Chandrayaan-3 के विक्रम लैंडर की Chandrayaan-2 के ऑर्बिटर से हुई ‘बात’, कहा- स्वागत है दोस्त!

Chandrayaan 3 Updates : इसरो ने सोमवार को बताया कि चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर (LM) और चंद्रयान-2 के आर्बिटर के बीच कम्‍युनिकेशन स्‍थापित हुआ है।

Chandrayaan-3 के विक्रम लैंडर की Chandrayaan-2 के ऑर्बिटर से हुई ‘बात’, कहा- स्वागत है दोस्त!

Photo Credit: ISRO

चंद्रयान-3 का लैंडर मॉड्यूल 23 अगस्त की शाम करीब 6 बजकर 4 मिनट पर चंद्रमा की सतह पर उतरने की कोशिश करेगा।

ख़ास बातें
  • चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर और चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर में हुआ कम्‍युनिकेशन
  • इससे इसरो को मौजूदा मिशन में मिलेगी मदद
  • मिशन ऑपरेशंस कॉम्पलेक्स को लैंडर से कनेक्‍ट होने का नया रास्‍ता मिला
विज्ञापन
Chandrayaan 3 Updates : भारतीय स्‍पेस एजेंसी ‘इसरो' (ISRO) ने सोमवार को बताया कि चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर (LM) और चंद्रयान-2 के आर्बिटर के बीच कम्‍युनिकेशन स्‍थापित हुआ है। एक ट्वीट में इसरो ने लिखा कि स्वागत है दोस्त! चंद्रयान-2 आर्बिटर ने औपचारिक रूप से चंद्रयान-3 के लैंडर मॉड्यूल का वेलकम किया। दोनों के बीच टू-वे कम्‍युनिकेशन स्थापित हो गया है। MOX यानी मिशन ऑपरेशंस कॉम्पलेक्स के पास अब लैंडर मॉड्यूल तक पहुंचने के लिए कई रास्‍ते हैं। 

इससे पहले इसरो ने कहा था कि चंद्रयान-3 का लैंडर मॉड्यूल 23 अगस्त की शाम करीब 6 बजकर 4 मिनट पर चंद्रमा की सतह पर उतरने की कोशिश करेगा। गौरतलब है कि चंद्रयान-2 मिशन को साल 2019 में भेजा गया था। उस मिशन में ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर शामिल था। रोवर मौजूद था लैंडर के अंदर। लैंडर चंद्रमा की सतह पर टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। लेकिन ऑर्बिटर अपना काम करता रहा। 

लैंडर के दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह से ही इसरो ने चंद्रयान-3 मिशन की तैयारी शुरू की। यानी जो लैंडर और रोवर साल 2019 में चांद पर नहीं उतर पाए थे, वो लक्ष्‍य अब पूरा हो सकता है। 
 

बहुत मुश्किल है टचडाउन : पूर्व इसरो अध्‍यक्ष 

इसरो के पूर्व अध्यक्ष जी. माधवन नायर ने कहा है कि ‘टचडाउन' बहुत ही जटिल प्रक्रिया है और सभी को सतर्क रहना होगा, क्योंकि इसकी सफलता के लिए जरूरी है कि सभी प्रणाली एकसाथ काम करें। पीटीआई से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि चंद्रयान-2 मिशन के दौरान चंद्रमा की सतह से 2 किलोमीटर ऊपर मिशन में गड़बड़ी आ गई थी। उन्‍होंने कहा कि ऐसी बहुत सी चीजें हैं, जिन्हें एकसाथ काम करना होगा...थ्रस्टर, सेंसर, अल्टीमीटर, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और बाकी सभी चीजें। कहीं भी कोई गड़बड़ी होने पर...हम मुसीबत में पड़ सकते हैं।
 

Luna-25 मिशन के फेल होने से नहीं होगा कोई असर 

रूस के लूना-25 (Luna 25) मिशन की नाकामी का इसरो के चंद्रयान-3 मिशन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। भारत के टॉप स्‍पेस वैज्ञानिकों ने यह कहा है। चंद्रयान-2 मिशन के दौरान इसरो चीफ रहे के. सिवन कहा कि इसका कोई असर नहीं होगा। उनसे पूछा गया था कि रूसी मिशन की नाकामी के बाद क्या इसरो ‘सॉफ्ट लैंडिंग' से पहले दबाव में है।
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

प्रेम त्रिपाठी

प्रेम त्रिपाठी Gadgets 360 में चीफ सब एडिटर हैं। 10 साल प्रिंट मीडिया ...और भी

संबंधित ख़बरें

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. Upcoming Smartphones April 2024: इस हफ्ते लॉन्च होंगे Realme P1, Moto G64, Vivo T3x जैसे धांसू स्मार्टफोन
  2. TCS Hiring: टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने की 10 हजार से ज्यादा फ्रेशर की भर्ती
  3. मेड-इन-इंडिया Citroen e-C3 इलेक्ट्रिक कार इंडोनेशिया में हो रही है एक्सपोर्ट, GNCAP में इसे मिले हैं 0 स्टार!
  4. Samsung के Galaxy A34 5G पर भारी डिस्काउंट, जानें प्राइस, स्पेसिफिकेशंस
  5. WhatsApp Upcoming Feature: स्टेटस अपडेट को सीधा Instagram पर कर सकेंगे शेयर!
  6. 38 घंटों का प्लेबैक बैकअप देने वाले Realme Buds T110 भारत में 15 अप्रैल को होंगे लॉन्च, जानें फीचर्स
  7. Teclast लाई नया टैबलेट T50HD, 11 इंच डिस्प्ले, 14GB तक रैम, 8000mAh बैटरी जैसे हैं फीचर्स!
  8. IPL 2024 : लखनऊ और दिल्‍ली का आईपीएल मैच थोड़ी देर में, ऐसे देखें LIVE
  9. Ferrato Disruptor: 95 kmph की टॉप स्पीड वाली Okaya इलेक्ट्रिक बाइक भारत में जल्द होगी लॉन्च
  10. डिफेंस मिनिस्ट्री ने 97 फाइटर जेट्स के लिए HAL को दिया 65,000 करोड़ रुपये का टेंडर
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »