बिटकॉइन की बड़ी कामयाबी, पार की एक अरब ट्रांजैक्शंस

हाल ही में Benchmark Company के एनालिस्ट, Mark Plamer ने पूर्वानुमान दिया था कि बिटकॉइन का प्राइस अगले वर्ष के अंत तक 1,50,000 डॉलर तक जा सकता है

बिटकॉइन की बड़ी कामयाबी, पार की एक अरब ट्रांजैक्शंस

पहले बिटकॉइन ब्लॉक को 3 जनवरी, 2009 को माइन किया गया था

ख़ास बातें
  • बिटकॉइन का प्राइस लगभग 63,582 डॉलर का है
  • पिछले महीने बिटकॉइन का चौथा हाविंग इवेंट हुआ था
  • इसकी कुल सप्लाई 2.1 करोड़ टोकन्स पर सीमित की गई है
विज्ञापन
मार्केट वैल्यू के लिहाज से सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin ने अपनी एक अरब ट्रांजैक्शंस पूरी कर ली हैं। इस एसेट को 2009 में क्रिएट किया गया था। CoinMarketCap जैसे इंटरनेशनल एक्सचेंजों पर बिटकॉइन का प्राइस लगभग 63,582 डॉलर का है। बिटकॉइन का हाई प्राइस लगभग 73,790 डॉलर का है। 

बिटकॉइन ने 5 मई को ब्लॉक नंबर 8,42,241 पर एक अरब ट्रांजैक्शंस को पूरा किया था। Clark Moody के बिटकॉइन डैशबोर्ड के अनुसार, 7 मई को बिटकॉइन की कुल ट्रांजैक्शंस 1,000,701,505 थी। पहले बिटकॉइन ब्लॉक को 3 जनवरी, 2009 को माइन किया गया था। इसकी 5,603 दिन की मौजूदगी में बिटकॉइन नेटवर्क ने प्रति दिन औसत 1,78,475 ट्रांजैक्शंस को प्रोसेस किया है। इसमें लाइटनिंग नेटवर्क के जरिए प्रोसेस की गई ट्रांजैक्शंस शामिल नहीं हैं। लाइटनिंग नेटवर्क लेयर 2 बिटकॉइन प्रोटोकॉल है जो तेजी से ट्रांजैक्शंस को प्रोसेस करता है। 

पिछले महीने बिटकॉइन का चौथा हाविंग इवेंट हुआ था। इसके कुछ दिन बाद इसने एक दिन में 9,26,000 की सबसे अधिक ट्रांजैक्शंस दर्ज की थी। बिटकॉइन के क्रिएटर को Satoshi Nakamoto कहा जाता है। Satoshi ने 31 अक्टूबर, 2008 को पहला बिटकॉइन व्हाइटपेपर पब्लिश किया था और तब बिटकॉइन का प्राइस 0.0008 डॉलर का था। बिटकॉइन की मौजूदा मार्केट वैल्यू लगभग 1.25 लाख करोड़ डॉलर की है। इसकी कुल सप्लाई 2.1 करोड़ टोकन्स पर सीमित की गई है। इसमें से लगभग 19,695,050 टोकन्स सर्कुलेशन में हैं। 

हाल ही में Benchmark Company के एनालिस्ट,  Mark Plamer ने पूर्वानुमान दिया था कि बिटकॉइन का प्राइस अगले वर्ष के अंत तक 1,50,000 डॉलर तक जा सकता है। बहुत से देशों में क्रिप्टो सेगमेंट को रेगुलेट करने के उपाय किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में ब्रिटेन ने क्रिप्टो सेगमेंट का रेगुलेटेड मार्केट के साथ विलय करने का फैसला किया है। हालांकि, भारत में इस सेगमेंट को लेकर केंद्र सरकार का सख्त रवैया बरकरार है। वित्त मंत्री Nirmala Sitharaman ने कहा है कि देश में क्रिप्टोकरेंसीज को 'करेंसी' के तौर पर माना या देखा नहीं जाता। क्रिप्टो मार्केट में आई तेजी के बाद इस सेक्टर को लेकर सरकार के रवैये में बदलाव के प्रश्न पर, सीतारमण का कहना था, "सरकार का हमेशा से यह मानना रहा है कि क्रिप्टो को लेकर बनाए गए एसेट्स का ट्रेडिंग और कई अन्य चीजों के लिए एसेट्स के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। हमने इन्हें रेगुलेट नहीं किया है। ये करेंसीज नहीं हो सकते और यह केंद्र सरकार की पोजिशन है।" अमेरिका में बिटकॉइन स्पॉट ETF को सिक्योरिटीज रेगुलेटर की ओर से स्वीकृति मिलने के बाद क्रिप्टो मार्केट में काफी तेजी आई थी। 
 

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

राधिका पाराशर

राधिका पाराशर के पास Gadgets 360 में वरिष्ठ संवाददाता की पोस्ट है। ये ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. Google से मुकाबला! Meta AI भी हिंदी में आया, फेसबुक, इंस्‍टा, वॉट्सऐप यूजर्स कर पाएंगे इस्‍तेमाल
  2. BMW ने भारत में लॉन्च किया इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04, 14 लाख रुपये से ज्यादा का प्राइस
  3. Apple करेगी धमाका! 2026 तक पहला फोल्‍डेबल iPhone लॉन्‍च करने की तैयारी
  4. HMD Crest सीरीज भारत में होगी 25 जुलाई को लॉन्च, Amazon पर होगी उपलब्ध
  5. WhatsApp का तगड़ा फीचर! मोबाइल नंबर शेयर किए बिना कर पाएंगे चैट
  6. Thomson ने लॉन्‍च किए 6 नए लैपटॉप, सबसे सस्‍ता Rs 14,990 का, जानें डिटेल
  7. OTT Report 2024 : 6 महीनों में ओटीटी पर सबसे ज्‍यादा देखी गई यह वेब सीरीज, देखें पूरी लिस्‍ट
  8. Water on Moon : चीनी वैज्ञानिकों को बड़ी कामयाबी! चंद्रमा से लाए सैंपल में खोजा ‘पानी’
  9. Apple का पहला फोल्डेबल होगा iPhone Flip, यहां जानें सबकुछ
  10. Xiaomi 14T Pro के कैमरा डिटेल्स का खुलासा, 50MP प्राइमरी लेंस के साथ ग्लोबली देगा दस्तक
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »