• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • Chingari ऐप बनाने वाली कंपनी की वेबसाइट में हैं मैलवेयर होने का दावा

Chingari ऐप बनाने वाली कंपनी की वेबसाइट में हैं मैलवेयर होने का दावा

Chingari ऐप को Google Play और App Store पर रिलीज़ किया गया था और पिछले हफ्ते तक इसे 25 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका था।

Chingari ऐप बनाने वाली कंपनी की वेबसाइट में हैं मैलवेयर होने का दावा

Chingari ऐप को Google Play में 25 लाख से अधिक बार डाउनलोड कर लिया गया है

ख़ास बातें
  • Chingari ऐप भारतीय मूल की डेवलपर कंपनी Globussoft द्वारा विकसित
  • डेवलपर की वेबसाइट में मैलवेयर होने का दावा
  • Globussoft ने कहा यूज़र्स की सुरक्षा को कोई खतरा नहीं
Chingari ऐप हाल के कुछ दिनों और खासकर भारत में TikTok बैन के बाद से बड़ी तेज़ी से लोकप्रियता प्राप्त कर रहा है। अब एक नई जानकारी सामने आई है, जहां दावा किया गया है कि चिंगारी ऐप निर्माता Globussoft की वेबसाइट मैलवेयर से संक्रमित है। यह दावा प्रसिद्ध फ्रांसीसी सुरक्षा शोधकर्ता Robert Baptiste द्वारा किया गया है, जो ट्विटर पर Elliot Alderson के नाम से अकाउंट चलाते हैं। ट्विटर पर पोस्ट करते हुए बैपटिस्ट ने कहा: (अनुवादित) "TikTok के भारतीय विकल्प कहे जा रहे Chingari ऐप को डेवलप करने वाली कंपनी Globussoft की वेबसाइट से समझौता किया गया है।" उन्होंने कहा कि साइट में सभी पेजों में एक मैलवेयर स्क्रिप्ट थी, जो यूज़र को कई अलग-अलग वेबसाइट के पजों पर ले जाती थी। खबर लिखते समय तक, चिंगारी की टीम ने टिप्पणी के निवेदन का जवाब नहीं दिया था।

हालांकि, ट्विटर पर, Chingari के सह-संस्थापक Sumit Ghosh ने पोस्ट किया: (अनुवादित) " मुझे wp के मुद्दे से अवगत कराने के लिए धन्यवाद, चिंगारी को ग्लोबूसॉफ्ट के तहत पेश किया गया था और हमारे द्वारा बनाया गया था, चिंगारी ऐप / वेबसाइट और हमारे यूज़र्स की सुरक्षा से किसी भी तरह का समझौता नहीं किया गया है। इसे सुरक्षित रूप से समर्पित और सुरक्षित एडब्ल्यूएस पर संग्रहीत किया जाता है। हम जल्द ही डब्ल्यूपी मुद्दे को ठीक कर देंगे।" उन्होंने आगे कहा "Globussoft वेबसाइट और Chingari ऐप के पीछे बहुत अलग सुरक्षा/इंजीनियरिंग टीम हैं और पूरी तरह से असंबंधित हैं। चिंगारी जल्द ही एक स्वतंत्र कंपनी होगी।"

बैपटिस्ट की पोस्ट के अनुसार, साइट में यूज़र्स को पुनर्निर्देशित करने के लिए एक ड्रॉप स्क्रिप्ट को डाला गया है और इसमें एक रिपोर्ट शामिल होती है कि रीडायरेक्ट कहां जाता है। बैपटिस्ट का जवाब देते हुए, एक अन्य ट्विटर यूज़र (CitizenK, जिसका बायो कहता है कि वह एक यूआई डेवलपर है) ने लिखा है कि BitDefender ने Globussoft की वेबसाइट पर क्रिप्टोजैकिंग मैलवेयर पाया। इसके अलावा, वेबसाइट सुरक्षा सर्विस Sucuri के साइट चेक का इस्तेमाल करते हुए, उन्होंने पाया कि वेबसाइट में कई मैलवेयर पाए गए। Gadgets 360 ने इसकी जांच खुद से की और चिंगारी की वेबसाइट सहित कई वेबसाइट पर टेस्ट करने के बाद पाया कि वार्निंग केवल Globussoft साइट पर आई।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस मैलवेयर की उपस्थिति चिंगारी ऐप में किसी भी मुद्दे की ओर इशारा नहीं करती है, हालांकि बैपटिस्ट ने इस विषय पर अपने अंतिम पोस्ट में लिखा है कि 'यह सवाल उठाता है'।

Chingari ऐप को Google Play और App Store पर रिलीज़ किया गया था और पिछले हफ्ते तक इसे 25 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका था। यह मुफ्त ऐप TikTok से बहुत समानता रखता है, लेकिन Google Play पर दिए गए रिव्यू में ऐप को धीमा बताया गया है और साथ ही केवल कुछ वीडियो दिखाने और समय-समय पर क्रैश होने जैसी समस्याओं की भी बात की गई है। ऐसा प्रतीत होता है कि इसे बहुत अधिक सपोर्ट इसलिए मिल रहा है क्योंकि ऐप भारत में बना है। गूगल प्ले पर एक रिव्यू में कहा गया है, (अनुवादित) "भारतीय डेवलपर्स को बढ़ावा देने के लिए डाउनलोड किया, लेकिन टिकटॉक की तुलना में इसे अभी मेनस्ट्रीम में आने के लिए लंबा रास्ता तय करना है।"

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

गोपाल साठे Gopal Sathe is the Editor of Gadgets 360. He has covered technology for 15 years. He has written about data use and privacy, and its use in politics. He has also written ... और भी »
पढ़ें: English
Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. Cryptocurrency Bill : क्रिप्‍टो में निवेश करने वालों को जेल, जमानत भी नहीं मिलेगी!
  2. Airtel के 99 रुपये के प्लान से बेहतर है Jio का 91 रुपये का रीचार्ज, जानें कैसे?
  3. Ethereum Whale 'Gimli' ने पोर्टफोलियो में 28 अरब Shiba Inu टोकन जोड़े
  4. Bitcoin में गिरावट को El Salvador ने फिर किया कैश, खरीदें 150 और Bitcoin
  5. 12GB रैम और स्नैपड्रैगन 888 प्रोसेसर के साथ आएगा Oppo का पहला फोल्डेबल फोन!
  6. इलेक्ट्रिक गाड़‍ियों के लिए सरकार की बड़ी तैयारी, ARAI डेवलप कर रही फास्‍ट चार्जर
  7. COVID-19 वैक्सीन सर्टिफिकेट कैसे करें ऑनलाइन डाउनलोड? ये रहा तरीका...
  8. 32 घंटे तक की बैटरी के साथ Nokia E3103 TWS ईयरबड्स लॉन्च, जानें खूबियां
  9. Bitmart से 1479 करोड़ की क्रिप्‍टो चोरी, ढूंढने में मदद करेगी Shiba Inu कम्‍युनिटी
  10. Apple AirTags के इस्तेमाल से चोरी हो रही कारें, पुलिस ने लोगों को किया अलर्ट
#ताज़ा ख़बरें
  1. 12GB रैम और स्नैपड्रैगन 888 प्रोसेसर के साथ आएगा Oppo का पहला फोल्डेबल फोन!
  2. OnePlus 9 सीरीज़ और OnePlus Nord CE 5G फोन पर मिल रही Rs 8,000 तक की छूट, जानें ऑफर
  3. TCL ने दिखाया फोल्‍ड और रोल होने वाला कॉन्‍सेप्‍ट फोन, जानें क्‍या है खास
  4. Cryptocurrency Bill : क्रिप्‍टो में निवेश करने वालों को जेल, जमानत भी नहीं मिलेगी!
  5. PUBG New State को मिलेगा नया अपडेट: नए वैपन, गाड़ियों और थीम से दोगुना होगा रोमांच!
  6. Xiaomi कंपनी नई Super 100W flash चार्जिंग की कर रही है टेस्टिंग! 2022 में हो सकती है लॉन्च
  7. Bitcoin, Ether के प्राइस में पिछले सप्ताह की भारी गिरावट के बाद कुछ रिकवरी
  8. 186 लीटर क्षमता के साथ Xiaomi MIJIA Double Door 186L रेफ्रिजरेटर लॉन्च, जानें कीमत
  9. Audi, BMW और Mercedes के मुकाबले तेजी से बढ़ रही है Tesla कारों की डिलीवरी
  10. Airtel के 99 रुपये के प्लान से बेहतर है Jio का 91 रुपये का रीचार्ज, जानें कैसे?
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2021. All rights reserved.
गोपाल साठे को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी
 
 
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com