चलते इलेक्ट्रिक स्कूटर में लगी आग, डिलीवरी ब्वॉय ने कूदकर बचाई अपनी जान

ऑनलाइन किराना शॉपिंग प्लेटफॉर्म Big Basket के डिलीवरी सहयोगी को स्पीड के चलते अपनी राइड छोड़नी पड़ी क्योंकि ई-स्कूटर में अचानक आग लग गई।

चलते इलेक्ट्रिक स्कूटर में लगी आग, डिलीवरी ब्वॉय ने कूदकर बचाई अपनी जान

Photo Credit: Twitter/@arvinduttam_ND

ख़ास बातें
  • बीते कुछ समय से ई-स्कूटर में आग लगने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं।
  • ई-स्कूटर में आग लगने से सवार को अपने व्हीकल से कूदना पड़ा।
  • Big Basket के डिलीवरी सहयोगी को स्पीड के चलते अपनी राइड छोड़नी पड़ी।
विज्ञापन
बीते कुछ समय से ई-स्कूटर में आग लगने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। हाल ही में ऐसी एक घटना सामने आई है, जिसमें ई-स्कूटर में आग लगने से सवार को अपने व्हीकल से कूदना पड़ा और वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

ऑनलाइन किराना शॉपिंग प्लेटफॉर्म Big Basket के डिलीवरी ब्वॉय को अपनी राइड बीच में ही छोड़नी पड़ी क्योंकि ई-स्कूटर में अचानक आग लग गई थी। यह घटना नोएडा के सेक्टर 78 के पास सिविटेक स्टेडियम के सामने हुई। ऐसे में जब तक फायर मार्शल घटना स्थल पर पहुंचे तब तक स्कूटर पूरा जल चुका था। पुलिस आग लगने के कारणों की जांच कर रही है। फिलहाल यह पता नहीं चला है कि ईवी राइडर किस मेक और मॉडल को चला रहा था।

जहां भारत पैसेंजर और कमर्शियल लेवल पर इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने के लिए प्रोत्साहन कर रहा है। मगर इस प्रकार की घटनाएं एक नेगेटिव इमेज क्रिएट कर सकती हैं। एक प्रकार से यह कहा जाए कि ये लोगों में ईवी के प्रति डर पैदा कर सकती हैं। आपको बता दें कि कुछ हफ्ते पहले सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने हाल के दिनों में कई टू-व्हीलर्स में आग लगने की जांच के बाद इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं को जुर्माना लगाया है।
बीते एक साल में इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की कई घटनाओं की हाई लेवल जांच के बाद यह जुर्माना लगाया गया है। आपको बता दें कि ईवी निर्माता कंपनियों Ola, Okinawa, Pure EV और Boom EV ने आग लगने जैसी घटनाओं के बाद अपने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स को रिकॉल किया है। जांच से यह भी साफ होता है कि भारत ने अपने ईवी टेस्टिंग स्टैंडर्ड को बदल दिया है। बैटरी सेल, बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम, ऑनबोर्ड चार्जर, बैटरी पैक डिजाइन और इंटरनल सेल शॉर्ट-सर्किट के चलते थर्मल प्रोपेगेशन पर नए स्टैंर्डड 1 अक्टूबर को लागू हुए हैं।

हालांकि वर्ल्ड लेवल पर ईवीएस में आग के नंबर उनके इंटरनल कंबशन इंजन (आईसीई) आदि के मुकाबले में कम है। ईवी में आग लगने का खतरा बैटरी यूनिट में मौजूद रसायनों के चलते पैदा होता है। ये रसायन और अन्य कंपोनेंट्स ईवीएस को तेजी से और ज्यादा गर्म कर सकते हैं, जिससे ये ज्यादा खतरनाक हो सकते हैं।
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

साजन चौहान

साजन चौहान Gadgets 360 में सीनियर सब एडिटर हैं। उन्हें विभिन्न प्रमुख ...और भी

संबंधित ख़बरें

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Bade Miyan Chote Miyan Collection Day 10: अक्षय कुमार-टाइगर श्रॉफ की फिल्म का कलेक्शन पहुंचा 50 करोड़ रुपये के पार
  2. Samsung कर्मचारियों को हफ्ते में 6 दिन करना होगा काम, जारी हुआ फरमान
  3. Xiaomi ने लॉन्च किया Mijia Refrigerator French 439L, 360 डिग्री कूलिंग के साथ 10 साल की वारंटी, जानें डिटेल
  4. DC Vs SRH Live: दिल्ली कैपिटल्स बनाम सनराइजर्स हैदराबाद IPL मैच कुछ देर में, यहां देखें फ्री!
  5. Vivo ने लॉन्च किया Y200i, 50 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा
  6. धरती में तेजी धंस रहे हैं इस देश के आधे से ज्यादा शहर!
  7. Pixel 9 Pro की रियल लाइफ इमेज लीक, 16GB रैम, फ्लैट डिस्प्ले से होगा लैस!
  8. भारत का विजिट नहीं करेंगे Elon Musk, टेस्ला में काम के बोझ का बताया कारण
  9. UP Board 10th Result 2024: यूपी बोर्ड 10वीं रिजल्ट रोल नम्बर से ऐसे करें चेक
  10. HP Omen Transcend 14 गेमिंग लैपटॉप लॉन्च, 11.5 घंटे की बैटरी, 2.8K 120Hz डिस्प्ले से है लैस, जानें कीमत
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »