Terra की रिकवरी के लिए Kwon के प्रपोजल को कम्युनिटी का अप्रूवल

Terra कम्युनिटी का एक बड़ा हिस्सा प्रोटोकॉल को दोबारा लॉन्च करने के फैसले के समर्थन में है। हालांकि, कुछ लोग अभी भी LUNA और UST में भारी गिरावट से नाराज हैं

Terra की रिकवरी के लिए Kwon के प्रपोजल को कम्युनिटी का अप्रूवल

Terra कम्युनिटी का एक बड़ा हिस्सा प्रोटोकॉल को दोबारा लॉन्च करने के फैसले के समर्थन में है

ख़ास बातें
  • रिकवरी की योजना पर हाल ही में वोटिंग हुई थी
  • LUNA के लिए एक नई ब्लॉकचेन शुरू की जाएगी
  • Terra 2.0 के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी गई है
विज्ञापन
इस महीने की शुरुआत में स्टेबलकॉइन प्रोजेक्ट Terra में भारी गिरावट का असर पूरे क्रिप्टो सेगमेंट पर पड़ा था। इस गिरावट से इनवेस्टर्स को हुए नुकसान की भरपाई के लिए इसे 'Terra 2.0' के तौर पर दोबारा लाया जा रहा है। Terra के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर Do Kwon की ओर से पेश की गई रिकवरी की योजना पर हाल ही में वोटिंग हुई थी। इसमें Terra के इनवेस्टर्स में से 65 प्रतिशत से अधिक ने इस प्रपोजल को स्वीकृति दी है।

हालांकि, इस प्रपोजल को लेकर विवाद भी शुरू हो गया है। प्रपोजल को स्वीकृति मिलने का मतलब है कि केवल LUNA के लिए एक नई ब्लॉकचेन शुरू की जाएगी और LUNA टोकन को LUNA Classic कहा जाएगा। पुरानी Terra ब्लॉकचेन मौजूद रहेगी लेकिन इससे जुड़ी टीम ने नाकाम हुए स्टेबलकॉइन UST को छोड़ने का फैसला किया है। प्रपोजल के तहत, Terra की टीम अपनी कम्युनिटी को एक आगामी एयरड्रॉप के लिए कई सेंट्रलाइज्ड एक्सचेंजों से सपोर्ट हासिल करने पर काम कर रही है। LUNA टोकन्स के 35 प्रतिशत गिरावट से पहले के LUNA और UST होल्डर्स को एयरड्रॉप किए जाएंगे। टोकन के वितरण का एक बड़ा हिस्सा Terra dApp डिवेलपर्स और पूरे इकोसिस्टम के लिए एलोकेट होगा। 

Terra 2.0 के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी गई है। Terra कम्युनिटी का एक बड़ा हिस्सा प्रोटोकॉल को दोबारा लॉन्च करने के फैसले के समर्थन में है। हालांकि, कुछ लोग अभी भी LUNA और  UST में भारी गिरावट से नाराज हैं। Kwon का कहना है कि टोकन को नए तरीके से लॉन्च करने का उद्देश्य Terra से जुड़े प्लेटफॉर्म को सपोर्ट करना है।

स्टेबलकॉइन्स ऐसी क्रिप्टोकरेंसीज होते हैं जो अपने मार्केट प्राइस को गोल्ड या सामान्य करेंसीज जैसे किसी रिजर्व एसेट से जोड़ने की कोशिश करते हैं। ये ऐसी डिजिटल ट्रांजैक्शंस के लिए अधिक इस्तेमाल होते हैं जिनमें वर्चुअल एसेट्स को वास्तविक एसेट्स में कन्वर्ट करना शामिल होता है। USD Coin, Tether और Binance USD कुछ लोकप्रिय स्टेबलकॉइन्स हैं, जो अमेरिकी डॉलर से जुड़े हैं। क्रिप्टो का तेजी से बढ़ता वर्जन स्टेबलकॉइन एक्सचेंज के प्रमुख माध्यम के तौर पर उभरा है। इसका इस्तेमाल अक्सर ट्रेडर्स की ओर से फंड भेजने के लिए किया जाता है। प्रमुख स्टेबलकॉइन्स को बिटकॉइन या अन्य क्रिप्टोकरेंसीज के लिए एक्सचेंज करना आसान है। 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

ये भी पढ़े: stablecoins, Blockchain, Recovery, Terra, Investors, Exchange, Luna
Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »