भारत में क्रिप्‍टो से कमाई पर 30% टैक्‍स, थाइलैंड वापस ले रहा ऐसा फैसला

15 फीसदी टैक्‍स को लेकर थाइलैंड के युवा भारी विरोध कर रहे हैं।

भारत में क्रिप्‍टो से कमाई पर 30% टैक्‍स, थाइलैंड वापस ले रहा ऐसा फैसला

थाइलैंड के क्रिप्टो मार्केट के सपोर्टर्स का दावा है कि हाई टैक्‍सेशन की वजह से मार्केट का दम घुट जाएगा।

ख़ास बातें
  • दुनियाभर के देश क्रिप्‍टो मार्केट को रेगुलेट करने के तरीके देख रहे हैं
  • इस लिस्‍ट में भारत सबसे नया देश है, जिसने टैक्‍स की घोषणा की है
  • हालांकि थाइलैंड जैसे देशों में युवा ऐसे कदमों का विरोध कर रहे हैं
विज्ञापन
संसद में मंगलवार को पेश किए गए केंद्रीय बजट में वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने डिजिटल असेट्स की सेल से होने वाले मुनाफे पर 30 फीसदी टैक्‍स लगाने की घोषणा की। क्रिप्टोकरेंसी भी इसमें शामिल है। दूसरी ओर, ऐसी खबरें हैं कि थाईलैंड क्रिप्टो मुनाफे पर 15 फीसदी टैक्‍स लगाने की योजना से पीछे हट रहा है। 15 फीसदी टैक्‍स को लेकर थाइलैंड के युवा भारी विरोध कर रहे हैं। थाइलैंड ने इस साल की शुरुआत में ट्रेडिंग और माइनिंग समेत असेट्स पर कैपिटल गेन टैक्‍स लगाने की योजना बनाई थी।

फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, देश के ट्रेडर्स द्वारा कड़ा विरोध जताए जाने के बाद थाईलैंड 15 फीसदी क्रिप्टोकरेंसी टैक्स लागू करने की अपनी शुरुआती योजना में आगे नहीं बढ़ेगा। वहां के क्रिप्टो मार्केट के सपोर्टर्स का दावा है कि हाई टैक्‍सेशन की वजह से मार्केट का दम घुट जाएगा। थाईलैंड के रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट ने मार्केट में अच्‍छी ग्रोथ देखने के बाद क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग पर निगरानी को मजबूत करने की योजना बनाई है।

थाईलैंड के रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट के नए नियमों के मुताबिक, ट्रेडर्स को उस साल हुए मुनाफे के मुकाबले अपने सालाना नुकसान की भरपाई की इजाजत दी जाएगी। क्रिप्टो एक्सचेंज Upbit के CEO और थाईलैंड डिजिटल एसेट ऑपरेटर्स ट्रेड एसोसिएशन के पीट पीराडेज तानरुंगपोर्न (Pete Peeradej Tanruangporn) ने कहा कि रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट ने कई होमवर्क किए और क्रिप्टो ऑपरेटरों की प्रतिक्रिया जानी। यह निवेशकों और उद्योग दोनों के लिए अनुकूल है।

बैंक ऑफ थाईलैंड समेत देश के सेबी और वित्त मंत्रालय ने पिछले हफ्ते डिजिटल करेंसी पेमेंट को बैन करने के लिए दिशानिर्देश जारी करने की योजना की घोषणा की थी।

दुनिया भर की सरकारें क्रिप्‍टोकरेंसी को रेगुलेट करने के एजेंडे के तहत टैक्‍सेशन, निवेशकों के हित और एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग जैसे पहलुओं को सर्वोच्च प्राथमिकता के रूप में देख रही हैं। डीसेंट्रलाइज्‍ड फाइनेंस (DeFi) और नॉन-फंजिबल टोकन्‍स (NFT) के एरिया में जबरदस्त ग्रोथ के कारण पिछले दो साल में असेट क्‍लास में काफी ग्रोथ  हुई है।

कई देश इस बात पर फोकस कर रहे हैं कि क्रिप्टो मार्केट पर टैक्‍स कैसे लगाया जाए। भारत असेट क्‍लास के लिए टैक्‍स की घोषणा करने वाला सबसे नया देश बन गया है। ऐसा लगता है कि भारत सरकार ने आम जनता को क्रिप्टो से हतोत्साहित करने का कोशिश का रास्‍ता चुना है। इसमें 30 फीसदी की दर से टैक्‍स लगाने की बात कही गई है, जो लॉटरी, गेम शो आदि पर लगने वाले टैक्‍स के बराबर है और बहुत अधिक है। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. BYD ने एक दिन में की Seal EV की 200 यूनिट्स की डिलीवरी
  2. Lava Yuva 5G इस सप्ताह होगा भारत में लॉन्च
  3. पाकिस्तानी हैकर्स इन मैसेजिंग ऐप्स के जरिए भारत सरकार और डिफेंस की वेबसाइटों को बना रहे हैं निशाना
  4. TCL ने लॉन्च किए 75-इंच साइज तक के कई नए स्मार्ट टेलीविजन मॉडल, कीमत Rs. 15,990 से शुरू
  5. ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA
  6. Xiaomi 14 Civi अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, ट्रिपल रियर कैमरा यूनिट
  7. Comet : पृथ्‍वी की ओर आ रहा धूमकेतु, बिना दूरबीन दिखाई देगा, कब पहुंचेगा? जानें
  8. Samsung Galaxy M35 5G फोन लॉन्‍च, इसमें है 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, 8जीबी रैम, जानें प्राइस
  9. क्रिप्टो मार्केट में तेजी, Bitcoin का प्राइस 72,000 डॉलर से ज्यादा
  10. Realme ने डुअल रियर कैमरा यूनिट के साथ लॉन्च किया Narzo N65 5G
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »