शाओमी मी ए1 (Xiaomi Mi A1) का रिव्यू

शाओमी मी ए1 स्मार्टफोन को गूगल के साथ साझेदारी में बनाया गया है। कागज़ी तौर पर Xiaomi Mi A1 में कई काम के फीचर हैं और स्पेसिफिकेशन भी दमदार लगते हैं। क्या ये सारी खूबियां एंड्रॉयड वन पर चलने वाले दो रियर कैमरे से लैस शाओमी मी ए1 को 15,000 रुपये से कम का सबसे बेहतरीन स्मार्टफोन बनाती हैं? आइए रिव्यू के ज़रिए जानते हैं...

शाओमी मी ए1 (Xiaomi Mi A1) का रिव्यू
ख़ास बातें
  • शाओमी मी ए1 फ्लिपकार्ट, मी डॉट कॉम, ऑफलाइन स्टोर पर मिलेगा
  • 14,999 रुपये वाले इस फोन की बिक्री 12 सितंबर से शुरू होगी
  • इस स्मार्टफोन को गूगल के साथ साझेदारी में बनाया गया है
विज्ञापन
शाओमी ने पिछले हफ्ते ही नए मी ए1 एंड्रॉयड वन स्मार्टफोन से पर्दा उठाया। जो अब गूगल के एंड्रॉयड वन प्रोजेक्ट का नया चेहरा है। इस चीनी कंपनी ने मी ए1 एंड्रॉयड वन स्मार्टफोन के लिए गूगल के साथ करीब 6 महीने काम किया है जिसकी जानकारी लॉन्च इवेंट में दी गई।

एंड्रॉयड वन डिवाइस को लॉन्च करते वक्त गूगल ने साफ कर दिया कि गूगल वन प्रोजेक्ट सिर्फ सस्ते स्मार्टफोन के लिए नहीं है। एंड्रॉयड वन को 2014 में पेश किया गया था। कंपनी की कोशिश थी कि स्टॉक एंड्रॉयड को आम ग्राहकों तक पहुंचाया जाए और साथ में बजट सेगमेंट के इन फोन को नियमित अपडेट दिए जाने का भी गारंटी हो। और भारत उन शुरुआती देशों में से था जहां इस ओएस को पेश किया गया। हालांकि, यह प्रोजेक्ट गूगल की उम्मीदों के इतना लोकप्रिय नहीं हो सका। लेकिन नए लॉन्च से साफ है कि यह प्रोजेक्ट बंद नहीं हुआ है, बल्कि कंपनी ने इसमें जान फूंकने की कोशिश की है।

Xiaomi Mi A1 की मार्केटिंग "created by Xiaomi and powered by Google" टैगलाइन से की जा रही है। लॉन्च इवेंट के दौरान गूगल ने यह भी कहा कि एंड्रॉयड वन को जल्द ही अलग-अलग किस्म के डिवाइस का हिस्सा बनाया जाएगा और यह सिर्फ किफायती सेगमेंट तक सीमित नहीं रहेगा। शाओमी मी ए1 को साल के अंत तक एंड्रॉयड 8.0 ओरियो अपडेट मिलना तय है। वैसे, अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी है। अगले साल के लिए एंड्रॉयड पी के भी अपडेट का वादा है।


शाओमी के लिए मी ए1 एक फ्लैगशिप स्मार्टफोन है जिसे ज़्यादा कीमत में नहीं उपलब्ध कराया गया है। वो भी तब जब शाओमी मी 6 को अब तक भारत में नहीं उपलब्ध कराया गया है। कीमत के हिसाब से Mi A1 के स्पेसिफिकेशन अच्छे हैं और दो रियर कैमरा स्वागत योग्य फीचर है। ऐसे में यह देखना बेहद ही रोचक होगा कि शाओमी के प्रशंसक मी ए1 को लेकर क्या प्रतिक्रिया देते हैं? और यह रणनीति दोनों कंपनियों के लिए कितना कारगर साबित होती है?

Xiaomi Mi A1 डिज़ाइन और बनावट
शाओमी मी ए1 भारत में लॉन्च किए गए अन्य रेडमी डिवाइस की तुलना में डिज़ाइन के हिसाब से अपग्रेड है। इसमें पुराने रेडमी डिवाइस की झलक है, लेकिन यह अपनी एक अलग पहचान बनाने में कामयाब होता है। तकनीकी तौर पर यह जुलाई में चीन में लॉन्च किए गए शाओमी मी 5एक्स का वेरिएंट है। यह फोन ब्लैक, गोल्ड और रोज़ गोल्ड रंग में आता है। हमें रिव्यू के लिए गोल्ड यूनिट दिया गया था। शुरुआत में सिर्फ ब्लैक और गोल्ड रंग वाले वेरिएंट उपलब्ध कराए जाएंगे। बाद में रोज़ गोल्ड लाए जाने की उम्मीद है।

फ्रंट पैनल पर 2.5डी कर्व्ड गोरिल्ला ग्लास डिज़ाइन है जो फोन को प्रीमियम एहसास देता है। घुमावदार किनारों के कारण यह हाथों में फिट बैठता है। 7.3 मिलीमीटर के साइड प्रोफाइल के कारण यह थोड़ा पतला नज़र आता है। शाओमी ने बार-बार कहा है कि मी ए1 हाथों में अच्छा एहसास देगा और हम भी इस दावे को पूरी तरह से खारिज नहीं करेंगे। फुल-मेटल बॉडी सॉलिड है। लेकिन पिछला हिस्सा हाथों में फिसलता है। फोन इस्तेमाल करते वक्त हमें इसका खास ख्याल रखना पड़ा। हमारा सुझाव होगा कि फोन के साथ बैककवर लेने ना भूलें। Xiaomi Redmi Note 4 और Mi Max 2 की तुलना में मी ए1 ज़्यादा प्रीमियम लगता है।
 
mi

शाओमी ने कई बार मी ए1 की तुलना आईफोन 7 प्लस की है और हम दोनों के बीच समानताएं भी देख पाते हैं। मी ए1 में डुअल रियर कैमरे और एंटीना लाइन की जगह आपको आईफोन 7 प्लस की याद दिलाएंगे। फोन ज़्यादा गर्म ना हो जाए, इस कमी को दूर करने के लिए शाओमी ने हैंडसेट में डुअल पायरोलिटिक ग्रेफाइट शीट देने की बात की है। यह तेजी से गर्मी को रिलीज करता है और चुटकियों में तापमान 2 डिग्री कम कर देता है।

स्क्रीन के नीचे एंड्रॉयड नेविगेशन के लिए कैपेसिटिव बटन दिए गए हैं। पावर और वॉल्यूम बटन दायें तरफ हैं और उन तक पहुंचने में दिक्कत नहीं होती। हाइब्रिड डुअल सिम ट्रे बायीं तरफ है और इनफ्रारेड एमिटर टॉप पर। निचले हिस्से पर आपको यूएसबी टाइप-सी पोर्ट मिलेगा। इसके साथ 3.5 एमएम जैक और स्पीकर ग्रिल को भी जगह मिली है।

फिंगरप्रिंट रीडर पिछले हिस्से पर है और यह अच्छा काम करता है। दोनों रियर कैमरे सतह से थोड़े ऊंचे हैं। इनके साथ टू टोन फ्लैश दिया गया है। फ्रंट पैनल पर कोई ब्रांडिंग नहीं है। लेकिन पिछले हिस्से पर नीचे की तरफ मी लोगो के साथ आपको एंड्रॉयड वन का लोगो मिलेगा।

कुल मिलाकर कहा जाए तो शाओमी मी ए1 किसी अन्य शाओमी हैंडसेट से ज़्यादा बेहतर दिखता है और अच्छा एहसास देता है। शाओमी ने हर डिटेल पर गौर किया है। चाहे वह स्पीकर ग्रिल हो या एंटीना बैंड लाइन। हालांकि, मी ए1 की मुख्य समस्या भी यही है कि फोन शाओमी और वीवो के अन्य मॉडल जैसा लगता है। वैसे, यह सॉफ्टवेयर के लिहाज से शाओमी की ओर से बिल्कुल ही नई कोशिश है और सीरीज़ भी नई है। ऐसे में कंपनी को डिज़ाइन पर और काम करना चाहिए था।

Xiaomi Mi A1 के स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
शाओमी मी ए1 में ऑक्टा-कोर क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 625 प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है जो रेडमी नोट 4 और मी मैक्स 2 का हिस्सा रहा है। शाओमी ने लॉन्च के दौरान बताया कि उसकी कोशिश मी ए1 की कीमत पर लगाम रखने की रही है। इस चिपसेट की क्लॉक स्पीड 2 गीगाहर्ट्ज़ है और इसके साथ 4 जीबी रैम दिए गए हैं। इनबिल्ट स्टोरेज 64 जीबी है और ज़रूरत पड़ने पर 128 जीबी तक का माइक्रोएसडी कार्ड इस्तेमाल करना संभव होगा। शाओमी के अन्य डिवाइस की तरह मी ए1 मे भी हाइब्रिड डुअल सिम डिज़ाइन है। इसका मतलब है कि आपको दो नैनो सिम कार्ड या एक नैनो सिम कार्ड और माइक्रोएसडी कार्ड में से एक को चुनना होगा।
 
xiaomi

फोन में 5.5 इंच का एलटीपीएस डिस्प्ले है। इसका रिज़ॉल्यूशन फुल-एचडी (1080x1920 पिक्सल) है। पिक्सल डेनसिटी 403 पीपीआई है। हैंडसेट का डाइमेंशन 155.4x75.8x7.3 मिलीमीटर है और वज़न 165 ग्राम। बैटरी 3080 एमएएच की है। मी ए1 में इंफ्रारेड एमिटर भी है।

कंपनी ने इस फोन के दो रियर कैमरे की जमकर तारीफ की है। आपको 12 मेगापिक्सल के दो कैमरे मिलेंगे। इनमें से एक एफ/2.2 अपर्चर वाला वाइड एंगल लेंस है और दूसरा एफ/2.6 अपर्चर वाला टेलीफोटो लेंस। फ्रंट पैनल पर एफ/2.0 अपर्चर वाला 5 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है और यह ब्यूटिफिकेशन मोड के साथ आता है।

एंड्रॉयड वन डिवाइस होने के कारण Xiaomi Mi A1 में आपको स्टॉक एंड्रॉयड अनुभव मिलेगा। यह एंड्रॉयड 7.1.2 नूगा पर चलता है जो आज की तारीख में किसी भी एंड्रॉयड डिवाइस के लिए लेटेस्ट ओएस है।

स्टॉक एंड्रॉयड की सबसे अच्छी बात यह होती है कि इसमें कोई अनचाहा ऐप नहीं होता। बजट फोन के लिए यह बहुत बड़ा बदलाव है। स्टॉक एंड्रॉयड यूआई के वादे के बाद भी शाओमी मी ए1 में आपको मी फीडबैक, मी रीमोट और मी स्टोर ऐप पहले से इंस्टॉल मिलेंगे। इस हैंडसेट में कैमरा ऐप भी शाओमी का है। क्योंकि गूगल ने अभी तक अपने स्टॉक एंड्रॉयड कैमरा ऐप के लिए डुअल कैमरा सपोर्ट ज़ारी नहीं किया है।
 
xiaomi

एंड्रॉयड 7.1.1 नूगा की तुलना में नए 7.1.2 वर्ज़न में पुरानी कमियों को दूर किया गया है। आपको स्पिलिट स्क्रीन मल्टीटास्किंग और ऐप शॉर्टकट जैसे लोकप्रिय एंड्रॉयड नूगा फीचर मिलेंगे। क्विक सेटिंग्स का अवतार बदल गया है। आप चाहें तो फिंगरप्रिंट सेंसर को नीचे की तरफ स्वाइप करके नोटिफिकेशन शेड को खोल सकते हैं। इसके अलावा पावर बटन को दो बार टैप करके कैमरा ऐप खोल सकते हैं। आखिर में आपको कीबोर्ड के अंदर ही जिफ का सपोर्ट मिलेगा।

Xiaomi Mi A1 के कैमरे
शाओमी मी ए1 के दो रियर कैमरे इसकी सबसे अहम खासियत हैं। दो लेंस की वजह से आपको 2x ऑप्टिकल ज़ूम मिलेगा। आप तस्वीरों में बोकेह इफेक्ट भी ला पाएंगे। शुरुआत डेप्थ मोड से करते हैं। हम बोकेह इफेक्ट के साथ शानदार तस्वीरें लेने में सफल रहे। ज्यादातर पोर्ट्रेट तस्वीरों में किनारे पूरी तरह से डिफाइन्ड थे। लेकिन कुछ शॉट में बैकग्राउंड के साथ सब्जेक्ट के कुछ हिस्से भी ब्लर हो गए। कम रोशनी में यह कमी और जाहिर हो जाती है। आपको इस इफेक्ट के लिए अलग से कुछ नहीं करना होगा। यह लेनोवो के8 नोट (रिव्यू) की तुलना में बेहतर काम करता है। शाओमी का दावा है कि पोर्ट्रेट मोड की परफॉर्मेंस आईफोन 7 प्लस और वनप्लस 5 के बराबर की है। लेकिन हमारा मानना है कि उस स्तर तक पहुंचने के लिए अभी शाओमी को कई अपडेट जारी करने पड़ेंगे।

मी ए1 तेजी से ऑटोफोकस करता है और ज़्यादातर मौकों पर यह सटीक रहता है। फेज़ डिटेक्शन ऑटोफोकस (पीडीएएफ) और फेस डिटेक्शन के कारण कैमरा तेजी से फोकस लॉक कर पाता है। लैंडस्केप शॉट ठीक-ठाक आए। लेकिन मैक्रोज़ शॉट में शार्पनेस और डिटेल की कमी थी, खासकर मी मैक्स 2 की तुलना में। फोन ने पर्याप्त रोशनी में टेक्सचर और डिटेल के साथ तस्वीरें कैपचर कीं। हालांकि, हमें कम रोशनी में बहुत ज़्यादा नॉयज देखने को मिली। अंधेरी जगहों पर मी ए1 का कैमरा पिछड़ जाता है और तस्वीरें बेहद ही कम डिटेल के साथ आती हैं।
img
xiaomi
xiaomi
xiaomi

शाओमी का दावा है कि मी ए1 के कैमरा ऐप में कम रोशनी में बेहतर तस्वीरें लेने के लिए एक इनहांसमेंट फीचर दिया गया है। लेकिन इसे एक्टिव करने के बाद हमें कोई बड़ा अंतर नहीं दिखा। शाओमी मी मैक्स ने कम रोशनी में ज़्यादा बेहतर नतीज़े दिए थे।

मी ए1 का कैमरा ऐप आपको डेप्थ मोड में गाइड भी करेगा। आपको "It's too dark now" और "Move farther from the object" जैसी चेतावनी मिलती रहेगी। यह नए यूज़र को भाएगा।

आप 5 मेगापिक्सल के फ्रंट कैमरे से अच्छी रोशनी में जबरदस्त तस्वीरें लेने में सफल रहेंगे। इनमें डिटेल की भी कोई कमी नहीं है। कम रोशनी में ली गई सेल्फी बेहद ही धुंधली थीं।

कुल मिलाकर यही कहेंगे कि इस कीमत में डुअल कैमरा सेटअप एक बेहतरीन फीचर है। और आप इससे आम तौर पर निराश भी नहीं होंगे। लेकिन कम रोशनी में परफॉर्मेंस पर और काम करने की ज़रूरत है।

शाओमी मी ए1 परफॉर्मेंस
हमें शाओमी मी ए1 का स्क्रीन पर्याप्त तौर पर ब्राइट लगा। तस्वीरें और टेक्स्ट शार्प नज़र आते हैं। व्यूइंग एंगल भी अच्छे हैं। हालांकि, ग्लास हमारी पसंद से ज़्यादा रिफ्लेक्टिव था। और सूरज की रोशनी फोन को इस्तेमाल करते वक्त हमें ब्राइटनेस को सर्वाधिक स्तर पर ले जाना पड़ा।

Xiaomi Mi A1 में ऑक्टा-कोर स्नैपड्रैगन 625 प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है, Redmi Note 4 और Mi Max 2 की तरह। यह एक सक्षम प्रोसेसर है। आम इस्तेमाल के ऐप तेजी से चले। 4 जीबी रैम मल्टीटास्किंग को सुगम बनाता है। टच रिस्पॉन्स अच्छा है। हमें रिव्यू के दौरान कोई कमी नहीं दिखी। हमें लास्ट डे ऑन अर्थ और असफाल्ट 8 जैसे पावरफुल ग्राफिक्स वाले गेम खेलने में मज़ा आया। हमने पाया कि 5.5 इंच का डिस्प्ले वीडियो देखने के लिए बेहतरीन है। शाओमी मी ए1 के बेंचमार्क स्कोर मी मैक्स 2 और शाओमी रेडमी नोट 4 के बराबर के आए।

शाओमी का कहना है कि उसने फोन के तापमान को नियंत्रित रखने के लिए पायरोलाइटिक ग्रेफाइट शीट का इस्तेमाल किया है। हम यही कह सकते हैं कि लंबे समय तक गेम खेलते वक्त भी हमें फोन के ज़्यादा गर्म होने का एहसास नहीं हुआ। हालांकि, फोन चार्ज होने वक्त ज़रूर गर्म हो जाता है।

शाओमी मी ए1 में 4जी वीओएलटीई के लिए सपोर्ट मौज़ूद है और कॉल क्वालिटी भी अच्छी थी। फोन ने कमज़ोर क्षेत्रों में भी नेटवर्क से कनेक्ट कर लिया। आईआर एमिटर ने मी रीमोट ऐप के साथ बिना किसी दिक्कत के काम किया।
 
xiaomi

एक छोटे कमरे के लिए स्पीकर से पर्याप्त आवाज़ आती है। आवाज स्पष्ट भी है। शाओमी का कहना है कि ईयरफोन से बेहतर आवाज़ के लिए स्मार्ट पावर एंप्लिफायर का भी इस्तेमाल हुआ है। ईयरफोन के साथ अनुभव अच्छा था। आप चाहें तो हर दिन गाने सुनने के लिए मी ए1 को इंटरटेनमेंट डिवाइस के तौर पर इस्तेमाल कर सकेंगे। शिकायत यह है कि फोन के साथ कोई ईयरफोन नहीं मिलेगा।

Xiaomi Mi A1 बैटरी लाइफ
 3080 एमएएच की बैटरी जमकर इस्तेमाल करने पर करीब 15 घंटे पर चली। हैंडसेट के बैकग्राउंड में आउटलुक, फेसबुक, यूट्यूब, ट्विटर, टेलीग्राम, जीमेल और व्हाट्सऐप ऐप हमेशा चल रहे थे। हमारे एचडी वीडियो लूप टेस्ट में मी ए1 की बैटरी करीब 10 घंटे 18 मिनट तक चली। इसे ठीक-ठाक ही कहा जाएगा। शाओमी मी ए1 के साथ एक समस्या है कि यह शाओमी के अन्य डिवाइस की तुलना में कमज़ोर बैटरी परफॉर्मेंस देता है। फोन की बैटरी को पूरी तरह से चार्ज में होने में करीब दो घंटे लगे जिसे बुरा नहीं कहा जा सकता।

हमारा फैसला     
जब एंड्रॉयड वन लॉन्च हुआ था जो कई किस्म के वादे किए गए थे। लेकिन वे पूरे ना हो सके। अब शाओमी और गूगल ने एंड्रॉयड वन को नया चेहरा देने की कोशिश की है। लेकिन यह कितना कारगर साबित होगा है, यह आने वाले वक्त में ही पता चल सकेगा। कीमत के लिहाज से शाओमी मी ए1 बेहद ही दमदार हैंडसेट है। मेटल बॉडी और ओवल फिनिश बेहतरीन है। डिस्प्ले और आम परफॉर्मेंस अच्छी है। यूज़र को पहली बार शाओमी के फोन में स्टॉक एंड्रॉयड अनुभव मिलेगा। अगर आपको मीयूआई नहीं पसंद है तो यह फोन आपके लिए है। डुअल कैमरा काम करता है।

लेकिन कम रोशनी में फोटोग्राफी पर कंपनी को और ध्यान देना चाहिए था। बैटरी लाइफ भी औसत है। इन डिपार्टमेंट में शाओमी के अन्य फोन भी अच्छा काम करते हैं।

14,999 रुपये का शाओमी मी ए1 फ्लिपकार्ट, मी डॉट कॉम, ऑफलाइन स्टोर और कंपनी के अपने मी होम स्टोर पर उपलब्ध होगा। इसकी बिक्री 12 सितंबर से शुरू होगी। शाओमी ने मीयूआई सॉफ्टवेयर को लेकर अपनी अलग पहचान बना ली है। लेकिन ग्राहक इस फोन को लेकर कैसी प्रतिक्रिया देते हैं, यह देखना बेहद ही रोचक होगा।
  • रिव्यू
  • मुख्य स्पेसिफिकेशन
  • ख़बरें
  • डिज़ाइन
  • डिस्प्ले
  • सॉफ्टवेयर
  • परफॉर्मेंस
  • बैटरी लाइफ
  • कैमरा
  • वैल्यू फॉर मनी
  • खूबियां
  • Stock Android with some Mi enhancements
  • Premium design
  • Dual cameras
  • कमियां
  • Average battery life
  • Very slippery
  • Poor photo quality in low light
डिस्प्ले5.50 इंच
प्रोसेसरक्वालकॉम स्नैपड्रैगन 625
फ्रंट कैमरा5-मेगापिक्सल
रियर कैमरा12-मेगापिक्सल
रैम4 जीबी
स्टोरेज64 जीबी
बैटरी क्षमता3080 एमएएच
ओएसएंड्रॉ़यड 7.1.2
रिज़ॉल्यूशन1080x1920 पिक्सल
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

केतन प्रताप Ketan Pratap is the editor at Gadgets 360 - with over 12 years of experience covering the technology domain. With a breadth and depth of knowledge in the field, he's ...और भी
Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. फ्रांस से 26 राफेल मैरीन फाइटर जेट्स खरीदने के लिए हो सकती है 50,000 करोड़ रुपये की डील
  2. iQOO 13 डिस्प्ले, प्रोसेसर और स्टोरेज का खुलासा, जानें सबकुछ
  3. Segway Ninebot C2 Lite: 14 Km रेंज देने वाले इस ई-स्कूटर खास बच्चों के लिए किया गया है डिजाइन, जानें कीमत
  4. Realme Narzo N65 5G vs Realme Narzo N55: जानें दोनों में क्या है अंतर
  5. WhatsApp New Feature: व्हाट्सएप पर लगा सकेंगे 1 मिनट लंबा वॉयस स्टेटस अपडेट
  6. Realme GT 6 में हो सकते हैं GenAI फीचर्स, लीक हुआ रिटेल बॉक्स
  7. Vivo S19, S19 Pro में होगा 50 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 30 मई को लॉन्च
  8. Moto G85 में होगा कर्व्‍ड डिस्‍प्‍ले! 8GB रैम के साथ जल्‍द हो सकता है लॉन्‍च
  9. OnePlus Ace 3 Pro के डिजाइन का खुलासा! 6100mAh बैटरी के साथ 3 फ‍िनिश में होगा लॉन्‍च
  10. Huawei Enjoy 70s Launched : मार्केट में आया नया हुवावे फोन, 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, जानें प्राइस
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »