फिनटेक कंपनियों के खिलाफ नहीं RBI

इस महीने की शुरुआत में फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (FIU) ने PPBL पर पांच करोड़ रुपये से अधिक की पेनल्टी लगाई है। इसका कारण Paytm Payments Bank के एकाउंट्स के जरिए भेजी गई अवैध रकम की रिपोर्ट देने में हुए उल्लंघन हैं

फिनटेक कंपनियों के खिलाफ नहीं RBI

इस इंडस्ट्री को लेकर RBI की ओर से आश्वासन दिया गया है

ख़ास बातें
  • RBI ने Paytm Payments Bank के कामकाज पर रोक लगाई है
  • इससे फिनटेक इंडस्ट्री की आशंकाएं बढ़ गई थी
  • FIU ने PPBL पर पांच करोड़ रुपये से अधिक की पेनल्टी लगाई है
विज्ञापन
हाल ही में पेमेंट सर्विसेज कंपनी Paytm की बैंकिंग यूनिट को कम्प्लायंस के उल्लंघनों के कारण रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कामकाज बंद करने का आदेश दिया था। इससे फिनटेक इंडस्ट्री की आशंकाएं बढ़ गई थी। इस इंडस्ट्री को लेकर RBI की ओर से आश्वासन दिया गया है। 

RBI के गवर्नर, Shaktikanta Das ने कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक (PPBL) पर की गई कार्रवाई एक रेगुलेटेड एंटिटी के खिलाफ थी। उन्होंने बताया, "यह कार्रवाई एक रेगुलेटेड एंटिटी के खिलाफ की गई थी। यह किसी फिनटेक कंपनी के खिलाफ नहीं थी। मुझे यह समझ नहीं आता कि यह क्यों माना जा रहा है कि RBI ने एक फिनटेक कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की है। इस मामले में कार्रवाई पेमेंट्स बैंक के खिलाफ थी।" एक बिजनेस न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि PPBL के कस्टमर्स को अपने एकाउंट और वॉलेट को अन्य बैंकों में शिफ्ट करने के लिए 15 मार्च की समयसीमा पर्याप्त है। 

उन्होंने बताया, "अगर आपके पास पेमेंट पेमेंट का ऐप है तो इसे 15 मार्च तक किसी अन्य बैंक के साथ लिंक कर लें। अगर NPCI की ओर से पेटीएम को अनुमति देने का फैसला किया जाता है तो हमें कोई आपत्ति नहीं है। हमारी कार्रवाई बैंक के खिलाफ थी, ऐप के नहीं।" इस महीने की शुरुआत में फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (FIU) ने PPBL पर पांच करोड़ रुपये से अधिक की पेनल्टी लगाई है। इसका कारण Paytm Payments Bank के एकाउंट्स के जरिए भेजी गई अवैध रकम की रिपोर्ट देने में हुए उल्लंघन हैं। 

कुछ एंटिटीज के ऑनलाइन गैंबलिंग सहित अवैध गतिविधियों में शामिल होने और इससे मिलने वाली रकम को बैंक के जरिए भेजने को लेकर कानून प्रवर्तन एजेंसियों से सूचना मिलने के बाद फाइनेंस मिनिस्ट्री के तहत आने वाली FIU ने Paytm Payments Bank की जांच शुरू की थी। इस बारे में फाइनेंस मिनिस्ट्री ने एक स्टेटमेंट में बताया था,  "अवैध गतिविधियों से मिली रकम को इन एंटिटीज ने Paytm Payments Bank में अपने एकाउंट्स के जरिए भेजा था।" FIU के ऑर्डर में कहा गया था कि संदिग्ध ट्रांजैक्शंस के बारे में Paytm Payments Bank ने रिपोर्ट नहीं दी थी और इन एकाउंट्स का ड्यू डिलिजेंस नहीं किया गया था। इससे पहले पेटीएम ने बताया था कि उसे एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट सहित अथॉरिटीज से जानकारी और स्पष्टीकरण देने के लिए नोटिस दिए गए हैं। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Segway Ninebot C2 Lite: 14 Km रेंज देने वाले इस ई-स्कूटर खास बच्चों के लिए किया गया है डिजाइन, जानें कीमत
  2. Realme Narzo N65 5G vs Realme Narzo N55: जानें दोनों में क्या है अंतर
  3. WhatsApp New Feature: व्हाट्सएप पर लगा सकेंगे 1 मिनट लंबा वॉयस स्टेटस अपडेट
  4. Realme GT 6 में हो सकते हैं GenAI फीचर्स, लीक हुआ रिटेल बॉक्स
  5. Vivo S19, S19 Pro में होगा 50 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा, 30 मई को लॉन्च
  6. Moto G85 में होगा कर्व्‍ड डिस्‍प्‍ले! 8GB रैम के साथ जल्‍द हो सकता है लॉन्‍च
  7. OnePlus Ace 3 Pro के डिजाइन का खुलासा! 6100mAh बैटरी के साथ 3 फ‍िनिश में होगा लॉन्‍च
  8. Huawei Enjoy 70s Launched : मार्केट में आया नया हुवावे फोन, 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, जानें प्राइस
  9. Motorola Razr 50 Ultra 3C आया 3C सर्टिफिकेशन पर नजर, बैटरी और चार्जिंग स्पीड का खुलासा
  10. Vi Guarantee Program: 365 दिन में 130GB डाटा फ्री दे रही है वोडाफोन आइडिया, ऐसे करें क्लेम
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »