• होम
  • विज्ञान
  • ख़बरें
  • सूर्य से निकले तूफान से कुछ यूं बदल गया आसमान, आपको देखनी चाहिए यह तस्‍वीर

सूर्य से निकले तूफान से कुछ यूं बदल गया आसमान, आपको देखनी चाहिए यह तस्‍वीर

हाल के दिनों में सूर्य में ऐसी कई एक्टिविटीज देखी गई हैं। इसकी वजह सूर्य का 11 साल का चक्र है। इसने सूर्य को बहुत ज्‍यादा उत्‍तेजित कर दिया है।

सूर्य से निकले तूफान से कुछ यूं बदल गया आसमान, आपको देखनी चाहिए यह तस्‍वीर

स्कॉटलैंड, अल्बर्टा और मोंटाना में स्‍काईवॉचर्स ने शानदार ऑरोरा का नजारा देखा।

ख़ास बातें
  • सनस्पॉट AR3088 से हाल में कई सौर फ्लेयर निकले
  • इनका असर पृथ्‍वी तक देखा गया
  • कई देशों के आसमान में शानदार ऑरोरा दिखाई दिए
विज्ञापन
बीते शनिवार यानी 27 अगस्‍त से इस सोमवार (29 अगस्‍त) तक सूर्य में काफी गतिविधियां रिपोर्ट की गईं। स्‍पेस वेदर पर नजर रखने वाली एजेंसियों और साइंटिस्‍ट ने सूर्य से पावरफुल सौर फ्लेयर्स (solar flares) की एक सीरीज को आते हुए देखा। इन्‍हें M8 क्‍लास के फ्लेयर्स के रूप में कैटिगराइज किया गया, जिसका मतलब है कि ऐसे सौर फ्लेयर्स पृथ्‍वी को सीधे तौर पर तो कोई नुकसान नहीं पहुंचाते, लेकिन कई बार रेडियो ब्‍लैकआउट की वजह बनते हैं। इन फ्लेयर्स के साथ चलने वाले छोटे रेडिएशन तूफानों की वजह से अंतरिक्ष यात्री खतरे में आ सकते हैं।  

हाल के दिनों में सूर्य में ऐसी कई एक्टिविटीज देखी गई हैं। इसकी वजह सूर्य का 11 साल का चक्र है। इसने सूर्य को बहुत ज्‍यादा उत्‍तेजित कर दिया है। सूर्य में इन हलचलों का सिलसिला अभी जारी रहेगा और 2025 तक इसमें बढ़ोतरी दिखाई देगी। स्‍पेसडॉटकॉम की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को सूर्य में मौजूद सनस्पॉट AR3088 से सौर फ्लेयर निकला। इसकी वजह से 28 अगस्‍त से 29 अगस्त के बीच G1-क्‍लास के भू-चुंबकीय तूफानों के भड़कने की चेतावनी दी गई थी। इसी बीच 28 अगस्‍त को उसी सनस्‍पॉट से एक और सौर फ्लेयर बाहर निकला। यह भी एक M क्‍लास सौर फ्लेयर था, जिसके कारण नॉर्थ अमेरिका के ज्‍यादातर हिस्‍साे में रेडियो ब्‍लैकआउट हो गया। 
इसके बाद NOAA के स्पेस वेदर प्रेडिक्शन सेंटर ने सोमवार यानी 29 अगस्‍त के लिए एक भू-चुंबकीय तूफान की चेतावनी जारी की। ऐसे तूफानों से उपग्रह के संचालन, बिजली ग्रिड और जानवरों के प्रवास के पैटर्न पर मामूली असर पड़ सकता है। इन सौर गतिविधियों के कारण स्काईवॉचर्स को शानदार ऑरोरा देखने को मिले। सोशल मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार, स्कॉटलैंड, अल्बर्टा और मोंटाना में स्‍काईवॉचर्स ने शानदार ऑरोरा का नजारा देखा।

सौर फ्लेयर्स से पैदा होने वाले ज्‍यादातर भू-चुंबकीय तूफानों का पृथ्वी या स्‍पेसक्राफ्ट पर बहुत कम असर होता है। हालांकि कुछ पावरफुल तूफान बिजली के बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा सकते हैं या रेडियो कम्‍युनिकेशन को बाधित कर सकते हैं। इस साल सूर्य काफी एक्टिव रहा है। कई बड़े सौर फ्लेयर्स और कोरोनल मास इजेक्शन हमारे सैटेलाइट को प्रभावित कर रहे हैं और आश्चर्यजनक औरोरा बना रहे हैं।
 

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

प्रेम त्रिपाठी

प्रेम त्रिपाठी Gadgets 360 में चीफ सब एडिटर हैं। 10 साल प्रिंट मीडिया ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Oppo Reno 12 और Reno 12 Pro फोन 50MP कैमरा, 16GB रैम के साथ हुए लॉन्च, जानें कीमत
  2. हवा से जमीन पर वार करती है फ्रांस की ये खतरनाक ASMPA-R न्यूक्लियर मिसाइल, हुआ सफल टेस्ट
  3. OnePlus 12R को Flipkart पर भारी डिस्काउंट के साथ खरीदने का मौका
  4. Uber ने दिल्ली-एनसीआर में शुरू की शटल बस सर्विस, ऐप से पहले ही बुक कर सकते हैं सीट
  5. Redmi जल्द भारत में लॉन्च करेगी A3x, लीक हुआ डिजाइन
  6. DJI Mini 4K: फुल चार्ज में 31 मिनट उड़ सकता है 249 ग्राम वजनी कॉम्पेक्ट ड्रोन, इस कीमत में हुआ लॉन्च
  7. Vivo X Fold 3 Pro भारत में 5000mAh बैटरी, 100W चार्जिंग के साथ 6 जून को होगा लॉन्च
  8. Sony की PlayStation का नया प्लेटफॉर्म फ्री-टु-प्ले मोबाइल गेम्स लाने की तैयारी
  9. 50MP कैमरा, 5000mAh बैटरी के साथ POCO F6 भारत में लॉन्च, जानें कीमत और फीचर्स
  10. Honor 200 सीरीज का 5200mAh बैटरी, 100W चार्जिंग के साथ 12 जून को होगा ग्लोबल लॉन्च
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »