• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • NPCI ने लॉन्च किया UPI AutoPay फीचर, हर महीने बिल भरने की झंझट होगी दूर

NPCI ने लॉन्च किया UPI AutoPay फीचर, हर महीने बिल भरने की झंझट होगी दूर

UPI AutoPay फीचर के तहत ग्राहक को पेमेंट की राशि और राशि का भुगतान करने के लिए डेबिट अकाउंट का चयन करके सेट करना पड़ता है। योग्य UPI ऐप में अब एक ‘Mandate' सेक्शन को जोड़ा गया है, जिसके जरिए ग्राहक ओटो-पे की प्रक्रिया को क्रिएट कर सकते हैं, उसे अप्रूव कर सकते हैं, उसे मॉडिफाई कर सकते है या फिर उसे पॉज़ व रोक सकते हैं।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
NPCI ने लॉन्च किया UPI AutoPay फीचर, हर महीने बिल भरने की झंझट होगी दूर

भारत में डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए लोकप्रिय विकल्प है UPI

ख़ास बातें
  • UPI ऐप में जोड़ा गया है ‘Mandate' सेक्शन
  • 2000 रुपये से कम के पेमेंट के लिए हर बार नहीं चाहिए होगा UPI पिन
  • 2,000 रुपये से ज्यादा की पेमेंट पर हर बार जरूरी होगा UPI pin
नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने नया UPI AutoPay फीचर लॉन्च किया है, जिसकी मदद से हर बार ऑनलाइन पेमेंट करने की झंझट आसान हो जाएगी। इस फीचर की मदद से ग्राहक 2,000 रुपये तक की हर महीने होने वाली पेमेंट को ऑटोमैटिकली सेट कर सकते हैं। हालांकि, 2000 से ऊपर की पेमेंट के लिए ग्राहक को यूपीआई पिन देने की जरूरत पड़ती। इस यूपीआई ऑटोपे फीचर का इस्तेमाल आप मोबाइल बिल पेमेंट, म्यूचुअल फंड, लोन, मैट्रो पेमेंट, ईएमआई पेमेंट, इंश्योरेंस, बिजली बिल, ओटीटी सब्सक्रिप्शन जैसे कई ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के रूप में कर सकते हैं।

UPI AutoPay फीचर के तहत ग्राहक को पेमेंट की राशि और राशि का भुगतान करने के लिए डेबिट अकाउंट का चयन करके सेट करना पड़ता है। योग्य UPI ऐप में अब एक ‘Mandate' सेक्शन को जोड़ा गया है, जिसके जरिए ग्राहक ओटो-पे की प्रक्रिया को क्रिएट कर सकते हैं, उसे अप्रूव कर सकते हैं, उसे मॉडिफाई कर सकते है या फिर उसे पॉज़ व रोक सकते हैं। NPCI ने जानकारी देते हुए बताया कि मैंडेट कई रूप से सेट किया जा सकता है, जिसमें वन टाइम ऑप्शन के साथ-साथ आपको डेली, वीकली, मंथली व वार्षिक आदि का विकल्प मिलता है। यूज़र को ‘Mandate' सेक्शन में ऑटो-डेबिट के लिए एक ऑथराइज़ तारीख सेट करनी होगी, जिस दिन पेमेंट के लिए राशि अपने आप डेबिट हो जाएगी। एनपीसीआई ने यह भी बताया कि यूपीआई यूज़र्स यूपीआई आईडी व क्यूआर स्कैन की मदद से भी ई-मैंडेट बना सकते हैं।

जैसा कि हमने बताया, 2,000 रुपये से कम की राशि की पेमेंट अपने आप हो जाएगी, इसके लिए आपको केवल एक बार यूपीआई पिन के माध्यम से अपने अकाउंट को प्रमाणित करना होगा। उसके बाद हर महीने अपने आप तय की गई राशि आपके अकाउंट से कट जाएगी। लेकिन 2000 रुपये से ज्यादा की राशि के भुगतान के लिए हर मैंडेट में UPI पिन की जरूरत पड़ेगी।

एनपीसीआई ने अपने यूपीआई ऑटो-पे की शुरुआत Axis Bank, Bank of Baroda, HDFC Bank, HSBC Bank, ICICI Bank, IDFC Bank, IndusInd Bank, Paytm Payments Bank, AutoPe-Delhi Metro, AutoPe-Dish TV, CAMS Pay, Furlenco, Growfitter, Policy Bazaar, Testbook.com, The Hindu, Times Prime, Paytm, PayU, व RazorPay जैसे प्लेटफॉर्म से हुई है। YES Bank, State Bank of India, और Jio Payments Bank जल्द ही यूपीआई ऑटोपे फीचर पेश करेंगे। इस फीचर की मदद से ग्राहको को हर महीने की जाने वाली पेमेंट को याद रखने का झंझट खत्म होगा, और तय की गई पेमेंट अपने आप अकाउंट से डेबिट कर दी जाएगी।।

आपको बता दें, भारत में डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए यूपीआई लोकप्रिय विकल्प बना हुआ है। साल 2019 की The India Digital Payments रिपोर्ट बताती है कि पिछले साल 18,36,000 करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन यूपीआई के माध्यम से किया गया था, जो कि साल 2018 से 214 प्रतिशत ज्यादा है।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

तसनीम अकोलावाला Tasneem Akolawala is a Senior Reporter for Gadgets 360. Her reporting expertise encompasses smartphones, wearables, apps, social media, and the overall tech industry. She ... और भी »
पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
तसनीम अकोलावाला को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी
 
 
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com