TikTok की कमी दूर करेगा Zee5 का शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म HiPi

HiPi की एंट्री दिलचस्प समय पर हो रही है, जब भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स को भारत में बैन कर दिया है। ऐसे में जो लोग टिकटॉक के विकल्प की तालाश कर रहे थे, उनके लिए हाईपाई एक नया विकल्प हो सकता है।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
TikTok की कमी दूर करेगा Zee5 का शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म HiPi

रजिस्ट्रेशन के बाद ही कर सकते हैं HiPi का इस्तेमाल

ख़ास बातें
  • आत्मनिर्भर भारत के तहत बना है HiPi प्लेटफॉर्म
  • TikTok के विकल्प के तौर पर लोकप्रिय हो चुके हैं चिंगारी व मित्रों ऐप
  • 15 जुलाई से पहले लॉन्च होगा HiPi प्लेटफॉर्म
भारत में सोमवार को 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया गया, जिसमें सबसे ज्यादा चर्चित ऐप है TikTok। टिकटॉक के बैन होते ही भारतीय मार्केट में डेवलपर्स के लिए अवसर बढ़ गए हैं, हर कोई टिकटॉक की जगह अपना शॉर्ट वीडियो ऐप विकल्प पेश कर रहा है। Mitron व Chingari ऐप्स की सफलता के बाद अब Zee5 भी इस रेस में उतने की तैयारी कर रहा है। जी हां, Zee5 ने घोषणा की है कि वह जल्द ही भारत में शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म लॉन्च करने वाला है, जिसका नाम होगा HiPi । कंपनी का कहना है कि यह नया प्लेटफॉर्म 'आत्मनिर्भर भारत' के तहत बनाया गया है, जो भारतीय कॉन्टेंट क्रिएटर्स को भारतीय मंच प्रदान करेगा।
 

Zee5 का यह नया HiPi प्लेटफॉर्म 15 जुलाई से पहले लॉन्च किया जाएगा, जिसका एक्सेस Zee5 App प्रदान करेगा।

इस नए ऐप से संबंधित ज्यादा जानकारी साझा नहीं की गई है। हालांकि, साझा किए गए स्क्रीनशॉट से मालूम चलता है कि इस नए प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत पड़ेगी, जिसके बाद यूज़र्स वीडियो को देख सकेंगे और शेयर कर सकेंगे। इससे अंदाजा लगया जा सकता है कि ज़ी5 का यह नया प्लेटफॉर्म चीनी प्लेटफॉर्म से थोड़ा बहुत अलग होगा, चीनी ऐप में टिकटॉक यूज़र्स को अपलोडेड वीडियो देखने के लिए किसी भी तरह से रजिस्ट्रेशन व साइन-इन की जरूरत नहीं पड़ती थी। बिना अकाउंट क्रिएट किए भी टिकटॉक पर वीडियो देखा जा सकता था।

HiPi की एंट्री दिलचस्प समय पर हो रही है, जब भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स को भारत में बैन कर दिया है। ऐसे में जो लोग टिकटॉक के विकल्प की तालाश कर रहे थे, उनके लिए हाईपाई एक नया विकल्प हो सकता है। हालांकि, HiPi ही केवल एकमात्र प्लेटफॉर्म नहीं है जो भारत में टिकटॉक की कमी को पूरा कर सकता है, इस प्लेटफॉर्म से पहले भी कई ऐप्स हैं जो टिकटॉक के विकल्प के तौर पर काफी सफल साबित हो रहे हैं। जैसे Bolo Indya, Chingari, Mitron, और Roposo App।

Zee Entertainment Enterprises के ज़ी5 के पास पहले से ही 1.25 लाख घंटे का वीडियो डिमांड है, जिसमें 100 से ज्यादा लाइव टीवी चैनल्स मौजूद हैं। यह ऐप अब तक ओटीटी प्लेटफॉर्म जैसे Amazon Prime Video, Netflix, और SonyLIV जैसे ऐप्स के साथ कॉम्पिटिशन कर रहा था, लेकिन अब शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म पर एंट्री करके यूज़र्स को अपनी शॉर्ट वीडियो बनाने की इज़ाजत देने वाला है, जिसके बाद अब इस ऐप की टक्कर Facebook, Instagram और YouTube जैसे प्लेटफॉर्म से होगी।

हाल ही में ज़ी5 ने Jio Fiber, Airtel, और Vodafone Idea ग्राहकों के लिए ज़ी5 का फ्री एक्सेस प्रदान किया था। इसके अलावा ज़ी5 किड्स ने अपने प्लेटफॉर्म पर हाल ही में 4,000 से भी ज्यादा फ्री कॉन्टेंट बच्चों के लिए प्रदान किया था, जो 9 भाषाओं को सपोर्ट करता है।
 
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com