Paytm में हुई वर्कर्स की छंटनी, कंपनी की बैंकिंग यूनिट पर RBI के बैन का असर

इस वर्ष की शुरुआत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने Paytm की बैंकिंग यूनिट को बंद करने का ऑर्डर दिया था। इसके बाद से कंपनी को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है

Paytm में हुई वर्कर्स की छंटनी, कंपनी की बैंकिंग यूनिट पर RBI के बैन का असर

पिछले कुछ महीनों में पेटीएम के शेयर प्राइस में भारी गिरावट हुई है

ख़ास बातें
  • RBI ने Paytm की बैंकिंग यूनिट को बंद करने का ऑर्डर दिया था
  • इसके बाद से कंपनी को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है
  • मार्च तिमाही में पेटीएम का लॉस बढ़कर लगभग 550 करोड़ रुपये का था
विज्ञापन
पेमेंट सर्विसेज से जुड़ी Paytm की कंपनी One97 Communications से वर्कर्स की छंटनी की गई है। इस वर्ष की शुरुआत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने Paytm की बैंकिंग यूनिट को बंद करने का ऑर्डर दिया था। इसके बाद से कंपनी को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। पेटीएम के शेयर प्राइस में भी भारी गिरावट हुई है। 

One97 Communications ने एक स्टेटमेंट में बताया है कि पेटीएम की सेल्स डिविजन में लगभग 3,500 वर्कर्स की संख्या घटी है। इसका बड़ा कारण Paytm Payments Bank (PPBL) की सर्विसेज पर RBI की ओर से लगाया गया बैन है। कंपनी की रिस्ट्रक्चरिंग की कोशिशों के हिस्से के तौर पर इस्तीफा देने वाले वर्कर्स को अन्य कंपनियों में प्लेसमेंट के लिए मदद की जा रही है। इसके अलावा वर्कर्स के बकाया बोनस का भी भुगतान किया जाएगा। जनवरी से मार्च के दौरान पेटीएम का लॉस बढ़कर लगभग 550 करोड़ रुपये का था। पिछले वर्ष की समान अवधि में यह 167 करोड़ रुपये से कुछ अधिक था। 

पिछले महीने Paytm की यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) ट्रांजैक्शंस में हिस्सेदारी लगातार चौथे महीने घटी है। मई में पेटीएम की कुल UPI ट्रांजैक्शंस में हिस्सेदारी घटकर 8.1 प्रतिशत की रह गई। PPBL पर पेटीएम का कंट्रोल नहीं है। हालांकि, इसमें कंपनी के फाउंडर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर, Vijay Shekhar Sharma की हिस्सेदारी है। कंपनी ने बताया है कि वह अपने नॉन-कोर एसेट्स में कटौती करेगी। पिछले फाइनेंशियल ईयर की चौथी तिमाही में Paytm को चलाने वाली  One 97 Communications के  रेवेन्यू में लिस्टिंग के बाद से पहली बार 2.6 प्रतिशत की गिरावट हुई है। कंपनी का रेवेन्यू लगभग 22.7 अरब डॉलर का था। 

मई में UPI ट्रांजैक्शंस ने रिकॉर्ड बनाया है। पिछले महीने 14.04 अरब UPI ट्रांजैक्शंस हुई जिनकी वैल्यू लगभग 20.45 लाख करोड़ डॉलर की थी। यह वॉल्यूम के लिहाज से अप्रैल की तुलना में छह प्रतिशत और वैल्यू में लगभग चार प्रतिशत की बढ़ोतरी है। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के डेटा के अनुसार, पिछले वर्ष के इसी महीने की तुलना में यह वॉल्यूम के लिहाज से लगभग 49 प्रतिशत और वैल्यू में 39 प्रतिशत की ग्रोथ है। UPI की शुरुआत से डिजिटल पेमेंट्स में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। इससे यूजर्स अपने स्मार्टफोन्स से पेमेंट्स को आसानी से ट्रांसफर कर सकते हैं। 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

आकाश आनंद

Gadgets 360 में आकाश आनंद डिप्टी न्यूज एडिटर हैं। उनके पास प्रमुख ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. Google से मुकाबला! Meta AI भी हिंदी में आया, फेसबुक, इंस्‍टा, वॉट्सऐप यूजर्स कर पाएंगे इस्‍तेमाल
  2. BMW ने भारत में लॉन्च किया इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04, 14 लाख रुपये से ज्यादा का प्राइस
  3. Apple करेगी धमाका! 2026 तक पहला फोल्‍डेबल iPhone लॉन्‍च करने की तैयारी
  4. HMD Crest सीरीज भारत में होगी 25 जुलाई को लॉन्च, Amazon पर होगी उपलब्ध
  5. WhatsApp का तगड़ा फीचर! मोबाइल नंबर शेयर किए बिना कर पाएंगे चैट
  6. Thomson ने लॉन्‍च किए 6 नए लैपटॉप, सबसे सस्‍ता Rs 14,990 का, जानें डिटेल
  7. OTT Report 2024 : 6 महीनों में ओटीटी पर सबसे ज्‍यादा देखी गई यह वेब सीरीज, देखें पूरी लिस्‍ट
  8. Water on Moon : चीनी वैज्ञानिकों को बड़ी कामयाबी! चंद्रमा से लाए सैंपल में खोजा ‘पानी’
  9. Apple का पहला फोल्डेबल होगा iPhone Flip, यहां जानें सबकुछ
  10. Xiaomi 14T Pro के कैमरा डिटेल्स का खुलासा, 50MP प्राइमरी लेंस के साथ ग्लोबली देगा दस्तक
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »