• होम
  • इंटरनेट
  • ख़बरें
  • कार टेस्टिंग का हब बन सकता है भारत, केंद्र सरकार ने हटाई 252 प्रतिशत कस्टम्स ड्यूटी

कार टेस्टिंग का हब बन सकता है भारत, केंद्र सरकार ने हटाई 252 प्रतिशत कस्टम्स ड्यूटी

देश के कुल GDP में ऑटोमोबाइल सेक्टर की हिस्सेदारी 7.1 प्रतिशत और मैन्युफैक्चरिंग GDP में लगभग 49 प्रतिशत की है

कार टेस्टिंग का हब बन सकता है भारत, केंद्र सरकार ने हटाई 252 प्रतिशत कस्टम्स ड्यूटी

दुनिया में केवल पांच देशों में इंटरनेशनल स्टैंडर्ड्स की कार सेफ्टी टेस्ट सुविधाएं हैं

ख़ास बातें
  • कार टेस्टिंग के ग्लोबल बिजनेस में भारत की स्थिति मजबूत होने सकती है
  • देश के कुल GDP में ऑटोमोबाइल सेक्टर की हिस्सेदारी 7.1 प्रतिशत की है
  • इस सेक्टर में 2021 के अंत तक लगभग 3.7 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है
विज्ञापन
भारत जल्द ही कार टेस्टिंग का हब बन सकता है। केंद्र सरकार ने देश में क्रैश टेस्टिंग के लिए इम्पोर्ट किए जाने वाले व्हीकल्स पर 252 प्रतिशत की कस्टम्स ड्यूटी हटा दी है। इससे कार टेस्टिंग के ग्लोबल बिजनेस में भारत की स्थिति मजबूत होने की संभावना है। इससे पहले किसी विदेश कार मैन्युफैक्चरर को भारत में इंटरनेशनल स्टैंडर्ड्स के अनुसार सेफ्टी टेस्टिंग के लिए अपने व्हीकल को भेजने पर 252 प्रतिशत की कस्टम्स ड्यूटी चुकानी पड़ती थी। 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में कार टेस्टिंग पर कस्टम्स ड्यूटी को एक अप्रैल से शून्य करने की घोषणा की थी। भारी उद्योग मंत्री महेन्द्र नाथ पांडे ने बताया, "टेस्टिंग के लिए व्हीकल्स के इम्पोर्ट पर कस्टम्स ड्यूटी बहुत अधिक थी। यह व्हीकल की डिक्लेयर्ड वैल्यू पर 252 प्रतिशत की थी। इसमें बेसिक इम्पोर्ट ड्यूटी, फ्रेट और इंश्योरेंस चार्ज शामिल थे। इससे कार टेस्टिंग एजेंसियों के लिए विदेशी कंपनियों से इस बिजनेस में प्रतिस्पर्धा करना मुश्किल हो जाता था।" उन्होंने कहा कि दुनिया में केवल पांच देशों में इंटरनेशनल स्टैंडर्ड्स की कार सेफ्टी टेस्ट सुविधाएं हैं। भारत अब जर्मनी, जापान, चीन, ताइवान और ब्रिटेन के साथ ग्लोबल कार टेस्टिंग सेंटर बन गया है। 

ग्लोबल कार सेफ्टी टेस्टिंग में भारत के लिए अवसर बढ़ गए हैं। दक्षिण कोरिया, ईरान और मलेशिया जैसे बहुत से देशों ने कार टेस्टिंग में दिलचस्पी दिखाई है। देश के कुल GDP में ऑटोमोबाइल सेक्टर की हिस्सेदारी 7.1 प्रतिशत और मैन्युफैक्चरिंग GDP में लगभग 49 प्रतिशत की है। इस सेक्टर में 2021 के अंत तक लगभग 3.7 करोड़ लोगों को डायरेक्ट और इनडायरेक्ट रोजगार मिला था। EV सेगमेंट में टाटा मोटर्स सबसे बड़ी कंपनी है। पिछले वर्ष के अंत में Tata Motors ने 50,000 इलेक्ट्रिक कारों की डिलीवरी की उपलब्धि हासिल की थी। 

देश में EV की बिक्री तेजी से बढ़ रही है। कार्बन इमिशन को कम करने और फ्यूल के इम्पोर्ट को घटाने के लिए केंद्र सरकार ने EV को बढ़ावा देने के उपाय किए हैं। बहुत सी राज्य सरकारें भी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की खरीदारी पर लोगों को सब्सिडी दे रही हैं। हाल ही में पेश किए गए इकोनॉमिक सर्वे में बताया गया थआ कि ग्रीन एनर्जी की ओर बढ़ने में ऑटोमोटिव इंडस्ट्री एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। देश का EV मार्केट 2022 से 2030 के बीच लगभग 49 प्रतिशत के कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) से बढ़ने का अनुमान है। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Paytm Payments Bank पर फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट ने लगाई भारी पेनल्टी
  2. 11,811 फीट गहरा गड्ढा बर्फ में क्यों खोदने जा रहा चीन!
  3. Google ने भारत के ये 10 ऐप्स प्ले स्टोर से हटाए! जानें वजह
  4. सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग के लिए भारत का बड़ा प्लान, IT मंत्री ने बताया ब्लू प्रिंट
  5. Infinix Note 40 Pro लॉन्च होगा 12GB रैम, 5000mAh बैटरी, Helio G99 चिपसेट के साथ! यहां आया नजर
  6. Lava Blaze Curve 5G भारत में 8GB रैम, 120Hz कर्व्ड डिस्प्ले के साथ 5 मार्च को होगा लॉन्च, जानें सबकुछ
  7. Shiba Inu यूजर्स की टेंशन होगी खत्म! तैयार की जा रही है नई सिक्योरिटी लेयर
  8. Oppo Watch X स्मार्टवॉच में मिलती 12 दिन की बैटरी लाइफ और 2GB रैम, इस कीमत में हुई लॉन्च
  9. Motorola के इस फोन को हाथ में लपेट सकते हैं, मोड़कर स्टैंड बना सकते हैं, MWC में दिखा जलवा!
  10. Play Store की फीस न चुकाने पर 10 भारतीय ऐप डिवेलपर्स के खिलाफ एक्शन लेगी Google
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »