क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े अपराध 2022 में कम होने के आसार, जानें क्या कहा इस रिसर्च फर्म ने

Chainalysis द्वारा ट्रैक की गई सभी क्रिप्टोकरेंसी में कुल लेनदेन की मात्रा 2021 में बढ़कर 15.8 ट्रिलियन डॉलर (लगभग 11,71,09,600 करोड़ रुपये) हो गई, जो 2020 के कुल लेनदेन से 567 प्रतिशत ज्यादा है।

क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े अपराध 2022 में कम होने के आसार, जानें क्या कहा इस रिसर्च फर्म ने

कानून से जुड़ी एजेंसियों ने अपराधियों द्वारा क्रिप्टोकरेंसी के शोषण को रोकने के प्रयासों को तेज कर दिया है

ख़ास बातें
  • 2021 में क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े सबसे ज्यादा अपराध हुए
  • 2021 में अवैध एड्रेस के जरिए लगभग 103,768 करोड़ रुपये प्राप्त हुए
  • क्रिप्टो के कुल लेनदेन की मात्रा 2021 में बढ़कर 15.8 ट्रिलियन डॉलर हुई
विज्ञापन
साल 2021 में क्रिप्टोकरेंसी का दुनियाभर में जबरदस्त विस्तार देखा गया, लेकिन साथ ही क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े अपराधों के कई मामले भी सामने आए, जिन्होंने इस मार्केट की आलोचनाओं को न्योता दिया। अब, एक नई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि क्रिप्टोकरेंसी का आपराधिक उपयोग अब धीरे-धीरे कम हो जाएगा, क्योंकि इसे समय के साथ कई देशों में अपनाया जा रहा है और सरकारें ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को मजबूत बनाने की कोशिश कर रही है। ब्लॉकचेन वो टेक्नोलॉजी है, जिसपर क्रिप्टोकरेंसी आधारित है। Chainalysis ने अपने अध्ययन में पाया कि क्रिप्टोकरेंसी के वैध इस्तेमाल में बढ़ोतरी इसके आपराधिक इस्तेमाल से काफी ज्यादा है।

2021 में क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े सबसे ज्यादा अपराध हुए, जिसमें पूरे एक साल में अवैध एड्रेस के जरिए 14 अरब डॉलर (लगभग 103,768 करोड़ रुपये) प्राप्त हुए। ये आंकड़ा 2020 में $7.8 अरब डॉलर (लगभग 57,813 करोड़ रुपये) से काफी अधिक है।

रिपोर्ट कहती है कि “Chainalysis द्वारा ट्रैक की गई सभी क्रिप्टोकरेंसी में कुल लेनदेन की मात्रा 2021 में बढ़कर 15.8 ट्रिलियन डॉलर (लगभग 11,71,09,600 करोड़ रुपये) हो गई, जो 2020 के कुल लेनदेन से 567 प्रतिशत ज्यादा है। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि साइबरक्रिमिनल अब क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन यह भी तथ्य कि बढ़ोतरी से ज्यादा प्रतिशत में इसे अपनाया जा रहा है।"

अवैध एड्रेस वाले लेनदेन की मात्रा 2021 में हुए कुल क्रिप्टोकरेंसी लेनदेन की मात्रा का सिर्फ 0.15 प्रतिशत है। क्योंकि क्रिप्टो लेनदेन डीसेंट्रलाइज्ड और ट्रेस होने योग्य नहीं हैं, इसलिए दुनिया भर के कई सरकारी डिपार्टमेंट्स ने क्रिप्टो एसेट के गैरकानूनी इस्तेमाल को लेकर चिंता जताई है। मनी लॉन्ड्रिंग से लेकर टेरर फाइनेंसिंग तक, क्रिप्टो सेक्टर के संभावित दुरुपयोग ने इसके वैध होने के रास्ते में रोड़ा खड़ा किया है।

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि कानून से जुड़ी एजेंसियों ने अपराधियों द्वारा क्रिप्टोकरेंसी के शोषण को रोकने के प्रयासों को तेज कर दिया है।
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

राधिका पाराशर

राधिका पाराशर के पास Gadgets 360 में वरिष्ठ संवाददाता की पोस्ट है। ये ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. LSG Vs KKR Live: लखनऊ और कोलकाता के बीच IPL मैच कुछ ही देर में, यहां देखें फ्री!
  2. आ..छी..! बेबी तारों को भी आती है ‘छींक’, नई रिसर्च में वैज्ञानिकों ने किया दावा
  3. Poco F6 होगा रीब्रांडेड Redmi Turbo 3, भारत में सबसे पहले होगा लॉन्च! यहां हुआ खुलासा
  4. 84 दिनों तक 126GB डेटा, अनलिमिटिड 5G, कॉलिंग, Free Apps वाला Airtel का धांसू प्लान!
  5. 33 देशों में 30 हजार कर्मचारियों वाली यह कंपनी दे रही फुल टाइम वर्क फ्रॉम होम!
  6. पैरेंट्स सावधान! वीडियो गेम खेलने वाले बच्चों में आ सकती है दिमागी समस्या
  7. Redmi Pad Pro 5G सेल्युलर कॉलिंग फीचर के साथ भारत में जल्द होगा लॉन्च!
  8. Motorola Edge 50 Ultra में होगी 12GB रैम, 125W फास्ट चार्जिंग! लॉन्च से पहले स्पेक्स लीक
  9. Nothing Ear और Nothing Ear A के रेंडर्स और प्राइस लीक, 18 अप्रैल को है लॉन्च, जानें सबकुछ
  10. RR vs PBKS Live: राजस्थान रॉयल्स बनाम पंजाब किंग्स IPL मैच आज, यहां देखें फ्री!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »