अल-साल्‍वाडोर का IMF को इनकार : Bitcoin का इस्‍तेमाल छोड़ने की सलाह नहीं मानी

IMF ने पिछले हफ्ते सिफारिश की थी कि अल साल्वाडोर 150 मिलियन डॉलर (लगभग 1120 करोड़ रुपये) के ट्रस्ट फंड को भंग कर दे।

अल-साल्‍वाडोर का IMF को इनकार : Bitcoin का इस्‍तेमाल छोड़ने की सलाह नहीं मानी

गौरतलब है कि पिछले साल के आखिर में वैल्‍यू लगभग दोगुनी होने के बाद अब बिटकॉइन के मूल्‍य में गिरावट आ गई है।

ख़ास बातें
  • अल-साल्‍वाडोर का कहना है कि बिटकॉइन ‘संप्रभुता’ का मुद्दा है
  • सरकार का कहना है कि उसने सभी नियमों का पालन किया है
  • राष्ट्रपति नायब बुकेले ने भी सिफारिशों को खारिज कर दिया था
विज्ञापन
जब से अल-साल्‍वाडोर ने बिटकॉइन (Bitcoin) को लीगल करेंसी का दर्जा दिया है, ज्‍यादातर देश उसके इस कदम की आलोचना कर रहे हैं। अमेरिका और यूरोप के कई देश अल-साल्‍वाडोर से अपने फैसले पर विचार करने को कह चुके हैं। हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भी अल-साल्‍वाडोर से बिटकॉइन को कानूनी निविदा के रूप में छोड़ने की सिफारिश की थी। अब वहां की सरकार ने IMF की इस सिफारिश को खारिज कर दिया है। ट्रेजरी मंत्री एलेजांद्रो जेलया (Alejandro Zelaya) ने सख्‍त लहजे में कहा कि ‘कोई भी अंतरराष्ट्रीय संगठन हमें कुछ भी करने के लिए नहीं कह सकता है।' एक लोकल टीवी स्टेशन से बात करते हुए जेलया ने कहा कि बिटकॉइन ‘संप्रभुता' का मुद्दा है। जेलया ने कहा कि उनका देश संप्रभु राष्ट्र हैं और वो अपनी पब्‍लिक पॉलिसी के बारे में खुद फैसला लेते हैं। 

एक न्‍यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, IMF ने पिछले हफ्ते सिफारिश की थी कि अल साल्वाडोर 150 मिलियन डॉलर (लगभग 1120 करोड़ रुपये) के ट्रस्ट फंड को भंग कर दे। इसे तब बनाया गया था, जब देश में क्रिप्टोकरेंसी को लीगल टेंडर घोषित किया गया था। IMF ने अल साल्‍वाडोर से कहा था कि वह इस्‍तेमाल नहीं हो रहे फंड्स को ट्रेजरी में वापस कर दे।

IMF ने बिटकॉइन की कीमतों की अस्थिरता और क्रिप्टोकरेंसी का इस्‍तेमाल करने वाले कई लोगों के क्रिमिनल होने की संभावना पर चिंता व्‍यक्‍त की थी। गौरतलब है कि पिछले साल के आखिर में वैल्‍यू लगभग दोगुनी होने के बाद अब बिटकॉइन के मूल्‍य में गिरावट आ गई है। एक फरवरी की सुबह 10 बजे तक भारत में बिटकॉइन की कीमत 30.73 लाख रुपये थी।

जेलया ने कहा है कि अल सल्वाडोर ने सभी फाइनेंशियल ट्रांजैक्‍शन और मनी लॉन्ड्रिंग के नियमों का पालन किया है। यह भी कहा गया है कि ट्रस्ट फंड का मकसद बिटकॉइन को अमेरिकी डॉलर से बदलने के लिए अनुमति देना था। साथ ही लोगों को डिजिटल करेंसी के लिए प्रोत्‍साहित करना था। 

IMF ने यह भी सिफारिश की थी कि चिवो (Chivo) वॉलेट का इस्‍तेमाल शुरू करने और कंस्‍यूमर्स की सेफ्टी के लिए प्रोत्‍सा‍हन के रूप में 30 डॉलर (लगभग 2,230 रुपये) की पेशकश को खत्‍म कर दिया जाए। मुद्रा कोष ने सुझाव दिया था कि चिवो के इस्‍तेमाल से फायदा सिर्फ डॉलर का उपयोग करके हो सकता है। इसके बाद ही साल्वाडोर के राष्ट्रपति नायब बुकेले ने IMF की सिफारिशों को खारिज कर दिया था।
 

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

गैजेट्स 360 स्टाफ The resident bot. If you email me, a human will respond. और भी
Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. POCO Pad की लॉन्चिंग से पहले 10000mAh बैटरी वाला Redmi Pad Pro इन देशों में हुआ पेश
  2. TCL ने पेश किया दुनिया का पहला फंक्शनल ट्राई-फोल्डेबल फोन, जानें क्या है खास
  3. Vivo X Fold 3 Pro भारत में इस दिन होगा लॉन्च, जानें सबकुछ
  4. iQoo Neo 9S Pro स्मार्टफोन 16GB रैम, 1TB स्टोरेज के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत
  5. Infinix GT 20 Pro की लॉन्च तारीख, अनुमानित कीमत से लेकर फीचर्स और स्पेसिफिकेशंस का खुलासा
  6. Noise Vibe 2 Launched : Rs 1499 में नॉइस ने लॉन्‍च किया पोर्टेबल ब्‍लूटूथ स्‍पीकर
  7. Android 15 से क्या 3 घंटे बढ़ जाएगी बैटरी लाइफ?
  8. Xiaomi ने लॉन्‍च किया 43 इंच का नया स्‍मार्ट TV, FHD रेजॉलूशन, 8GB स्‍टोरेज समेत कई खूबियां
  9. Samsung का बैक टू कैंपस कैंपेन शुरू, 13000 रुपये सस्ते में Samsung Galaxy S24, लैपटॉप पर तगड़ा डिस्काउंट
  10. Bell 212 : इसी हेलीकॉप्‍टर के क्रैश होने से गई ईरानी राष्‍ट्रपति की जान, जानें इसकी एक-एक डिटेल!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »