New SIM Verification Rules: नए सिम कार्ड के लिए सरकार ने बदले नियम, जानें सबकुछ

दूरसंचार मंत्रालय ने फ्रॉड को रोकने के चल रहे उपायों के तहत 52 लाख कनेक्शन ब्लॉक कर दिए हैं।

New SIM Verification Rules: नए सिम कार्ड के लिए सरकार ने बदले नियम, जानें सबकुछ

मोबाइल फोन के लिए SIM वैरीफिकेशन को लेकर सरकार ने नए नियम लागू कर दिए हैं।

ख़ास बातें
  • व्यापारियों को पुलिस,और बायोमीट्रिक वैरीफिकेशन भी करवाना होगा।
  • व्यापारियों के लिए सरकार ने 12 महीने का समय दिया है।
  • व्यक्ति एक आईडी पर 9 सिम कार्ड कनेक्शन ले सकता है।
विज्ञापन
मोबाइल फोन के लिए SIM वैरीफिकेशन को लेकर सरकार ने नए नियम लागू कर दिए हैं। अब बल्क सिम जारी करने का प्रावधान खत्म कर दिया गया है। जो डीलर सिम कार्ड बेचते हैं, उन्हें भी अब सिम कार्ड का वैरीफिकेशन करवाना होगा। साइबर फ्रॉड, और फ्रॉड कॉल्स को रोकने के मकसद से सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह जानकारी दी है। 

दूरसंचार मंत्रालय ने फ्रॉड को रोकने के चल रहे उपायों के तहत 52 लाख कनेक्शन ब्लॉक कर दिए हैं। ये वे कनेक्शन थे जो धोखाधड़ी का तरीका अपनाकर लिए गए थे। साथ ही 67 हजार डीलर्स को भी सरकार ने ब्लैकलिस्ट किया है, जिनके द्वारा ये कनेक्शन जारी किए गए थे। NDTV के अनुसार, मंत्री ने बताया कि World Telecom Day पर उन्होंने कस्टमर के हितों के लिए तीन नए सुधार पेश किए हैं। इनमें Central Equipment Identity Register, Know Your Mobile और ASTR शामिल हैं। तो अगर आप भी नया सिम खरीदने वाले हैं, या एक व्यापारी हैं जो सिम कार्ड बेचते हैं, तो सिम कार्ड वैरीफिकेशन से जुड़े ये नए नियम जरूर देख लें- 

व्यापारियों के लिए भी वैरीफिकेशन जरूरी
SIM कार्ड बेचने वाले व्यापारियों को अब पुलिस वैरीफिकेशन के साथ ही बायोमीट्रिक वैरीफिकेशन भी करवाना होगा। साथ ही रजिस्ट्रेशन भी अनिवार्य कर दिया गया है। इसकी जिम्मेदारी टेलीकॉम ऑपरेटर की होगी, जो व्यापारियों का वैरीफिकेशन सुनिश्चित करेगा। अगर यह नियम नहीं माना जाता है तो सरकार ने इसके लिए 10 लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया है। 

वैरीफिकेशन के लिए 12 महीने का समय
वर्तमान में सिम कार्ड बेचने वाले व्यापारियों के लिए सरकार ने 12 महीने का समय दिया है जिसमें वह अपना वैरीफिकेशन करवा सकते हैं और रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। सरकार इस कदम की मदद से धोखेबाज व्यापारियों को पहचानने, उन्हें ब्लैकलिस्ट करने और सिस्टम से बाहर करने की कोशिश करेगी। 

डेमोग्राफिक डेटा होगा कलेक्ट
अगर कस्टमर किसी पुराने नम्बर पर नया सिम कार्ड खरीदने जा रहा है तो आधार पर छपे QR कोड की स्कैनिंग की जाएगी, जिसके आधार पर कस्टमर का डेमोग्राफिक डेटा दर्ज किया जाएगा। 

बल्क सिम कार्ड नहीं होंगे जारी
टेलीकम्युनिकेशन डिपार्टमेंट ने घोषणा की है कि अब बल्क सिम कार्ड जारी नहीं किए जाएंगे। इसकी जगह पर बिजनेस कनेक्शन का प्रावधान लाया गया है। हालांकि यहां सरकार की ओर से साफ किया गया है कि कोई व्यक्ति एक आईडी पर 9 सिम कार्ड कनेक्शन ले सकता है। इसके अलावा, अगर कोई व्यक्ति सिम कार्ड बंद करवाता है तो वह मोबाइल नम्बर नए कस्टमर को 90 दिनों के बाद जारी किया जाएगा। 
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

हेमन्त कुमार

हेमन्त कुमार Gadgets 360 में सीनियर सब-एडिटर हैं और विभिन्न प्रकार के ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Lava Blaze Curve 5G स्मार्टफोन 64MP कैमरा, 16GB RAM के साथ लॉन्च, जानें खासियतें
  2. 60 किलोमीटर रेंज के साथ Xiaomi Electric Scooter 4 Pro Max हुआ लॉन्च, जानें फीचर्स
  3. Ulefone Armor 23 Ultra स्मार्टफोन सैटेलाइट कनेक्टिविटी के साथ MWC 2024 में हुआ पेश
  4. Cult Active TR लॉन्च हुई 1.52" डिस्प्ले, 7 दिन बैटरी लाइफ के साथ, जानें स्मार्टवॉच की कीमत
  5. टैटू बनवाने वाले सावधान! सेहत को हो सकता है नुकसान
  6. Realme 12 5G, 12+ 5G की कीमत लीक, 8GB रैम, 5000mAh बैटरी के साथ 6 मार्च को होंगे लॉन्च
  7. TVS Motor की सेल्स 33 प्रतिशत बढ़कर 3.68 लाख यूनिट्स से ज्यादा
  8. Samsung की Galaxy S25 सीरीज में हो सकता है Exynos चिप
  9. Cognizant के कर्मचारियों को हफ्ते में 3 दिन आना होगा ऑफिस, कंपनी ने लॉन्च किया एक स्पेशल ऐप
  10. Google भी चला Apple की राह! स्मार्टफोन यूजर्स के लिए रिलीज हो सकता है नया 'Satellite SOS' फीचर
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »