• होम
  • विज्ञान
  • ख़बरें
  • Alzheimer Treatment: नए विकल्पों से हो सकता है अल्जाइमर का इलाज! रिसर्च में जुटे शोधकर्ता

Alzheimer Treatment: नए विकल्पों से हो सकता है अल्जाइमर का इलाज! रिसर्च में जुटे शोधकर्ता

बीमारी पर नई दिशा में किए जा रहे शोध एक नई उम्मीद भी जगा रहे हैं। ग्लोबल डिमेंशिया अब इनोवेटिव सॉल्यूशन की मांग कर रहा है।

Alzheimer Treatment: नए विकल्पों से हो सकता है अल्जाइमर का इलाज! रिसर्च में जुटे शोधकर्ता

Photo Credit: iStock/TefiM

Alzheimer बीमारी दुनियाभर में चिंता का विषय है। इसके मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं।

ख़ास बातें
  • Alzheimer बिमारी दुनियाभर में चिंता का विषय है
  • लगभग 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग एक प्रकार के पागलपन (dementia) के शिकार हैं
  • यह संख्या 2030 तक दोगुनी के लगभग होने की बात कही गई है
विज्ञापन
Alzheimer बीमारी दुनियाभर में चिंता का विषय है। इसके मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। दुनियाभर में लगभग 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग एक प्रकार के पागलपन (dementia) के शिकार हैं, जिसमें से अल्जाइमर सबसे आम प्रकार है। Alzheimer Disease International के अनुसार, यह संख्या 2030 तक दोगुनी के लगभग होने की बात कही गई है जब यह आंकड़ा 7.8 करोड़ पर पहुंच जाएगा। और 2050 तक इन मरीजों की संख्या 13.9 करोड़ तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया है। इस बीमारी का बोझ कम आय वाले देशों में अधिक देखने को मिलता है। वर्तमान में डीमेंशिया (dementia) के लगभग 60 प्रतिशत केस ऐसे ही देशों में पाए जाते हैं। 2050 तक यह आंकड़ा 71% तक होने का अनुमान लगाया गया है। 

इस बीमारी के बारे में हाल ही में उठे कुछ विवाद वैज्ञानिकों को फिर से सोचने पर मजबूर कर रहे हैं। अभी तक जो थ्योरी चली आ रही थी उससे अलग हटकर सोचने की जरूरत महसूस हो रही है। बीटा-एमिलॉइड प्रोटीन को अल्जाइमर का कारण बताने से जुड़ी 2006 में आई एक स्टडी की जांच चल रही है। इससे Aducanumab के होने वाले असर पर भी संदेह पैदा होता है। यह एफडीए द्वारा प्रमाणित ऐसा ड्रग है जो beta-amyloid को टारगेट करता है। जो कि अल्जाइमर का कारण माना जाता है। अल्जाइमर का पक्का इलाज अभी तक नहीं मिला है, जबकि बीमारी लाखों लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। 

शोधकर्ता अब वैकल्पिक थ्योरी की ओर रुख कर रहे हैं। कुछ का कहना है कि यह बीमारी माइटोकॉन्ड्रिया की बिगड़ी कार्यप्रणाली के कारण होती है। माइटोकॉन्ड्रिया को कोशिका का पावर हाउस कहा जाता है। वहीं, कुछ शोधकर्ताओं का कहना है कि यह बैक्टीरिया या मेटल संबंधित कारण से पैदा होती है। बीमारी पर नई दिशा में किए जा रहे शोध एक नई उम्मीद भी जगा रहे हैं। ग्लोबल डाइमेंशिया अब इनोवेटिव सॉल्यूशन की मांग कर रहा है। रिपोर्ट कहती है कि हर 3 सेकेंड में एक नया केस सामने आ रहा है। इसलिए कारगर इलाज और सपोर्ट सिस्टम की जरूरत अब और ज्यादा बढ़ गई है। 

क्या होता है अल्जाइमर
अल्जाइमर की बीमारी दिमाग से जुड़ी है जिसमें व्यक्ति की याद्दाश्त कम होने लगती है, साथ ही दिमाग की मदद से अन्य जरूरी काम करने की क्षमता भी कम हो जाती है। कहा जाता है कि इसमें दिमाग की कोशिकाएं एक दूसरे से उलझ जाती हैं, और कमजोर हो जाती हैं। व्यक्ति चीजों को भूलने लगता है। मरीज को भ्रम पैदा होने लगता है। अभी तक इसका स्थायी इलाज नहीं ढूंढा जा सका है लेकिन दवाईयों के बल पर लक्षणों में सुधार लाया जा सकता है। यह सुधार अस्थायी होता है। 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

हेमन्त कुमार

हेमन्त कुमार Gadgets 360 में सीनियर सब-एडिटर हैं और विभिन्न प्रकार के ...और भी

संबंधित ख़बरें

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. क्‍या है एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल? सेना ने 17 हजार फीट की ऊंचाई पर किया ट्रायल
  2. Electric Scooter Price Hike: Bajaj, TVS, Ather और Hero Vida के ई-स्कूटर हुए महंगे, 15 अप्रैल से Ola भी बढ़ाएगा कीमत
  3. MI Vs CSK Live: मुंबई इंडियंस Vs चेन्नई सुपर किंग्स का IPL मैच कुछ देर में, देखें फ्री!
  4. Black Shark Ring सिंगल चार्ज में चलेगी 180 दिन! टीजर आउट
  5. WhatsApp में AI की एंट्री, मिलेगा हर सवाल का जवाब! ऐसे करें इस्तेमाल
  6. LSG Vs KKR Live: लखनऊ और कोलकाता के बीच IPL मैच कुछ ही देर में, यहां देखें फ्री!
  7. आ..छी..! बेबी तारों को भी आती है ‘छींक’, नई रिसर्च में वैज्ञानिकों ने किया दावा
  8. Poco F6 होगा रीब्रांडेड Redmi Turbo 3, भारत में सबसे पहले होगा लॉन्च! यहां हुआ खुलासा
  9. 84 दिनों तक 126GB डेटा, अनलिमिटिड 5G, कॉलिंग, Free Apps वाला Airtel का धांसू प्लान!
  10. 33 देशों में 30 हजार कर्मचारियों वाली यह कंपनी दे रही फुल टाइम वर्क फ्रॉम होम!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »