आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का कमाल, व्‍हेल मछलियों से बात करेगा इंसान!

प्रोजेक्ट को सीटैसियन ट्रांसलेशन इनिशिएटिव (सीईटीआई) नाम दिया गया है। व्‍हेल की भाषा को डिकोड करने की संभावना के बारे में पहली बातचीत हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का कमाल, व्‍हेल मछलियों से बात करेगा इंसान!

यह प्रोजेक्‍ट सफल होता है, तो ऐसा पहली बार होगा, जब इंसान किसी अन्य प्रजाति की भाषा को समझेंगे।

ख़ास बातें
  • व्‍हेल कैसे संवाद करती हैं, इसे समझने के लिए वैज्ञानिक डेटा जुटा रहे हैं
  • इस प्रोजेक्ट को सीटैसियन ट्रांसलेशन इनिशिएटिव (सीईटीआई) नाम दिया गया है
  • प्रोजेक्‍ट सफल होता है, तो पहली बार इंसान अन्य प्रजाति की भाषा को समझेगा
व्‍हेल को दुनिया के सबसे समझदार जीवों में से एक माना जाता है। ऐसे कई वाकये हैं, जब हमने इंसान और व्‍हेल के बीच के भावनात्‍मक र‍िश्‍ते के उदाहरण देखे हैं। अगर सबकुछ ठीक रहा, तो ऐसा हो सकता है कि साइंटिस्‍ट व्‍हेल की भाषा को डिकोड करने के करीब पहुंच जाएं। व्‍हेल कैसे संवाद करती हैं, इसे समझने के लिए आर्टिफ‍िशि‍यल इंटेल‍िजेंस यानी एआई की मदद से वैज्ञानिकों के एक इंटरडिसिप्लिनरी समूह ने डेटा जुटाना शुरू कर दिया है। इस प्रोजेक्ट को सीटैसियन ट्रांसलेशन इनिशिएटिव (सीईटीआई) नाम दिया गया है। व्‍हेल की भाषा को डिकोड करने की संभावना के बारे में पहली बातचीत हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी। इसके लिए वैज्ञानिकों के एक अंतरराष्ट्रीय समूह ने 2017 में रैडक्लिफ फैलोशिप में एक साल बिताया। इस डेटा की रिसर्च और कलेक्‍शन में साल 2020 में तेजी आई। अगर यह प्रोजेक्‍ट सफल होता है, तो ऐसा पहली बार होगा, जब इंसान किसी अन्य प्रजाति की भाषा को समझेंगे। इसके परिणामस्वरूप, इंसान, व्हेल के साथ संवाद करने के लिए एक सिस्‍टम का निर्माण भी कर सकता है। 

कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले में सिमंस इंस्‍ट‍िट्यूट फॉर द थिअरी ऑफ कंप्यूटिंग की निदेशक शफी गोल्डवासेर ने व्हेल के क्‍ल‍िकिंग साउंड की एक सीरीज को नोट किया, जो मोर्स कोड या फॉल्‍टी इलेक्ट्रॉनिक सर्किट के शोर के समान थी। उन्‍होंने न्यू यॉर्क की सिटी यूनिवर्सिटी के समुद्री जीवविज्ञानी डेविड ग्रुबर को आइडिया दिया कि इन क्‍लि‍किंग या कोडों के जरिए व्‍हेल की भाषा को ट्रांसलेट क‍िया जाए। इसके बाद इंपीरियल कॉलेज लंदन में पढ़ाने वाले एक इस्राइली कंप्यूटर वैज्ञानिक माइकल ब्रोंस्टीन ने कोडों और नैचुरल लैंग्‍वेज प्रोसेसिंग (एनएलपी) के बीच एक कड़ी को मानने पर विचार किया। इसके बाद बायोलॉजिस्ट शेन गेरो ने कैरेबियाई द्वीप डोमिनिका के आसपास से स्‍पर्म व्हेल कोडों की रिकॉर्डिंग की। ब्रोंस्टीन ने इस डेटा पर कुछ मशीन-लर्निंग एल्गोरिदम लागू किए। उन्होंने हकाई मैग्‍जीन को बताया क‍ि उन्‍हें ऐसा लगता था कि वे बहुत अच्छी तरह से काम कर रहे थे, लेकिन यह केवल प्रूफ ऑफ कॉन्‍सेप्‍ट था।

साइंटिस्‍ट और भाषाविद अभी नहीं जानते हैं कि जीवों की कोई भाषा होती है या नहीं। जानवरों के उच्चारण को केवल तभी भाषा कहा जा सकता है, जब उनके पास निश्चित अर्थ वाले स्वर, और साउंड को स्‍ट्रक्‍चर करने का तरीका हो। व्हेल आमतौर पर गहरे पानी में गोता लगाती हैं और एक लंबी दूरी पर संवाद करती हैं। इसलिए चेहरे की अभिव्यक्ति या शरीर की भाषा उनके कम्‍युनिकेशन को प्रभावित नहीं करती है। व्हेल की भाषा को समझना और कम्‍युनिकेट करना सीखना AI के लिए भी मुश्किल है। सबसे मशहूर AI-भाषा मॉडल, जीपीटी -3 में निहित है, जिसमें लगभग 175 बिलियन शब्दों का डेटाबेस है। इसकी तुलना में CETIके डेटाबेस में 100000 से कम स्‍पर्म व्हेल कोड हैं। वैज्ञानिकों ने अब डेटाबेस को चार अरब कोड तक बढ़ाने की योजना बनाई है।



 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें

पढ़ें: English
Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. अरबपति Mark Cuban का 80 प्रतिशत नया निवेश क्रिप्टोकरेंसी में, जानें किस क्रिप्टो में निवेश
  2. दुनिया के इन 5 देशों में क्रिप्टोकरेंसी पर लगा हुआ है बैन
  3. पब्लिक को क्रिप्टो ट्रेडिंग से रोकने के लिए सिंगापुर के सेंट्रल बैंक ने जारी की गाइडलाइंस
  4. अपना CIBIL Score इन स्टेप्स के द्वारा फ्री में करें ऑनलाइन चेक, जानें कैसे?
  5. अगले हफ्ते Realme, Xiaomi, Moto और Tecno के लॉन्च होंगे ये 4 फोन
  6. 12GB रैम, 80W फास्ट चार्जिंग और 120Hz डिस्प्ले के साथ OnePlus 10 Pro लॉन्च, जानें प्राइस...
  7. 50MP कैमरा, 5000mAh बैटरी के साथ लॉन्‍च हुआ Vivo Y55 5G, जानें खूबियां
  8. ट्रिपल कैमरा सेटअप और स्नैपड्रैगन 662 प्रोसेसर के साथ Oppo Reno 6 Lite लॉन्‍च
  9. 452Km रेंज वाली MG ZS EV इलेक्ट्रिक कार बन रही है भारतीयों की पसंद, 2021 में बढ़ी 145% सेल
  10. वैज्ञानिकों ने खोजा आलू के आकार का ग्रह, 22 घंटे में कर लेता है अपने सूर्य की परिक्रमा
#ताज़ा ख़बरें
  1. Ola ने बंद किया S1 इलेक्ट्रिक स्कूटर का प्रोडक्शन, ग्राहक कर सकते हैं S1 Pro में अपग्रेड
  2. ट्रिपल कैमरा सेटअप और स्नैपड्रैगन 662 प्रोसेसर के साथ Oppo Reno 6 Lite लॉन्‍च, जानें फीचर्स
  3. 50MP कैमरा, 5000mAh बैटरी के साथ लॉन्‍च हुआ Vivo Y55 5G, जानें खूबियां
  4. Elon Musk के इस हताशा भरे ट्वीट के बाद तीन भारतीय राज्यों ने दिया Tesla को ऑफर
  5. पब्लिक को क्रिप्टो ट्रेडिंग से रोकने के लिए सिंगापुर के सेंट्रल बैंक ने जारी की गाइडलाइंस
  6. सैमसंग गैलेक्‍सी S22 सीरीज हो सकती है महंगी, यह है वजह
  7. Bitcoin, Ether, Dogecoin समेत कई बड़ी क्रिप्टोकरेंसी की आज कीमतें गिरी, जानें लेटेस्ट मार्केट प्राइस
  8. Huawei ने पेश किया एडवांस फीचर्स वाला स्मार्ट स्कूल बैग, पैरेंट्स कर सकेंगे बच्चों की लोकेशन ट्रैक
  9. Microsoft की चेतावनी, ‘खतरनाक’ हो सकता है यूक्रेन साइबर हमला
  10. Bitcoin, Ethereum को टक्कर देने के लिए Walmart लाएगी खुद की क्रिप्टोकरेंसी!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2022. All rights reserved.
गैजेट्स 360 स्टाफ को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी
 
 
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com