• होम
  • ऐप्स
  • ख़बरें
  • TikTok पर फर्जी जानकारी वाले वीडियो पर रोक लगाने के लिए आया नया फीचर

TikTok पर फर्जी जानकारी वाले वीडियो पर रोक लगाने के लिए आया नया फीचर

TikTok वेबसाइट के पोस्ट के द्वारा जानकारी दी गई है कि In-App Reporting फीचर यूज़र्स को इजाज़त देता है कि वह ऐप पर ऐसे वीडियो कॉन्टेंट को रिपोर्ट करें, जिसके द्वारा जानबूझकर भ्रामक जानकारी फैलाने की कोशिश की जा रही है।

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
TikTok पर फर्जी जानकारी वाले वीडियो पर रोक लगाने के लिए आया नया फीचर

TikTok प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल फर्जी खबरें फैलाने के लिए हुआ

ख़ास बातें
  • फर्जी खबरों से लड़ेगा TikTok का नया फीचर
  • ऐप के अंदर रिपोर्ट करने की सुविधा दी गई
  • कोरोना वायरस से संबंधित फर्जी खबरों को जांचेगा इंटरनल टास्कफोर्स
TikTok लगातार कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए कोई न कोई कदम उठा रहा है। हाल ही में इस वीडियो मेकिंग प्लेटफॉर्म ऐप ने स्वास्थ्य कर्मचारियों की मदद के लिए मेडिकल इक्यूपमेंट्स के साथ-साथ कुछ पैसे भी डोनेट किया थे। वहीं, अब टिकटॉक ने COVID-19 लॉकडाउन के दौरान फर्जी खबरों के प्रसार को रोकने के लिए एक नया फीचर ज़ारी किया है, इस फीचर का नाम है In-App Reporting । टिकटॉक यूज़र अब ऐसे कॉन्टेंट को ऐप पर रिपोर्ट कर सकते हैं, जिसको देखकर उन्हें महसूस हो रहा है कि वीडियो के जरिए जनबूझकर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही है।

TikTok वेबसाइट के पोस्ट के द्वारा जानकारी दी गई है कि In-App Reporting फीचर यूज़र्स को इजाज़त देता है कि वह ऐप पर ऐसे वीडियो कॉन्टेंट को रिपोर्ट करें, जिसके द्वारा जानबूझकर भ्रामक जानकारी फैलाने की कोशिश की जा रही है। यह हर तरह के वीडियो समाग्री पर लागू होता है, टिकटॉक ने इस फीचर के अंदर “COVID-19 information” नाम की एक सब-कैटेगरी प्रस्तुत की है, जिसके तहत कोविड-19 से जुड़ी किसी भी जानकारी को रिपोर्ट किया जा सकता है।

टिकटॉक यूज़र को यदि ऐसा कोई वीडियो दिखता है, जिसके द्वारा कोविड-19 से संबंधित किसी फर्जी खबर को फैलाया जा रहा है तो इस वीडियो को वह रिपोर्ट कर सकते हैं। वीडियो रिपोर्ट करने के लिए आपको वीडियो के शेयर बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद Report पर टैप करें और फिर Misleading information और फिर COVID-19 misinformation पर टैप करें। यहां आपको वैकल्पिक रिपोर्ट के लिए डिस्क्रिप्शन का भी विकल्प दिखेगा, जहां आप डिस्क्रिप्शन डालकर भी रिपोर्ट कर सकते हैं। यह सब हो जाने के बाद सबमिट पर क्लिक कर दें।

टिकटॉक ने बताया कि जो वीडियो COVID-19 misinformation के तहत रिपोर्ट की जाती है, उसे इंटरनल टास्कफोर्स द्वारा देखा जाता है और थर्ड-पार्टी चेकर को जांच के लिए भेजा जाता है। आपको बता दें, इंटरनल टास्कफोर्स को खासतौर पर कोरोना वायरस के दौरान फर्जी खबरों लड़ने के लिए गठित किया गया है। पोस्ट में जानकारी दी गई है कि फर्जी खबरों को जांचने के लिए उन्होंने विश्वास न्यूज़ द फैक्ट चेकिंग आर्म ऑफ जागरण ग्रुप के साथ साझेदारी की है।

इस फीचर को फेज़ स्तर पर सभी यूज़र तक पहुंचाया जाएगा। Gadgets 360 ने आइफोन के लेटेस्ट वर्ज़न पर इस फीचर जांच की।
आपकी राय

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

पढ़ें: English
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2020. All rights reserved.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com