क्रिप्टो मार्केट में वोलैटिलिटी, बिटकॉइन और Ether के प्राइस में कमी 

क्रिप्टो का ग्लोबल मार्केट कैपिटलाइजेशन पिछले एक दिन में लगभग 0.62 प्रतिशत गिरा है। ज्यादातर ऑल्टकॉइन्स के प्राइस में कमी हुई है

क्रिप्टो मार्केट में वोलैटिलिटी, बिटकॉइन और Ether के प्राइस में कमी 

पिछले वर्ष नवंबर में बिटकॉइन ने 67,000 डॉलर से अधिक का हाई बनाया था

ख़ास बातें
  • Ether के प्राइस में लगभग एक प्रतिशत की गिरावट रही
  • पिछले वर्ष महीनों में बिटकॉइन काफी टूटा है
  • कुछ देशों में रेगुलेटर्स ने क्रिप्टोकरेंसीज के खिलाफ चेतावनी दी है
विज्ञापन
सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin के प्राइस पर बुधवार को क्रिप्टो मार्केट में वोलैटिलिटी का असर पड़ा। बिटकॉइन का प्राइस 0.42 प्रतिशत घटकर 19,026 डॉलर पर था। मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से इस सबसे अधिक वैल्यू वाली क्रिप्टोकरेंसी का इंटरनेशनल  एक्सचेंजों पर भी प्राइस गिरा है। 

Binance और CoinMarketCap पर बिटकॉइन लगभग 0.40 प्रतिशत घटकर लगभग 19,043 डॉलर पर था। दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी Ether में भी लगभग एक प्रतिशत की गिरावट हुई। Gadgets 360 के क्रिप्टो प्राइस ट्रैकर के अनुसार, Ether का प्राइस लगभग 1,278 डॉलर पर था। Ethereum ब्लॉकचेन के एनर्जी एफिशिएंट 'Merge' अपग्रेड को 15 सितंबर को शुरू किया गया था। इससे ट्रांजैक्शंस में तेजी आने और एनर्जी की खपत बहुत कम होने की संभावना है। इस अपग्रेड में Ethereum के डिवेलपर्स इसके माइनिंग प्रोटोकॉल की प्रूफ-ऑफ-वर्क (PoW) सिस्टम से प्रूफ-ऑफ-स्टेक (PoS) पर दोबारा कोडिंग कर रहे हैं। इससे Ethereum की एनर्जी की खपत बहुत कम होने की संभावना है। इस ब्लॉकचेन पर 100 अरब डॉलर से अधिक के डीसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस (DeFi) ऐप्स को सपोर्ट मिलता है और इस वजह से अपग्रेड को लेकर सतर्कता बरती गई है। अपग्रेड से stETH कहे जाने वाले क्रिप्टो डेरिवेटिव टोकन के इनवेस्टर्स को भी राहत मिल सकती है। 

क्रिप्टो का ग्लोबल मार्केट कैपिटलाइजेशन पिछले एक दिन में लगभग 0.62 प्रतिशत गिरा है। ज्यादातर ऑल्टकॉइन्स के प्राइस में कमी हुई है। इनमें Cardano, Solana, Polygon और Tron शामिल थे। मीम कॉइन्स Dogecoin और Shiba Inu में भी गिरावट रही। हालांकि, Tether, USD Coin, Binance Coin, Stellar, Monero और Elrond के प्राइस में तेजी आई। 

पिछले वर्ष नवंबर में बिटकॉइन ने 67,000 डॉलर से अधिक का हाई बनाया था। इसके बाद से इसमें काफी गिरावट आई है। इसका प्राइस गिरने से इनवेस्टर्स के साथ ही इस सेगमेंट से जुड़ी फर्मों को भी बड़ा नुकसान हुआ है। बहुत से देशों में रेगुलेटर्स ने भी क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर इनवेस्टर्स को चेतावनी दी है। इससे भी मार्केट पर प्रेशर बढ़ा है। चीन ने पिछले वर्ष क्रिप्टो से जुड़ी ट्रांजैक्शंस के साथ ही बिटकॉइन की माइनिंग पर भी पाबंदी लगा दी थी। अमेरिका सहित कुछ देशों में बिटकॉइन माइनिंग में इलेक्ट्रिसिटी की अधिक खपत का विरोध किया जा रहा है। ईरान ने हाल ही में क्रिप्टो माइनिंग के कारण इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई में रुकावट आने के बाद कड़े नियम लागू किए थे।  

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

राधिका पाराशर

राधिका पाराशर के पास Gadgets 360 में वरिष्ठ संवाददाता की पोस्ट है। ये ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. अमेरिकी चुनाव में बाइडन के हटने से झूमा बिटकॉइन, प्राइस 68,000 डॉलर से पार
  2. Pixel 9 Pro XL स्‍मार्टफोन में होगी 16GB रैम, लेकिन स्‍टोरेज करेगा निराश!
  3. Realme Watch S2 सिंगल चार्ज में चलेगी 20 दिन! 110 स्‍पोर्ट्स मोड के साथ लॉन्चिंग जल्‍द
  4. Redmi ने 5,500mAh की बैटरी के साथ लॉन्च किया K70 Extreme Edition
  5. Google Pixel 9 में Apple जैसी 2 साल की सैटेलाइट SOS सर्विस मिलेगी फ्री
  6. Xiaomi के ‘सस्‍ते’ टैबलेट Redmi Pad SE 8.7 के फीचर्स लीक, 29 जुलाई को लॉन्चिंग!
  7. Xiaomi Watch S4 Sport, Mi Band 9 और Xiaomi Buds 5 लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशंस
  8. Xiaomi का फोल्‍डेबल स्‍मार्टफोन Mix Fold 4 लॉन्‍च, 6 कैमरे, 5100mAh बैटरी समेत कई खूबियां, जानें प्राइस
  9. Flipkart GOAT Sale: 20 हजार में आने वाले स्मार्टफोन पर बंपर डिस्काउंट
  10. बुध ग्रह में मिला हीरे का भंडार! 485km नीचे 15km मोटी परत, लेकिन निकालना ‘नामुमकिन’
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »