टेस्ला के चीफ Elon Musk की होगी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मीटिंग

टेस्ला अपनी फैक्टरी के लिए गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों पर फोकस करेगी जहां पहले से ऑटोमोटिव इंडस्ट्री की मौजूदगी है। अमेरिका और चीन जैसे कंपनी के बड़े मार्केट्स में डिमांड घटने के कारण यह नए मार्केट्स में संभावना तलाश रही है

टेस्ला के चीफ Elon Musk की होगी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मीटिंग

मौजूदा वर्ष की पहली तिमाही में टेस्ला की सेल्स 8.5 प्रतिशत घटी है

ख़ास बातें
  • देश में इनवेस्टमेंट और EV की फैक्टरी लगाने की मस्क घोषणा कर सकते हैं
  • पिछले महीने केंद्र सरकार ने नई EV पॉलिसी की घोषणा की थी
  • पिछले कुछ वर्षों में EV की बिक्री तेजी से बढ़ी है
विज्ञापन
बड़ी इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) कंपनियों में शामिल Tesla के चीफ, Elon Musk इस महीने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ मीटिंग करने भारत आएंगे। देश में कंपनी के इनवेस्टमेंट और EV की फैक्टरी लगाने की मस्क घोषणा कर सकते हैं। यह मीटिंग 22 अप्रैल को राजधानी में होगी। 

इस बारे में जानकारी रखने वाले दो सूत्रों ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि मस्क के साथ कुछ अन्य एग्जिक्यूटिव्स भी होंगे। इस बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय और टेस्ला ने टिप्पणी के लिए भेजे गए निवेदनों का उत्तर नहीं दिया है। पिछले वर्ष जून में प्रधानमंत्री मोदी और मस्क की अमेरिका के न्यूयॉर्क में मीटिंग हुई थी। टेस्ला ने देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर इम्पोर्ट टैक्स लगाने के लिए लॉबीइंग की थी। पिछले महीने केंद्र सरकार ने नई EV पॉलिसी की घोषणा की थी जिसमें ऑटोमोबाइल कंपनी के कम से कम 50 करोड़ डॉलर का इनवेस्टमेंट करने पर कुछ मॉडल्स पर इम्पोर्ट टैक्स को 100 प्रतिशत से घटाकर 15 प्रतिशत किया गया है। हालांकि, देश की ऑटोमोबाइल कंपनियां इस छूट का कड़ा विरोध कर रही थी। 

हाल ही में एक रिपोर्ट में बताया गया था कि भारत में एक्सपोर्ट के लिए टेस्ला ने जर्मनी के अपने प्लांट में राइट-हैंड ड्राइव कारों की मैन्युफैक्चरिंग शुरू कर दी है। हालांकि, यह पता नहीं चला है कि टेस्ला के किस मॉडल का भारत को एक्सपोर्ट किया जाएगा। जर्मनी में बर्लिन के निकट कंपनी के प्लांट में मॉडल Y की मैन्युफैक्चरिंग की जाती है। 

टेस्ला अपनी फैक्टरी के लिए गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों पर फोकस करेगी जहां पहले से ऑटोमोटिव इंडस्ट्री की मौजूदगी है। अमेरिका और चीन जैसे कंपनी के बड़े मार्केट्स में डिमांड घटने के कारण यह नए मार्केट्स में संभावना तलाश रही है। मौजूदा वर्ष की पहली तिमाही में टेस्ला की सेल्स 8.5 प्रतिशत घटी है। यह लगभग चार वर्ष में पहली बार है कि जब वर्ष-दर-वर्ष आधार पर कंपनी की तिमाही सेल्स में कमी हुई है। इससे टेस्ला की ग्रोथ को लेकर आशंका बढ़ गई है। कंपनी ने पहली तिमाही में 3,86,810 व्हीकल्स की डिलीवरी की है। दुनिया भर में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की सेल्स गिरना और BYD जैसे EV मेकर्स से कड़ी टक्कर मिलना इसके पीछे प्रमुख कारण हैं। 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. HMD जल्द लॉन्च करेगा 3 नए मिड-रेंज स्मार्टफोन! कीमत के साथ इनके स्पेसिफिकेशन्स भी हुए लीक
  2. Mahindra की XUV 3XO की तीन दिनों में 2,500 से ज्यादा यूनिट्स की डिलीवरी
  3. Teclast T50HD टैबलेट 11-इंच डिस्प्ले, 8000mAh बैटरी के साथ इस देश में हुआ लॉन्च, जानें कीमत
  4. Sony के प्लेस्टेशन 5 स्लिम, डुअलसेंस कंट्रोलर्स पर भारी डिस्काउंट
  5. Xiaomi लाई बच्चों की खास स्मार्टवॉच Mitu Watch S1, 8GB स्टोरेज, 8MP डुअल कैमरा से लैस, जानें कीमत
  6. स्मार्टफोन ब्रांड AI फीचर्स वाले मोबाइल पर कर रहे फोकस, रिसर्च में हुआ खुलासा
  7. KTC ने लॉन्च किया 32-इंच स्मार्ट Android डिस्प्ले, वीडियो कॉन्फ्रेंस के लिए इसमें है 8MP कैमरा
  8. Online Accounts Leaked : भारत में 3 महीनों में 1.71 करोड़ ऑनलाइन अकाउंट हैक
  9. क्रिप्टो मार्केट में प्रॉफिट, बिटकॉइन का प्राइस 71,700 डॉलर से ज्यादा
  10. Nothing ने लॉन्‍च किया ‘Phone 2a Special Edition’, 12GB रैम वाले फोन में 3 कलर, जानें प्राइस
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »