• होम
  • cryptocurrency
  • ख़बरें
  • Cryptocurrency Bill : क्रिप्‍टो में निवेश करने वालों को जेल, जमानत भी नहीं मिलेगी!

Cryptocurrency Bill : क्रिप्‍टो में निवेश करने वालों को जेल, जमानत भी नहीं मिलेगी!

मामले की सीधी जानकारी रखने वाला सोर्स मीडिया से बात करने के लिए अधिकृत नहीं है और उन्‍होंने अपनी पहचान जाहिर करने से भी मना कर दिया।

Cryptocurrency Bill : क्रिप्‍टो में निवेश करने वालों को जेल, जमानत भी नहीं मिलेगी!

इंडस्‍ट्री का अनुमान है कि देश में लगभग 15 मिलियन से 20 मिलियन क्रिप्टो इन्‍वेस्‍टर हैं। इनके पास लगभग 45 हजार करोड़ रुपये की क्रिप्टो होल्डिंग्स हैं।

ख़ास बातें
  • एक सोर्स और रॉयटर्स द्वारा देखे गए बिल के सारांश से तथ्‍य सामने आए हैं
  • वह सोर्स मीडिया से बात नहीं कर सकता था, उसने अपनी पहचान भी नहीं बताई
  • सेल्‍फ-कस्टोडियल वॉलेट पर भी प्रतिबंध लगाया जा सकता है
देश में प्राइवेट क्रिप्‍टोकरेंसीज को लेकर केंद्र सरकार का रुख सख्‍त दिखाई दे रहा है। डिजिटल करेंसीज को लेकर केंद्र सरकार ने एक बिल तैयार किया है, जिससे जुड़े कुछ नए तथ्‍य रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में सामने रखे हैं। एक सोर्स और रॉयटर्स द्वारा देखे गए बिल के सारांश के अनुसार, देश में क्रिप्टोकरेंसी के इस्‍तेमाल पर बैन लगाने वाला प्रस्‍तावित कानून इसका उल्‍लंघन करने वालों पर भी कार्रवाई कर सकता है। कानून का उल्‍लंघन करने वालों की बिना वॉरंट गिरफ्तारी हो सकती है और उन्‍हें जमानत भी नहीं मिलेगी।  

नरेंद्र मोदी सरकार पहले ही यह इशारा कर चुकी है कि वह ज्‍यादातर क्रिप्टोकरेंसीज पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रही है। सरकार का यह कदम चीन की ओर से अपनाए गए उपायों को फॉलो करता है। चीन ने सितंबर से क्रिप्टोकरेंसीज पर अपनी कार्रवाई तेज कर दी है।

बिल के सारांश के अनुसार, भारत सरकार किसी भी व्यक्ति द्वारा डिजिटल करेंसी को ‘विनिमय का माध्यम' (medium of exchange), मूल्य का भंडार (store of value) और खाते की इकाई (a unit of account)' के तौर पर माइनिंग, जेनरेटिंग, होल्डिंग, सेलिंग (अथवा) डीलिंग जैसी सभी गतिविधियों को सामान्यत: प्रतिबंधित करने की योजना बना रही है।

इनमें से किसी भी नियम का उल्लंघन करना ‘संज्ञेय' होगा, जिसका मतलब है कि बिना वॉरंट के गिरफ्तारी संभव है, और ‘गैर जमानती' है।

मामले की सीधी जानकारी रखने वाला सोर्स मीडिया से बात करने के लिए अधिकृत नहीं है और उन्‍होंने अपनी पहचान जाहिर करने से भी मना कर दिया। वहीं, वित्त मंत्रालय ने इस मामले में टिप्पणी के लिए भेजे गए ई-मेल का जवाब नहीं दिया।

हालांकि सरकार कह चुकी है कि उसका मकसद ब्लॉकचेन तकनीक को बढ़ावा देना है, पर वकीलों का कहना है कि प्रस्तावित कानून भारत में नॉन-फंजिबल टोकन मार्केट के लिए भी एक झटका होगा।

लॉ फर्म Ikigai Law के फाउंडर अनिरुद्ध रस्तोगी ने कहा, ‘अगर किसी भी पेमेंट की अनुमति नहीं है और ट्रांजैक्‍शन फीस के लिए कोई अपवाद नहीं बनाया गया है, तो यह ब्लॉकचेन के डिवेलपमेंट और NFT को भी रोक देगा।'

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग पर नकेल कसने की सरकार की योजना के कारण कई इन्‍वेस्‍टर्स नुकसान के साथ मार्केट से बाहर निकल गए हैं।

बड़ी संख्‍या में एडवर्टाइजिंग और क्रिप्टोकरेंसी की बढ़ती कीमतों से आकर्षित होकर भारत में क्रिप्टो इन्‍वेस्‍टर्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

हालांकि इसका कोई आधिकारिक डेटा उपलब्ध नहीं है, पर इंडस्‍ट्री का अनुमान है कि देश में लगभग 15 मिलियन से 20 मिलियन क्रिप्टो इन्‍वेस्‍टर हैं। इनके पास लगभग 45 हजार करोड़ रुपये की क्रिप्टो होल्डिंग्स हैं।

सोर्स का यह भी कहना है कि सेल्‍फ-कस्टोडियल वॉलेट पर भी प्रतिबंध लगाया जा सकता है। सेल्‍फ-कस्टोडियल वॉलेट की मदद से इन्‍वेस्‍टर, क्रिप्‍टो एक्सचेंजों के बाहर डिजिटल करेंसीज को स्टोर कर सकते हैं। 

बिल के मसौदे के सारांश में कहा गया है कि रिजर्व बैंक की चिंताओं के बाद डिजिटल करेंसीज को लेकर सख्त नियम बने हैं। इनका उद्देश्य पारंपरिक फाइनैंशल सेक्‍टर को क्रिप्टोकरेंसी से बचाने के लिए सुरक्षा उपाय देना है। 

मसौदे के सारांश में यह भी कहा गया है कि सिक्‍योरिटीज एंड एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया यानी SEBI क्रिप्टो असेट्स के लिए रेग्‍युलेटर होगा। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. Cryptocurrency पर बोले PM मोदी- सभी देशों को एक सोच रखनी होगी
  2. अमेरिकी एयरलाइंस की चेतावनी, 5G शुरू होते ही कैंसल करनी पड़ सकती हैं हजारों फ्लाइट्स
  3. अरबपति Mark Cuban का 80 प्रतिशत नया निवेश क्रिप्टोकरेंसी में, जानें किस क्रिप्टो में निवेश
  4. Crypto से ‘कमाई’ के चक्‍कर में स्‍कैम वेबसाइटों पर पहुंच रहे भारतीय निवेशक
  5. अपना CIBIL Score इन स्टेप्स के द्वारा फ्री में करें ऑनलाइन चेक, जानें कैसे?
  6. 12GB रैम, 80W फास्ट चार्जिंग और 120Hz डिस्प्ले के साथ OnePlus 10 Pro लॉन्च, जानें प्राइस...
  7. अगले हफ्ते Realme, Xiaomi, Moto और Tecno के लॉन्च होंगे ये 4 फोन
  8. Elon Musk के इस हताशा भरे ट्वीट के बाद तीन भारतीय राज्यों ने दिया Tesla को ऑफर
  9. 1 साल तक Disney+ Hotstar सब्सक्रिप्शन और डेली 2GB डाटा देता है Jio का ये प्लान, कीमत 500 रुपये से भी कम
  10. Bitcoin पेमेंट में 27% की गिरावट, Ether, Litecoin और Dash का इस्‍तेमाल बढ़ा
#ताज़ा ख़बरें
  1. अब NFT क्षेत्र में आएगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से बने आर्ट का दौर, करोड़ों में बिक रहे हैं आर्टवर्क
  2. OnePlus Y1S TV सीरीज जल्‍द इंडिया में होगी लॉन्‍च, होंगे ये खास फीचर!
  3. NFT मार्केटप्लेस OpenSea ने बनाया रिकॉर्ड, 3.5 अरब डॉलर के पार हुई मंथली सेल्स
  4. Bitcoin, Ehter, Dogecoin की कीमतों में आज भी गिरावट जारी, लेकिन इस क्रिप्टो में आया जबरदस्त उछाल
  5. 14 इंच डिस्प्ले और 50Wh बैटरी के साथ Infinix InBook X2 लॉन्च, जानें प्राइस
  6. Benco ने लॉन्च किया बिना कैमरा और GPS वाला स्मार्टफोन
  7. Cryptocurrency पर बोले PM मोदी- सभी देशों को एक सोच रखनी होगी
  8. Samsung Galaxy S22 Plus के रेंडर्स और स्पेसिफिकेशन लीक, Galaxy Tab S8 सीरीज़ के स्पेसिफिकेशन भी आए सामने
  9. केंद्र सरकार की 2.4 अरब डॉलर की बैटरी स्कीम में रिलायंस, ओला और महिंद्रा की दिलचस्पी
  10. इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स ने बनाई इलेक्ट्रिक क्रूज़र बाइक, 350 km रेंज और 120 kmph की टॉप स्पीड!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2022. All rights reserved.
गैजेट्स 360 स्टाफ को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी
 
 
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com