क्रिप्टो और NFT को 'बेवकूफ बनाने की थ्योरी' मानते हैं Bill Gates

बिटकॉइन में अधिक रिस्क और क्रिप्टो माइनिंग से एनवायरमेंट को होने वाले नुकसान को लकेर पिछले वर्ष उनकी इलेक्ट्रिक कार मेकर टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क के साथ बहस भी हुई थी

क्रिप्टो और NFT को 'बेवकूफ बनाने की थ्योरी' मानते हैं Bill Gates

गेट्स की इस टिप्पणी से डिजिटल एसेट्स को लेकर आशंकाएं बढ़ सकती हैं

ख़ास बातें
  • गेट्स ने बताया कि इस एसेट क्लास में वह कोई खरीद या बिक्री नहीं करते
  • इससे पहले भी गेट्स क्रिप्टो की निंदा कर चुके हैं
  • पिछले कुछ सप्ताह से क्रिप्टो मार्केट में गिरावट हो रही है
विज्ञापन
क्रिप्टो और NFT को 'बेवकूफ बनाने की थ्योरी' मानते हैं Bill Gates

टॉप सॉफ्टवेयर कंपनियों में शामिल माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर और बिलिनेयर  Bill Gates ने नॉन-फंजिबल टोकन (NFT) जैसे क्रिप्टो प्रोजेक्ट्स को जालसाजी करार दिया है। उनका कहना है कि ये 'बेवकूफ बनाने की थ्योरी' पर बेस्ड हैं। गेट्स की इस टिप्पणी से डिजिटल एसेट्स को लेकर आशंकाएं बढ़ सकती हैं।

अमेरिका के कैलिफोर्निया में क्लाइमेट से जुड़ी एक कॉन्फ्रेंस में डिजिटल एसेट्स का मजाक बनाते हुए गेट्स ने कहा, "निश्चित तौर पर बंदरों की महंगी डिजिटल इमेजेज से दुनिया में काफी सुधार होगा।" गेट्स ने बताया कि इस एसेट क्लास में वह कोई खरीद या बिक्री नहीं करते। इससे पहले भी गेट्स क्रिप्टो की निंदा कर चुके हैं। बिटकॉइन में अधिक रिस्क और क्रिप्टो माइनिंग से एनवायरमेंट को होने वाले नुकसान को लकेर पिछले वर्ष उनकी इलेक्ट्रिक कार मेकर टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क के साथ बहस भी हुई थी। गेट्स ने कुछ वर्ष पहले क्लाइमेट पर फोकस करने वाले फंड Breakthrough Energy Ventures की शुरुआत की थी। गेट्स ने कहा कि कार्बन इमिशन को कम करने के लिए केमिकल्स और स्टील जैसी इंडस्ट्रीज में सिलिकॉन वैली के इंजीनियर्स को हायर करने में मुश्किल होती है।  

अमेरिका में इन्फ्लेशन बढ़ने और कुछ बड़ी क्रिप्टो फर्मों की वित्तीय मुश्किलों के कारण इस सप्ताह की शुरुआत से बिटकॉइन में बड़ी गिरावट रही है। क्रिप्टो मार्केट में गिरावट का असर Bored Ape Yacht Club (BAYC) जैसे लोकप्रिय NFT कलेक्शंस पर भी पड़ा है। गेट्स ने कहा कि डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने की जरूरत है। उन्होंने डिजिटल बैंकिंग को क्रिप्टोकरेंसीज की तुलना में कई गुना एफिशिएंट बताया।

हाल ही में क्रिप्टो लेंडिंग फर्म Celsius Network ने मार्केट में खराब स्थिति के कारण एकाउंट्स के बीच ट्रांसफर और विड्रॉल पर रोक लगाई थी। यह इस सेगमेंट पर बढ़ते दबाव का संकेत है। यह क्रिप्टो लेंडिंग से जुड़ी बड़ी फर्मों में शामिल है। यह अपनी क्रिप्टोकरेंसीज को जमा करने वाले कस्टमर्स को इंटरेस्ट का ऑफर देती है और रिटर्न कमाने के लिए क्रिप्टोकरेंसीज की लेंडिंग करती है। कई देशों में सेंट्रल बैंकों की ओर से इंटरेस्ट रेट्स बढ़ाने और स्टेबलकॉइन TerraUSD के पिछले महीने डॉलर के साथ जुड़ाव तोड़ने के बाद बहुत अधिक गिरने से क्रिप्टो मार्केट में भारी गिरावट आई थी। इससे इनवेस्टर्स को काफी नुकसान हुआ था। 

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

ये भी पढ़े: Crypto, Risk, Bitcoin, NFT, Market, Tesla, Environment, Microsoft, Terra
गैजेट्स 360 स्टाफ The resident bot. If you email me, a human will respond. और भी
Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Xiaomi 14 Civi अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, ट्रिपल रियर कैमरा यूनिट
  2. Comet : पृथ्‍वी की ओर आ रहा धूमकेतु, बिना दूरबीन दिखाई देगा, कब पहुंचेगा? जानें
  3. Samsung Galaxy M35 5G फोन लॉन्‍च, इसमें है 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, 8जीबी रैम, जानें प्राइस
  4. क्रिप्टो मार्केट में तेजी, Bitcoin का प्राइस 72,000 डॉलर से ज्यादा
  5. Realme ने डुअल रियर कैमरा यूनिट के साथ लॉन्च किया Narzo N65 5G
  6. Samsung Galaxy F55 5G भारत में 50MP कैमरा, 12GB रैम के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन्स
  7. 5500mAh बैटरी, 50MP कैमरा वाले Realme GT 6T को 6 हजार रुपये सस्ते में खरीदें
  8. Xiaomi के इस प्रोडक्ट से बिना बिजली खर्च किए चलेगा CCTV कैमरा! जानें कीमत
  9. LG Gram +View : एलजी ने चीन में पेश किया 16 इंच का पोर्टेबल मॉनिटर, जानें इसके बारे में
  10. Realme लॉन्‍च करेगी 2 नए स्‍मार्टफोन! Realme 13 Pro+ और GT 6 में मिलेंगी ये खूबियां
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »