भारत के मून मिशन चंद्रयान-3 को लाइव देखने का मौका, ISRO ने दिया निमंत्रण

इसके लिए https://lvg.shar.gov.in/VSCREGISTRATIO पर रजिस्टर करना होगा। चंद्रयान-3 को 14 जुलाई को श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा

भारत के मून मिशन चंद्रयान-3 को लाइव देखने का मौका, ISRO ने दिया निमंत्रण

चंद्रमा की सतह पर सुरक्षित लैंडिंग और मूवमेंट के प्रदर्शन के लिए चंद्रयान 3 को भेजा जा रहा है

ख़ास बातें
  • चंद्रयान-3 को 14 जुलाई को सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा
  • इसे लॉन्च व्यू गैलरी से देखने के लिए नागरिकों को निमंत्रित किया गया है
  • चंद्रयान के 23 अगस्त को लैंडिंग करने की संभावना है
विज्ञापन
देश के चंद्रमा पर भेजे जाने वाले मिशन चंद्रयान-3 के लॉन्च को लाइव देखने का मौका मिल सकता है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने नागरिकों को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में SDSC-SHAR की लॉन्च व्यू गैलरी से चंद्रयान-3 के लॉन्च को लाइव देखने का निमंत्रण दिया है। 

इसके लिए lvg.shar.gov.in/VSCREGISTRATIO पर रजिस्टर करना होगा। ISRO ने ट्वीट कर बताया है, "व्हीकल के इलेक्ट्रिक टेस्ट पूरे हो गए हैं। लॉन्च को श्रीहरिकोटा में SDSC-SHAR की लॉन्च व्यू गैलरी से देखने के लिए नागरिकों को निमंत्रित किया जाता है। इसके लिए  https://lvg.shar.gov.in/VSCREGISTRATIO पर रजिस्टर करना होगा।" इससे पहले ISRO के डायरेक्टर,  S Somanath ने बताया था कि चंद्रयान-3 को 14 जुलाई को श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा। उन्होंने कहा था, "अगर सब कुछ ठीक रहता है तो चंद्रयान 23 अगस्त को लैंड करेगा। इस तिथि का फैसला चंद्रमा पर सूर्योदय के आधार पर किया गया है। हालांकि, अगर इसमें देरी होती है तो हमें लैंडिंग को अगले महीने सितंबर में रखना होगा।" 

चंद्रमा की सतह पर सुरक्षित लैंडिंग और मूवमेंट की क्षमता के प्रदर्शन के लिए चंद्रयान 3 को भेजा जा रहा है। चंद्रमा पर देश के दूसरे मिशन चंद्रयान-2 को लगभग चार वर्ष पहले लॉन्च किया गया था। हालांकि, विक्रम लूनर लैंडर के चंद्रमा पर क्रैश होने के कारण यह मिशन नाकाम हो गया था। ISRO ने Gaganyaan प्रोजेक्ट में जल्दबाजी नहीं करने का फैसला किया है। यह अंतरिक्ष में यात्रियों के साथ एक मिशन है। ISRO ने इस मिशन को इस तरीके से डिजाइन किया है कि जिससे यह पहली कोशिश में ही सफलता हासिल कर सकेगा। इसके लिए टेस्टिंग और डिमॉन्स्ट्रेशन में बढ़ोतरी की गई है। 

ISRO ने Gaganyaan प्रोजेक्ट में जल्दबाजी नहीं करने का फैसला किया है। यह अंतरिक्ष में यात्रियों के साथ एक मिशन है। ISRO ने इस मिशन को इस तरीके से डिजाइन किया है कि जिससे यह पहली कोशिश में ही सफलता हासिल कर सकेगा। इसके लिए टेस्टिंग और डिमॉन्स्ट्रेशन को बढ़ाया गया है। पिछले महीने इस बारे में Somanath ने संवाददाताओं को बताया था कि गगनयान को दो वर्ष पहले लॉन्च किया जाना था लेकिन कोरोना की वजह से इसमें देरी हुई है। उन्होंने कहा था, "हमारी सोच अब अलग है। हम जल्दबाजी नहीं करना चाहते। हमने फैसला कर लिया है। इस ह्युमन स्पेस फ्लाइट का मुख्य उद्देश्य एक पूरी तरह निश्चित सुरक्षित मिशन है।" 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. BYD ने एक दिन में की Seal EV की 200 यूनिट्स की डिलीवरी
  2. Lava Yuva 5G इस सप्ताह होगा भारत में लॉन्च
  3. पाकिस्तानी हैकर्स इन मैसेजिंग ऐप्स के जरिए भारत सरकार और डिफेंस की वेबसाइटों को बना रहे हैं निशाना
  4. TCL ने लॉन्च किए 75-इंच साइज तक के कई नए स्मार्ट टेलीविजन मॉडल, कीमत Rs. 15,990 से शुरू
  5. ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA
  6. Xiaomi 14 Civi अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, ट्रिपल रियर कैमरा यूनिट
  7. Comet : पृथ्‍वी की ओर आ रहा धूमकेतु, बिना दूरबीन दिखाई देगा, कब पहुंचेगा? जानें
  8. Samsung Galaxy M35 5G फोन लॉन्‍च, इसमें है 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, 8जीबी रैम, जानें प्राइस
  9. क्रिप्टो मार्केट में तेजी, Bitcoin का प्राइस 72,000 डॉलर से ज्यादा
  10. Realme ने डुअल रियर कैमरा यूनिट के साथ लॉन्च किया Narzo N65 5G
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »