अपने अंदर 30 छोटी पृथ्वी निगल चुका है बृहस्पति- NASA

वैज्ञानिकों ने पाया है कि बृहस्पति ग्रह के गर्भ में धातु जैसे तत्व मौजूद हैं जिनका माप धरती के आकार से 11 से 30 गुना तक है। ये मेटल ग्रह के ठीक केंद्र के पास हैं।  

अपने अंदर 30 छोटी पृथ्वी निगल चुका है बृहस्पति- NASA

बृहस्पति के बाहरी गैसीय आवरण के नीचे केंद्र में भरी है धातुएं- वैज्ञानिक

ख़ास बातें
  • अंतरिक्ष में मौजूद बड़े पिंडों को Planetesimals कहा जाता है।
  • बृहस्पति ग्रह के गर्भ में धातु जैसे तत्व मौजूद हैं।
  • इनका माप धरती के आकार से 11 से 30 गुना तक है।
Jupiter यानि बृहस्पति ग्रह हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। इसका आकार इतना बड़ा है, अगर सारे ग्रहों को मिला भी दें तो यह उनसे तब भी 2.5 गुना बड़ा साबित होता है। इसके बारे में हम सुनते आए हैं कि यह हीलियम और हाइड्रोजन गैसों से मिलकर बना है। लेकिन दूसरे गैसीय ग्रहों की तरह इसके निर्माण में भी धातु का इस्तेमाल हुआ है। वैज्ञानिकों ने अब पता लगा लिया है कि इसमें जो धातु मौजूद हैं क्या वे इसने दूसरे ग्रहों से ली थीं या यह पूरे के पूरे सूक्ष्म ग्रहों को अपने अंदर निगल चुका है!

Gravity Science यंत्र का इस्तेमाल करके नासा के स्पेस क्राफ्ट जूनो (Juno) के माध्यम से वैज्ञानिकों ने बृहस्पति ग्रह के निर्माण में शामिल होने वाले एलिमेंट्स का पता लगा लिया है। Juno का नाम भी जुपिटर से ही जुड़ा है। रोमन गॉड जुपिटर से विवाह करने वाली रोमन फीमेल गॉड के नाम पर इसका नाम जूनो रखा गया है। जूनो को 2016 में बृहस्पति के ऑर्बिट में उतारा गया था। वहां पर इसने ग्रह के ग्रेविटेशनल फील्ड को मापने के लिए रेडियो वेव्ज का इस्तेमाल किया। 

वैज्ञानिकों ने पाया कि बृहस्पति ग्रह के गर्भ में धातु जैसे तत्व मौजूद हैं जिनका माप धरती के आकार  से 11 से 30 गुना तक है। ये मेटल ग्रह के ठीक केंद्र के पास हैं।  

"जुपिटर जैसे गैस दैत्य के लिए मेटल इकट्ठा करना दो तरीके से संभव हो सकता है- या तो इसमें धातु के छोटे छोटे टुकड़े जाकर इकट्ठे हुए हैं या फिर इसने ग्रहों को अपने अंदर निगल लिया है।" स्टडी के प्रमुख लेखक यामिला मिग्यूल ने कहा। इस स्टडी को Jupiter's inhomogeneous envelope का शीर्षक दिया गया है, जिसे Astronomy and Astrophysics जर्नल में प्रकाशित किया गया है। 

"हम जानते हैं कि एक नवजात ग्रह जब इस लायक हो जाता है तो वह छोटे छोटे धातु के टुकड़ों को बाहर फेंकने लगता है। जुपिटर में अभी धातुओं का जो भंडार है वो पहले संभव नहीं हो सकता था। इसलिए हम इस बात को छोड़ सकते हैं कि इतनी ज्यादा मेटल पहले से मौजूद थी और ये कह सकते हैं कि जुपिटर के बनने के समय केवल छोटे धातु के टुकड़े ही रहे होंगे। उसके बाद इसने ग्रहों के बड़े टुकड़ों को निगला है जिनसे इतनी ज्यादा मात्रा में धातु इकट्ठा हुई पाई गई है।"

अंतरिक्ष में मौजूद बड़े पिंडों, जो छोटे ग्रह जैसे होते हैं, को Planetesimals कहा जाता है।ये अंतरिक्ष में मौजूद धूल और कणों के बने होते हैं। एक बार जब ये एक किलोमीटर तक के आकार में बड़े हो जाते हैं तो इनका अपना एक गुरुत्वाकर्षण बल पैदा हो जाता है जिससे ये दूसरे टुकड़ों को खींचकर आकार में ग्रहों के जितने बड़े होते चले जाते हैं। फिर इन्हें  protoplanets या छोटे ग्रह कहा जाता है। 

"हमारे नतीजे ये कहते हैं कि जब बृहस्पति का हीलियम और हाइड्रोजन का बाहरी आवरण बड़ा हो रहा था, तब इसने धातु के इन सूक्ष्म ग्रहों को अपने अंदर निगला होगा, जिसके कारण इसके अंदर वर्तमान में इतनी ज्यादा मात्रा में धातु मौजूद है।" मिग्यूल ने कहा। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

गैजेट्स 360 स्टाफ The resident bot. If you email me, a human will respond. और भी
Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. एयरटेल नम्बर पर कॉलर ट्यून ऐसे लगाएं
  2. 180 km रेंज वाली Tork Kratos इलेक्ट्रिक बाइक को मात्र Rs. 75 में करें बुक, जानें कैसे?
  3. 64MP क्वाड कैमरा, 8GB रैम, 4200mAh बैटरी के साथ Blu Bold N2 स्मार्टफोन लॉन्च, जानें कीमत
  4. Rs 12 हजार से नीचे के चाइनीज स्मार्टफोन भारत में अभी नहीं होंगे बैन
  5. 50MP कैमरा और 12GB RAM से लैस Moto S30 Pro लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स
  6. 600 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से धरती से अचानक टकरा गया शक्तिशाली सौर तूफान!
  7. iPhone 11 पर मिल रही तगड़ी छूट, मात्र 26999 रुपये में खरीदने का सुनहरा मौका
  8. 64MP कैमरा, 8GB RAM के साथ Vivo V25 Pro 17 अगस्त का होगा लॉन्च, Vivo V25 की फोटो लीक
  9. सैटेलाइट को अंतरिक्ष में ले जाने वाले रॉकेट आपकी जान के लिए है खतरा, जानें कैसे?
  10. चांद कैसे बना? उल्का पिंडों में मिली गैसों ने खोले नए राज
  11. Jio के इस प्लान में 365 दिनों तक डेली 2.5GB डेटा, अनलिमिटिड कॉलिंग, OTT सब्सक्रिप्शन फ्री, जानें कीमत
  12. BHIM ऐप इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को मिलेगा 750 रुपये तक कैशबैक
  13. Android फोन, कंप्यूटर या लैपटॉप पर YouTube वीडियो को ऐसे करें डाउनलोड
  14. WhatsApp Status को चुटकियों में ऐसे करें डाउनलोड
  15. Paytm, PhonePe, Amazon Pay के केवाईसी अपडेट की डेडलाइन 6 महीने बढ़ी
  16. WhatsApp ने मैसेज Delete करने की टाइम लिमिट में किया बड़ा बदलाव, जुड़े 3 नए प्राइवेसी फीचर्स
  17. Shiba Inu का बर्न रेट 250% बढ़ा, व्हेल्स ने खरीदें 312 खरब SHIB
  18. टॉप 100 क्रिप्‍टो व्‍हेल्‍स की सबसे बड़ी संप‍त्त‍ि Shiba Inu, लेकिन ट्रेडिंग में किसी और ने मारी बाजी
  19. Shiba Inu व्हेल्स का ट्रेडिंग वॉल्यूम 511% बढ़ा, एवरेज वैल्यू में 24.18% का उछाल
  20. PUBG Lite का बीटा वर्जन लॉन्च हुआ भारत में, ऐसे करें डाउनलोड
  21. 50 इंच डिस्प्ले और 2GB RAM से लैस Oppo K9x Smart TV लॉन्च, जानें स्पेसिफिकेशंस
  22. Philips ने भारत में लॉन्च किए दो 4K स्मार्ट टीवी, जानें दाम और खासियतें
  23. Xiaomi ने फुल-एचडी वीडियो स्ट्रीमिंग सपोर्ट के साथ लॉन्च किया Mi TV Stick, जानें कीमत
  24. 181KM माइलेज के साथ लुक में बवंडर हैं ये इलेक्ट्रिक स्कूटर, कीमत में किफायती और हर महीने हजारों की बचत
  25. अमेरिका का Frontier बना दुनिया का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर, जानें कौन है भारत का सबसे तेज सुपरकंप्‍यूटर
  26. Skarper ने लॉन्च की महज 3.3kg की ई-बाइक मोटर, 30 मिनट के चार्ज में 20km है रेंज, जानें कीमत
  27. Tesla का फुल सेल्फ-ड्राइविंग मोड भरोसे के लायक नहीं! बच्चे के साइज के डमी को कुचला
  28. Flipkart सेल के आखिरी दिन लूट ऑफर, मात्र 749 रुपये में खरीदें धाकड़ 5जी स्मार्टफोन
  29. 24000mAh बैटरी, 140W फास्ट चार्जिंग के साथ Anker 737 PowerCore 24K पावर बैंक लॉन्च, जानें कीमत
  30. Redmi Note 7 Pro, Galaxy M20, Realme 2 Pro, Asus ZenFone Max Pro M1: 15,000 रुपये से कम में आने वाले बेस्ट स्मार्टफोन
#ताज़ा ख़बरें
  1. सावधान! ये Whatsapp, YouTube ऐप्स आपके एंड्रॉयड फोन में भेज सकते हैं खतरनाक वायरस
  2. NASA अलर्ट: 14 से 18 अगस्त के बीच धरती की ओर बढ़ रहे 4 एस्ट्रॉयड! जानें किन से है खतरा
  3. Hubble से खींची गई Orion तारामंडल की फोटो, लगती है सपनों की दुनिया!
  4. 60 हजार एकड़ जंगल आग में ‘स्‍वाहा’, देखिए कैलिफोर्निया में हुई बर्बादी की सैटेलाइट इमेज
  5. Rs 12 हजार से नीचे के चाइनीज स्मार्टफोन भारत में अभी नहीं होंगे बैन
  6. सिंगल चार्ज में 125km तक की रेंज वाले भारत के 5 बेस्ट इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर कार्गो
  7. चाइनीज कंपनी Xiaomi ने पेश किया इंसान के सुख-दुख को समझने वाला रोबोट CyberOne
  8. 24000mAh बैटरी, 140W फास्ट चार्जिंग के साथ Anker 737 PowerCore 24K पावर बैंक लॉन्च, जानें कीमत
  9. Elon Musk की SpaceX ने अंतरिक्ष में लॉन्च किए 46 और नए सैटेलाइट्स
  10. मनुष्य के गले में इस खास स्ट्रक्चर की कमी के कारण पैदा हुई बोलने की क्षमता- स्टडी
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2022. All rights reserved.