरी 80W चार्जिंग के साथ लॉन्‍च होंगे 3 मॉडल
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »