• होम
  • इंटरनेट
  • ख़बरें
  • IBM अब 7 हजार से ज्यादा जॉब्स पर लोगों के बजाए मशीनों (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) से लेगी काम!

IBM अब 7 हजार से ज्यादा जॉब्स पर लोगों के बजाए मशीनों (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) से लेगी काम!

आर्टिफिशिअल इंटेलीजेंस (AI) यानि कि कृत्रिम बुद्धि की मदद से अब कंपनियां वर्कफोर्स को घटाने की राह पर चल पड़ी हैं।

IBM अब 7 हजार से ज्यादा जॉब्स पर लोगों के बजाए मशीनों (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस) से लेगी काम!

IBM ने हाल ही में 5000 लोगों की छंटनी की थी।

ख़ास बातें
  • IBM ने आने वाले सालों में नए कर्मचारियों की भर्ती को रोकने का फैसला किया
  • कर्मियों की भर्ती की बजाय वह AI का इस्तेमाल इनकी जगह करेगी
  • 5 सालों में कंपनी में AI 30% नौकरियों की जगह ले लेगा
विज्ञापन
टेक कंपनी IBM ने आने वाले सालों में नए कर्मचारियों की भर्ती को रोकने का फैसला किया है। कंपनी का कहना है कि नए कर्मियों की भर्ती की बजाय वह AI का इस्तेमाल इनकी जगह करेगी। यानि कि जिस काम के लिए कंपनी पहले कर्मचारियों को रखती थी, अब वह काम AI कर दिया करेगा। इंटरनेशनल बिजनेस मशीन (IBM) कॉर्पोरेशन के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर ने कथित तौर पर यह बात कही है। कंपनी AI के विकास पर फोकस करेगी और आने वाले कुछ सालों में कंपनी में AI 30% नौकरियों की जगह ले लेगा। 

आर्टिफिशिअल इंटेलीजेंस (AI) यानि कि कृत्रिम बुद्धि की मदद से अब कंपनियां वर्कफोर्स को घटाने की राह पर चल पड़ी हैं जिसका संकेत टेक दिग्गज IBM ने दे दिया है। Bloomberg की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर अरविंद कृष्णा ने कहा है कि अगले 5 सालों में कंपनी अपनी 30% नौकरियों की जगह AI को दे देगी। इसके लिए अभी से भर्तियों को रोकने का संदेश कंपनी की ओर से दे दिया गया है। सीईओ के अनुसार 7,800 नौकरियां इससे प्रभावित होंगीं। क्योंकि मानव संसाधन की जगह वहां पर आर्टिफिशिअल इंटेलिजेंस से आसानी से काम लिया जा सकता है। 

इनमें बैक ऑफिस की जॉब्स या HR की जॉब्स के शामिल होने की बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक IBM ने हाल ही में 5000 लोगों की छंटनी की थी। आने वाले समय में कंपनी 7000 अन्य कर्मचारियों को कम करने पर विचार कर रही है। यहां पर ऐसे लोगों की नौकरियों को खत्म करने की बात कही गई है जो एम्पलॉयी को एक डिपार्टमेंट से दूसरे डिपार्टमेंट में भेजने का काम देखते हैं, या फिर जो कर्मचारी सिर्फ लैटर वैरिफिकेशन जैसा काम करते हैं। 

हालांकि कंपनी ने भविष्य में कर्मचारियों के काम का मूल्यांकन AI के हाथों करवाने से इनकार किया है। चूंकि, दुनियाभर में इनफ्लेशन और मंदी का दौर चल रहा है, इसलिए कंपनी ने यह कदम बचत करने और लागत को घटाने के लिए उठाया है। AI को आए अभी कुछ महीने ही बीते हैं, लेकिन इसने आदमियों की जगह काम करना शुरू कर दिया है। अभी इसका शुरुआती चरण बताया जा रहा है। जैसे-जैसे इसमें एडवांसमेंट बढ़ेगी, दुनियाभर में अधिक से अधिक काम AI के जरिए करवाया जाने लगेगा। जिससे भविष्य में नौकरियों को लेकर चिंता और ज्यादा बढ़ने की बात रिपोर्ट में कही गई है। 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

हेमन्त कुमार

हेमन्त कुमार Gadgets 360 में सीनियर सब-एडिटर हैं और विभिन्न प्रकार के ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. Samsung के Galaxy Z Fold 6, Flip 6 के लिए भारत में प्री-ऑर्डर्स 40 प्रतिशत बढ़े 
  2. Oppo A3X 5G की भारत में इतनी होगी कीमत, लॉन्च से पहले डिजाइन और स्पेसिफिकेशन्स भी लीक
  3. Jio, Airtel, Vi के टैरिफ बढ़ने से BSNL की बल्ले-बल्ले! 25 लाख नए यूजर्स मिले, 2.5 लाख लोग करना चाहते हैं पोर्ट
  4. Nothing Phone 2a Plus इस महीने होगा लॉन्च, सर्टिफिकेशन साइट्स पर हुई लिस्टिंग
  5. भारत के स्मार्टफोन मार्केट में Xiaomi ने दोबारा हासिल किया टॉप स्पॉट
  6. Flipkart GOAT Sale: स्मार्ट टीवी, रेफ्रिजरेटर और एयर कंडीशनर पर डिस्काउंट
  7. Realme RMX3989 के स्पेसिफिकेशंस आए TENAA सर्टिफिकेशंस पर नजर, जानें सबकुछ
  8. क्रिप्टो एक्सचेंज WazirX के साथ हुआ 24 करोड़ डॉलर का स्कैम, विड्रॉल और डिपॉजिट पर रोक
  9. 50MP कैमरा, 12GB रैम के साथ Maimang 30 स्‍मार्टफोन लॉन्‍च, जानें प्राइस
  10. Airtel ने लॉन्‍च किए 51, 101 और 151 रुपये के डेटा बूस्‍टर प्‍लान, मिलेगा अनलिमिटेड 5G
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »