कुल कार्बन एमिशन का मात्र 0.8% हिस्सा Bitcoin माइनिंग से, नोट की प्रिंटिंग का योगदान ज्यादा

स्टडी ऐसे समय में समाने आई है, जब भारत, रूस और अमेरिका जैसे देश रेगुलेटरी स्ट्रक्टर को लाने के लिए क्रिप्टो सेक्टर का हर संभव तरीके से विश्लेषण कर रहे हैं।

कुल कार्बन एमिशन का मात्र 0.8% हिस्सा Bitcoin माइनिंग से, नोट की प्रिंटिंग का योगदान ज्यादा

स्टडी का दावा है कि फिएट करेंसी की प्रिंटिंग में होने वाले उत्सर्जन का अनुमान लगभग 8Mt प्रति वर्ष लगाया गया है

ख़ास बातें
  • ग्लोबल Bitcoin माइनिंग ने 2021 में 42 मेगाटन CO2 उत्सर्जित किया
  • चीन ने 2016 में 11,580Mt CO2 उत्सर्जित किया
  • नोट की प्रिंटिंग के कारण होने वाले उत्सर्जन का अनुमान 8Mt प्रति वर्ष है
विज्ञापन
क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग (Cryptocurrency mining) से होने वाली अत्यधिक बिजली-खपत को लेकर दुनिया के कई देशों ने चिंता जताई है। हालांकि, रिसर्च प्लेटफॉर्म CoinShares की नई स्टडी से पता चला है बिटकॉइन माइनिंग (Bitcoin mining) ने एक साल में दुनिया के कुल कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) उत्सर्जन में मात्र 0.8 प्रतिशत का योगदान दिया है। स्टडी में दावा किया गया है कि ग्लोबल बिटकॉइन माइनिंग नेटवर्क ने 2021 में 42 मेगाटन (Mt) CO2 उत्सर्जित किया, जिसे एक मामूली आंकड़ा कहा जाता है।

इसे तुलनातमक तरीके से समझाने के लिए इस रिपोर्ट ने चीन और अमेरिका से दर्ज किए गए कार्बन योगदान की मात्रा का इस्तेमाल किया है, जिसके मुताबित, संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन जैसे बड़े औद्योगिक देशों ने 2016 में क्रमशः 5,830Mt और 11,580Mt CO2 उत्सर्जित किया।"

स्टडी ऐसे समय में समाने आई है, जब भारत, रूस और अमेरिका जैसे देश रेगुलेटरी स्ट्रक्टर को लाने के लिए क्रिप्टो सेक्टर का हर संभव तरीके से विश्लेषण कर रहे हैं।

Bitcoin को माइन करने लिए जटिल प्रूफ-ऑफ-वर्क एल्गोरिदम को एडवांस कंप्यूटरों पर हल करने की आवश्यकता होती है। इन मशीनों को हमेशा इलेक्ट्रिकल सोर्स में प्लग करना होता है, जिसके कारण माइनिंग प्रोसेस में बहुत अधिक बिजली की खपत होती है। बिटकॉइन माइनिंग के इस प्रोसेस को एक्सपर्ट्स लंबे समय से भारी कार्बन उत्सर्जक से जोड़ते आए हैं।

बिटकॉइन माइनिंग एक्टिविटी का लगभग 60 प्रतिशत फॉसिल फ्यूल पर चलता है।

CoinShares की स्टडी ने आगे तर्क दिया है कि कार्बन उत्सर्जन के लिए क्रिप्टो माइनिंग को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है, लेकिन पारंपरिक मूल्यवान प्रोडक्ट्स के प्रोडक्शन में उत्पन्न CO2 जांच के दायरे में नहीं आ रहा है।

फिज़िकल (फिएट) करेंसी की मिंटिंग और प्रिंटिंग के कारण होने वाले उत्सर्जन का अनुमान लगभग 8Mt प्रति वर्ष आता है और गोल्ड का उद्योग सालाना 100 से लेकर 145Mt CO2 उत्सर्जन उत्पन्न करता है।

इस रिपोर्ट के नतीजे काफी हद तक अमेरिकी व्यवसायी माइकल सैलर (Michael Saylor) के विचारों से मिलते-जुलते हैं, जो बिजनेस इंटेलिजेंस फर्म MicroStrategy के मालिक हैं।

पिछले महीने बिटकॉइन माइनिंग काउंसिल (BMC) की एक ब्रीफिंग में बोलते हुए सैलर ने BTC माइनिंग के कार्बन उत्सर्जन को "राउंडिंग एरर" कहा था।
 

उन्होंने एलन मस्क (Elon Musk) के खिलाफ Bitcoin का भी बचाव किया था। बता दें, मस्क लंबे समय से पर्यावरण संबंधी चिंताओं का हवाला देते हुए बिटकॉइन की आलोचना करते आए हैं।

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

राधिका पाराशर

राधिका पाराशर के पास Gadgets 360 में वरिष्ठ संवाददाता की पोस्ट है। ये ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. BYD ने एक दिन में की Seal EV की 200 यूनिट्स की डिलीवरी
  2. Lava Yuva 5G इस सप्ताह होगा भारत में लॉन्च
  3. पाकिस्तानी हैकर्स इन मैसेजिंग ऐप्स के जरिए भारत सरकार और डिफेंस की वेबसाइटों को बना रहे हैं निशाना
  4. TCL ने लॉन्च किए 75-इंच साइज तक के कई नए स्मार्ट टेलीविजन मॉडल, कीमत Rs. 15,990 से शुरू
  5. ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA
  6. Xiaomi 14 Civi अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, ट्रिपल रियर कैमरा यूनिट
  7. Comet : पृथ्‍वी की ओर आ रहा धूमकेतु, बिना दूरबीन दिखाई देगा, कब पहुंचेगा? जानें
  8. Samsung Galaxy M35 5G फोन लॉन्‍च, इसमें है 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, 8जीबी रैम, जानें प्राइस
  9. क्रिप्टो मार्केट में तेजी, Bitcoin का प्राइस 72,000 डॉलर से ज्यादा
  10. Realme ने डुअल रियर कैमरा यूनिट के साथ लॉन्च किया Narzo N65 5G
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »