• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • Google Maps को इस व्यक्ति ने दिया चकमा, खाली रास्ते पर भी लगा दिया जाम

Google Maps को इस व्यक्ति ने दिया चकमा, खाली रास्ते पर भी लगा दिया जाम

Google Maps रास्ते में चल रही गाडियों के अंदर रखे यूज़र्स के स्मार्टफोन के डेटा का आंकलन करता है और उस हिसाब से रास्ते में ट्रैफिक की स्थिति प्रदर्शित करता है। इन डेटा में गाड़ी की गति और उस रास्ते में स्मार्टफोन की संख्या आदि शामिल होते हैं।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
Google Maps को इस व्यक्ति ने दिया चकमा, खाली रास्ते पर भी लगा दिया जाम

Google Maps ट्रैफिक की स्थिति का आंकलन यूज़र्स के स्मार्टफोन डेटा से करता है

ख़ास बातें
  • एक व्यक्ति ने 99 फोन को कार्ट में रख बर्लिन की सड़कों में नकली जाम लगाया
  • Google Maps ने सभी फोन के डेटा का आंकलन किया और जाम दिखा दिया
  • गूगल ट्रैफिक की स्थिति दिखाने के लिए स्मार्टफोन डेटा इस्तेमाल करता है
Google Maps को एक व्यक्ति ने अपनी होशियारी से बड़ी आसानी से बेवकूफ बना दिया। यदि यूट्यूब में देखी गई एक वीडियो को सच माना जाए तो बर्लिन स्थित एक कलाकार ने गूगल मैप्स को इस तरह चकमा दिया कि गूगल मैप्स ने खाली रास्ते में भी ट्रैफिक जाम दिखा दिया। बता दें कि गूगल मैप्स ना केवल दुनियाभर की जगहों के नक्शें दिखाता है, बल्कि रोस्तों में ट्रैफिक की स्थिति भी बताता है। यहां तक की कंपनी अपने कई विज्ञापनों में लोगों को ट्रैफिक की लाइव जानकारी के लिए गूगल मैप्स का इस्तेमाल करने की सलाह देती है। लेकिन शायद आप यह नहीं जानते कि गूगल मैप्स का सिस्टम पूरी तरह से सटीक नहीं है और इसे चमका भी दिया जा सकता है। जी हां, ऐसा एक बर्लिन के व्यक्ति ने कर के दिखाया है। कलाकार बताए जा रहे इस व्यक्ति ने बर्लिन की सड़कों में 99 स्मार्टफोन को एक साथ ढ़ो कर बर्लिन की सड़कों पर नकली ट्रैफिक जाम लगा दिया।

बर्लिन स्थित साइमन वेकर्ट ने इस कारनामे की वीडियो (नीचे देखें) अपने यूट्यूब अकाउंट में पोस्ट की है। वीडियो में दिखाया गया है कि उसने एक छोटी सी कार्ट में 99 स्मार्टफोन को रखा और गूगल के ऑफिस के सामने और बर्लिन की कुछ गलियों में चक्कर लगाए। उसकी हैंड कार्ट में रखे 99 स्मार्टफोन के एक साथ धीमी गती में चलने से Google Maps ने उस रास्ते में ट्रैफिक जाम दिखा दिया, जबकि रास्ता पूरी तरह से खाली था।

बता दें कि Google Maps रास्ते में चल रही गाडियों के अंदर रखे यूज़र्स के स्मार्टफोन के डेटा का आंकलन करता है और उस हिसाब से रास्ते में ट्रैफिक की स्थिति प्रदर्शित करता है। इन डेटा में गाड़ी की गति और उस रास्ते में स्मार्टफोन की संख्या आदि शामिल होते हैं।

यदि किसी रास्ते में ज्यादा संख्या में स्मार्टफोन धीमी गति से चलते हैं तो गूगल इस क्षेत्र में धीमा ट्रैफिक प्रदर्शित कर देता है। यदि स्मार्टफोन की संख्या बहुत ज्यादा हो और गाड़ियों गति बेहद कम हो तो मैप में उस क्षेत्र में ट्रैफिक जाम दिखा दिया जाता है। गूगल ट्रैफिक की स्थिति को रंगों के जरिए प्रदर्शित करती है। यदि ट्रैफिक साफ है तो हरी लाइन दिखाई देती है और धीमी गती की स्थिति में नारंगी और यदि ट्रैफिक जाम है तो गाढ़े लाल (मरून) रंग की लाइन दिखाई देती है।

वेकर्ट की वीडियो में दिखाया गया है कि पहले सड़क का रंग हरा दिखाई दे रहा था और जब उसने 99 स्मार्टफोन के साथ उस सकड़ में धीमी गती में चक्कर लगाए तो मैप में रंग हरे से गाढ़ा लाल हो गया। हालांकि वेकर्ट ने इस ट्रिक की अधिक जानकारी साझा नहीं की। ऐसे में इस वीडियो को पूरी तरह से भरोसेमंद भी नहीं माना जा सकता है। लेकिन यदि यह वीडियो सच है तो गूगल को इसके ऊपर ध्यान देना चाहिये और सिस्टम को सटीक बनाना चाहिए।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com