Xiaomi के Mi Browser Pro समेत भारत सरकार ने बैन किए कई और चीनी ऐप्स

Baidu चीन का अपना सर्च इंज़न है, जो काम करने में गूगल की तरह ही है। जबकि Mi Browser ऐप ज्यादातर शाओमी स्मार्टफोन में प्री-लोडेड आता है।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
Xiaomi के Mi Browser Pro समेत भारत सरकार ने बैन किए कई और चीनी ऐप्स

250 चीनी ऐप्स को भविष्य में बैन कर सकती है भारत सरकार

ख़ास बातें
  • जून में भारत सरकार ने बैन की थी 59 चीनी ऐप्स
  • जुलाई में भारत सरकार ने 47 चीनी ऐप्स पर लगाया प्रतिबंध
  • लेटेस्ट बैन ऐप्स की संख्या व नाम फिलहाल सामने नहीं आए हैं
भारत सरकार द्वारा चीनी ऐप्स का सफाया अब भी ज़ारी है। लेटेस्ट खबर के अनुसार भारत सरकार ने कुछ और चीनी ऐप्स को भारत में बैन कर दिया है, जिसमें Xiaomi का Baidu भी शामिल है। हालांकि, फिलहाल सभी ऐप्स का नाम अभी सामने नहीं आया है। जैसे कि सभी जानते हैं भारत सरकार ने जून के अंत में 59 चीनी ऐप्स को भारत में बैन कर दिया था, जिसमें TikTok, ShareIt, UC Browser, Shein, Club Factory जैसे कई ऐप्स शामिल थे। हालांकि, जून के बाद जुलाई के अंत में भी खबर आई की सरकार ने 47 नई चीनी ऐप्स को भारत में प्रतिबंधित कर दिया है। हालांकि इस बार सरकार ने पिछली बार की तरह यह ऐलान सार्वजनिक नहीं किया। बताया गया था कि दूसरी बार बैन किए गए ज्यादातर ऐप पहले बैन किए गए ऐप्स के ही क्लोन थे, इस वजह से सरकार ने इन पर भी कार्रवाई की है।

फिलहाल, लेटेस्ट बैन की गई ऐप्स की पूरी लिस्ट सामने नहीं आई है और न ही यह साफ हो पाया है कि असल कितनी ऐप्स को इस बार बैन किया गया है। लेकिन सूत्रों के हवाले से दो ऐप्स के नाम सबसे पहले सामने आ रहे हैं और वो हैं Baidu सर्च ऐप और Xiaomi का Mi Browser Pro। Baidu की बात करें, तो यह चीन का अपना सर्च इंज़न है, जो गूगल की तरह ही काम करता है। जबकि Mi Browser ऐप ज्यादातर शाओमी स्मार्टफोन में प्री-लोडेड आता है। इस बैन के बाद अब कंपनी को अपने नए स्मार्टफोन में इस ऐप को इंस्टॉल करने से रोकना होगा।

जून के अंत में भारत सरकार ने TikTok समेत 59 चीनी ऐप्स को भारत में बैन घोषित कर दिया था, जिसमें ShareIt, UC Browser, Shein, Club Factory, Clash of Kings, Helo, Mi Community, CamScanner, ES File Explorer, VMate, Newsdog जैसे कई ऐप्स शामिल थे। सरकार का दावा था कि ये सभी ऐप्स कुछ इस तरह की गतिविधियों में शामिल थे, जिससे देश की संप्रभुता और अखंडता, देश की सुरक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था आदि के लिए खतरा उत्पन्न हो सकता था। डेटा सिक्योरिटी और यूज़र प्राइवेसी के चलते सरकार ने 59 ऐप्स को प्रतिबंधित कर दिया था।

हालांकि, चीनी ऐप्स को बैन करने का यह सिलसिला यहां थमा नहीं इसके बाद सरकार ने जुलाई के अंत में भी कुछ ऐप्स को बैन किया था, हालांकि इसकी जानकारी पहले की तरह सार्वजनिक नहीं की गई थी। दूसरी बार सरकार ने पिछली बैन हुई ऐप्स जैसी ही दूसरी क्लोन 47 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया था। तब कहा गया था कि अभी 250 और चीनी ऐप्स पर गाज़ गिरने वाली है, जिसमें PUBG जैसे पॉपुलर गेमिंग ऐप भी शामिल है।
 
 
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

गैजेट्स 360 स्टाफ मैं भी गैजेट्स 360 के लिए ही काम करता/करती हूं, लेकिन नाम नहीं ... और भी »
पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
गैजेट्स 360 स्टाफ को संदेश भेजें
* से चिह्नित फील्ड अनिवार्य हैं
नाम: *
 
ईमेल:
 
संदेश: *
 
2000 अक्षर बाकी
 
 
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com