• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • Aarogya Setu ऐप करेगा कोरोना वायरस की ट्रैकिंग, भारत सरकार ने किया लॉन्च

Aarogya Setu ऐप करेगा कोरोना वायरस की ट्रैकिंग, भारत सरकार ने किया लॉन्च

खबर आई थी कि नीति आयोग भी कोरोना वायरस ट्रैकिंग ऐप पर काम कर रही है, जिसका नाम था CoWin-20। Next Web का दावा है कि आरोग्य सेतु CoWin-20 का ही फाइनल वर्ज़न है।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
Aarogya Setu ऐप करेगा कोरोना वायरस की ट्रैकिंग, भारत सरकार ने किया लॉन्च

COVID-19 महामारी से बचने में मदद करेगा Aarogya Setu ऐप

ख़ास बातें
  • ब्लूटूथ से ट्रैक करेगा Aarogya Setu App
  • आरोग्य सेतु ऐप पर करना होगा मोबाइल नंबर रजिस्टर
  • यूज़र की प्राइवेसी का भी ध्यान रखेगा यह ऐप, सरकार का दावा
भारत सरकार ने अधिकारिक तौर पर COVID-19 ट्रैकिंग ऐप लॉन्च कर दिया है। इसका नाम है 'Aarogya Setu'। यह ऐप एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म के लिए उपलब्ध है। आरोग्य सेतु ऐप को National Informatics Centre द्वारा बनाया गया है, जो कि इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत आता है। ऐप की जानकारी देते हुए बताया गया है कि इसका उद्देश्य लोगों को COVID-19 यानी कोरोना वायरस से संबंधित सही और सटीक सलाह देना है। केंद्र से लेकर राज्य सरकारों ने देश में तेज़ी से पैर पसारते कोरोना वायरस को रोकने के लिए पिछले कुछ हफ्तों में कई ट्रैकिंग ऐप्स लॉन्च किए हैं।  

Aarogya Setu App यूज़र्स को यह जानने में मदद करेगा कि उसे कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा है या नहीं। क्या वह जाने-अनजाने में किसी कोरोना वायरस संक्रमित इंसान के संपर्क में आकर संक्रमित हुआ है या नहीं।

The Next Web ने इस ऐप को सबसे पहले जानकारी दी। इनके अनुसार आरोग्य सेतु ऐप संक्रमित लोगों का सरकारी डेटाबेस इस्तेमाल करता है। हालांकि, इस बारे में सरकार द्वारा कोई जानकारी नहीं दी गई है।

COVID-19 ट्रैकर ऐप फिलहाल 11 भाषाओं को सपोर्ट करता है, जिसमें हिंदी और अंग्रेजी भी शामिल हैं। इसके अलावा यह लोकेशन को एक्सेस करने के लिए ब्लूटूथ का सहारा लेता है। आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले यूज़र को अपना मोबाइल नंबर इसमें रजिस्टर कराना होगा। पहले स्टेप को पूरा करने के बाद ऐप यूज़र्स से क्रेडेनशियल की मांग करेगा, जो कि वैकल्पिक है। जो लोग ऐप की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर परेशान थे, उनके लिए सरकार का दावा किया है कि ऐप में स्टोर डेटा 'इनक्रिप्टेड' है और यह किसी थर्ड पार्टी ऐप के साथ साझा नहीं किया जाएगा।

ऐप की होम स्क्रीन पर जाते ही, ऐप यूज़र की लोकेशन को ट्रैक करके यह बताता है कि वह सुरक्षित स्थान पर है या नहीं। यही नहीं, एंड्रॉयड यूज़र इस ऐप पर स्वास्थ्य मंत्रालय के लाइव ट्वीट भी पढ़ सकते हैं। एंड्रॉयड और ऐप्पल यूज़र्स के लिए फीचर्स लगभग एक जैसे हैं।

पिछले हफ्ते खबर आई थी कि नीति आयोग भी कोरोना वायरस ट्रैकिंग ऐप पर काम कर रही है, जिसका नाम था CoWin-20। Next Web का दावा है कि आरोग्य सेतु CoWin-20 का ही फाइनल वर्ज़न है। साथ ही राज्य सरकारें भी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अलग-अलग कोरोना वायरस ट्रैकिंग ऐप लॉन्च कर रहीं है।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com