• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • जहां 10 मिनट में डिलिवरी संभव नहीं, वहां अस्‍थायी तौर पर Blinkit कर रही काम बंद

जहां 10 मिनट में डिलिवरी संभव नहीं, वहां अस्‍थायी तौर पर Blinkit कर रही काम बंद

ग्रोफर्स ने हाल ही में खुद को ब्लिंकिट के रूप में रीब्रांड किया है।

जहां 10 मिनट में डिलिवरी संभव नहीं, वहां अस्‍थायी तौर पर Blinkit कर रही काम बंद

Photo Credit: Blinkit

कंपनी के मुताबिक, इस फैसले से उसके 75000 ग्राहक प्रभावित होंगे

ख़ास बातें
  • Blinkit केवल वहां काम करेगी, जहां 10 मिनट में डिलीवरी दे सकती है
  • कहा, चार हफ्ते में प्रभावित कस्‍टमर्स को सर्विस देने की उम्‍मीद है
  • ऐप पर लोकेशन डालकर लोग डिलिवरी चेक कर सकते हैं
विज्ञापन
ग्रोफर्स Grofers के नाम से मशहूर और अब ब्लिंकिट Blinkit हो चुका ऑनलाइन डिलि‍वरी प्लेटफॉर्म देश में अपने ऑपरेशंस को सीमित कर रहा है। कंपनी ने सोमवार को घोषणा की कि वह केवल उन जगहों पर काम करेगी, जहां 10 मिनट में यूजर्स को प्रोडक्‍ट की डिलि‍वरी दे सकती है। ब्लिंकिट उन एरिया में अपनी सर्विसेज को अस्‍थायी रूप से बंद कर रहा है, जहां वह 10 मिनट की समयसीमा में डिलि‍वरी को पूरा नहीं कर सकता है। ग्रोफर्स ने हाल ही में खुद को ब्लिंकिट के रूप में रीब्रांड किया है। Swiggy का Instamart, BigBasket, Dunzo और Zepto इस क्षेत्र में कंपनी के प्रमुख प्रतिद्वंद्वी हैं।

ब्लिंकिट के फाउंडर और चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफ‍िसर अलबिंदर ढींडसा ने एक ब्लॉग पोस्ट के जरिए उन एरिया में सर्विस बंद करने की घोषणा की, जहां वह तेजी से डिलिवरी नहीं कर सकते। ब्लिंकिट की सर्विस अब केवल उन एरिया में उपलब्ध होगी, जहां कंपनी 10 मिनट (या उससे कम) समय में यूजर्स को डिलिवरी पहुंचा सकती है। 

ढींडसा ने कहा कि इसका हमारे बिजनेस के आकार और कस्‍टमर्स की संख्या पर काफी असर पड़ेगा। हमें लगता है कि हमारे रोजाना 200000 कस्‍टमर्स में से यह लगभग 75000 को प्रभावित करेगा।

उन्होंने कहा कि हम हर चार घंटे में एक नया स्टोर खोल रहे हैं और चार हफ्ते के अंदर प्रभावित हुए सभी कस्‍टमर्स को सर्विस देने की उम्‍मीद करते हैं। यूजर्स हमारे ऐप पर अपनी सटीक लोकेशन अपडेट करके चेक कर सकते हैं कि उनके एरिया में ब्लिंकिट की सर्विस उपलब्‍ध है या नहीं। 

ग्रोफर्स ने 2013 में एक ऑनलाइन ग्रोसर के तौर पर कामकाज शुरू किया था। कंपनी ने पिछले हफ्ते ही ब्लिंकिट नाम के साथ खुद को रीब्रांड किया है।

कंपनी मुख्य रूप से अब तक किराना डिलि‍वरी पर फोकस करती थी। कहा जाता है कि इसके पास आठ शहरों में 100 से अधिक पार्टनर स्टोर या वेयरहाउस हैं। वर्तमान में कथित तौर पर इसके 2000 कर्मचारी हैं और भारत के 12 शहरों में एक हफ्ते में 10 लाख से ज्‍यादा ऑर्डर प्रोसेस किए जाते हैं। 

गौरतलब है कि कोविड के दौर में लोग तेजी से ऑनलाइन ग्रोसरी शॉपिंग की ओर बढ़े हैं, जिसका सीधा फायदा ब्लिंकिट जैसे प्‍लेटफॉर्म्‍स को हुआ है। कंपनी पूरी सेफ्टी और हाइजीन के साथ डिलिवरी देने का दावा करती है।  

 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

नित्या पी नायर

नित्या पी नायर को डिज़िटल पत्रकारिता में पांच साल से अधिक का ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. सुजुकी मोटरसाइकिल ने भारत में की 80 लाख टू-व्हीलर्स की मैन्युफैक्चरिंग
  2. Honor X9b 5G पर बंपर छूट, Rs 18,999 में खरीदें! Amazon पर ऐसे मिलेगी डील
  3. क्रिप्टो मार्केट में गिरावट, बिटकॉइन का प्राइस 61,000 डॉलर से ज्यादा
  4. Vivo V30e स्‍मार्टफोन भारत में 2 मई को होगा लॉन्‍च, मिलेंगे ये तगड़े फीचर्स
  5. Gold Volcano : हर रोज Rs 5 लाख का सोना ‘हवा’ में उड़ा रहा यह ज्‍वालामुखी, जानें पूरी खबर
  6. BrahMos : भारत आज फ‍िलीपीन को देगा ब्रह्मोस मिसाइलों का पहला सेट, जानें इसकी खूबियां
  7. सैटेलाइट इंटरनेट के दिन आ गए! Elon Musk की स्‍टारलिंक को जल्‍द मिल सकती है सरकार से मंजूरी
  8. OnePlus Ace 3 Pro के स्पेसिफिकेशंस, डिजाइन का हुआ खुलासा, जानें क्या होगा खास
  9. Moto E14 में होगी 5000mAh बैटरी, 20W चार्जिंग, TDRA सर्टिफिकेशन में दिखा फोन
  10. लोकसभा चुनाव का बजा बिगुल, Google ने अलग अंदाज में मनाया लोकतंत्र के पर्व का जश्न
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »