ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA

NASA के एडमिनिस्ट्रेटर Bill Nelson ने भारत के दौरे के दौरान बताया था कि अमेरिका और भारत की अगले वर्ष के अंत तक इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर एक भारतीय एस्ट्रॉनॉट को भेजने की योजना है

ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA

ISS पर संयुक्त मिशन को लेकर दोनों देशों के बीच सहमति बनी थी

ख़ास बातें
  • भारत को स्पेस स्टेशन बनाने में मदद के लिए NASA तैयार है
  • ISRO के सतीश धवन स्पेस सेंटर से NISAR सैटेलाइट को लॉन्च किया जाएगा
  • दोनों देशों के बीच स्पेस सेक्टर में सहयोग बढ़ रहा है
विज्ञापन
इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) पर जल्द ही अमेरिका और भारत का एक संयुक्त मिशन भेजा जा सकता है। इसके लिए अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA की ओर से भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस्ड ट्रेनिंग दी जाएगी। ISS पर संयुक्त मिशन को लेकर दोनों देशों के बीच सहमति बनी थी। 

भारत में अमेरिका के राजदूत, Eric Garcetti ने एक कार्यक्रम में बताया, "भारतीय एस्ट्रोनॉट्स को जल्द ही NASA एडवांस्ड ट्रेनिंग देगी। इसका लक्ष्य इस वर्ष या इसके बाद जल्द ही इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर एक संयुक्त मिशन भेजने का है।" US कमर्शियल सर्विस (USCS) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया, "जल्द ही हम ISRO के सतीश धवन स्पेस सेंटर से NISAR सैटेलाइट को लॉन्च करेंगे। यह धरती की सतह, समुद्र के स्तर में बढ़ोतरी और क्रायोस्फेयर जैसे रिसोर्सेज की निगरानी करेगा।" NASA और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का धरती का अवलोकन करने वाला यह एक संयुक्त मिशन है। 

Garcetti का कहना था, "अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग और शांति की कोशिशों में हम मिलकर कार्य कर रहे हैं।" भारत और अमेरिका के बीच हुआ Artemis Accord चंद्रमा और उससे आगे के एक्सप्लोरेशन के लिए दोनों देशों के बीच एक फ्रेमवर्क है। ISRO के चेयरमैन,  S Somanath ने बताया, "भारत और अमेरिका के बीच महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजीज और विशेषतौर पर स्पेस से जुड़े मिशंस में कनेक्शन मजबूत हो रहा है।" 

पिछले वर्ष NASA ने कहा था कि भारत को उसका स्पेस स्टेशन बनाने में मदद के लिए अमेरिका तैयार है। NASA के एडमिनिस्ट्रेटर Bill Nelson ने भारत के दौरे के दौरान बताया था कि अमेरिका और भारत की अगले वर्ष के अंत तक इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर एक भारतीय एस्ट्रॉनॉट को भेजने की योजना है। ISRO और NASA के ज्वाइंट वेंचर में जल्द ही स्टेट-ऑफ-द-आर्ट सैटेलाइट NISAR को लॉन्च करने की योजना है। इसके साथ ही Gaganyaan के मॉड्यूल माइक्रोमीटियोरॉइड एंड ऑर्बिटल डेबरीज प्रोटेक्शन शील्ड्स की टेस्टिंग के लिए NASA के हायपरवेलोसिटी इम्पैक्ट टेस्ट (HVIT) का उपयोग करने की संभावना पर ISRO विचार कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ISRO से 2035 तक भारतीय स्पेस स्टेशन बनाने और 2040 तक चंद्रमा पर एस्ट्रोनॉट्स को लैंड कराने का लक्ष्य रखने को कहा है। NASA-ISRO Synthetic Aperture Radar (NISAR) को लगभग 1.5 अरब डॉलर की लागत से डिवेलप किया गया है। 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

ये भी पढ़े: Space, ISRO, Mission, Technology, Market, Sattelite, Moon, System, Earth, Data, NISAR, Cost, Demand, America
आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. Samsung Music Frame 120W वायरलेस स्पीकर लॉन्च, वॉयस एसिस्टेंट के साथ शानदार फीचर्स से लैस
  2. OnePlus Nord CE4 Lite फोन Snapdragon 695 प्रोसेसर, 5500mAh बैटरी के साथ लॉन्च, कीमत 19,999 रुपये से शुरू
  3. Moto Tag : मोटोरोला लॉन्‍च करेगी ट्रैकिंग डिवाइस, खोया सामान ढूंढने में मिलेगी मदद, Apple से मुकाबला!
  4. BMW का इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04 अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, 129 किलोमीटर की रेंज
  5. Xiaomi Smart Astronomical Telescope: ब्रह्मांड के तारों को हाई-डेफिनेशन में कैप्चर करता है शाओमी का टेलीस्कोप, जानें कीमत
  6. 50MP Sony कैमरा, 8GB रैम वाले iQoo Z9 को Rs. 3,000 सस्ता खरीदने का मौका, जानें पूरी डील
  7. Hero MotoCorp की मोटरसाइकिल्स और स्कूटर्स अगले महीने से हो जाएंगे महंगे
  8. Lenovo का Legion टैबलेट जल्द होगा भारत में लॉन्च, 6,550mAh की बैटरी
  9. 28 जून को भारत आ रहा है Realme C61 स्मार्टफोन, लॉन्च से पहले लीक हुई कीमत
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »