• होम
  • एआई
  • ख़बरें
  • क्‍या AI हमारे दिमाग को पढ़ सकता है? क्‍या हमें इस बारे में टेंशन होनी चाहिए?

क्‍या AI हमारे दिमाग को पढ़ सकता है? क्‍या हमें इस बारे में टेंशन होनी चाहिए?

AI : क्या तंत्रिका प्रत्यारोपण (neural implants) और जनरेटिव एआई सच में ‘‘दिमाग पढ़ सकते हैं’’? क्या वह दिन आ रहा है जब कंप्यूटर हमारे विचारों की सटीक रियल टाइम ट्रांसक्रिप्‍ट तैयार कर सकेंगे?

क्‍या AI हमारे दिमाग को पढ़ सकता है? क्‍या हमें इस बारे में टेंशन होनी चाहिए?

Photo Credit: Unsplash

विज्ञापन
इस साल की शुरुआत में न्यूरालिंक ने 29 साल के एक अमेरिकी युवक नोलैंड के दिमाग में चिप इंस्‍टॉल की। नोलैंड, कंधे से नीचे लकवाग्रस्त हैं। दिमाग में चिप लगने के बाद नोलैंड माउस के पॉइंटर को स्क्रीन पर घूमा सकते हैं, वह भी सिर्फ कल्‍पना करके। मई 2023 में अमेरिकी रिसर्चर्स ने जेनेरिक एआई के कॉम्‍बिनेशन में ब्रेन स्कैन से किसी के मन में आने वाले शब्दों को ‘‘डीकोड'' करने के लिए एक गैर-आक्रामक तरीके की भी घोषणा की थी। इसी तरह के एक प्रोजेक्‍ट ने ‘‘दिमाग पढ़ने वाले एआई हैट'' का जिक्र करके दुनिया में सुर्खियां बटोरीं। सवाल उठता है कि क्या तंत्रिका प्रत्यारोपण (neural implants) और जनरेटिव एआई सच में ‘‘दिमाग पढ़ सकते हैं''? क्या वह दिन आ रहा है जब कंप्यूटर हमारे विचारों की सटीक रियल टाइम ट्रांसक्रिप्‍ट तैयार कर सकेंगे? 

ऐसी तकनीक के कुछ फायदे हो सकते हैं- विशेष रूप से कंस्‍यूमर टार्गेटिंग डेटा के नए सोर्सेज की तलाश करने वाले एडवरटाइजर्स के लिए- लेकिन यह प्राइवेसी को ध्वस्त कर देगा। हालांकि इससे पहले कि हम घबराएं, हमें यह पूछना बंद कर देना चाहिए : क्या न्‍यूरल इम्‍प्‍लांट्स और जनरेटिव एआई सच में ‘‘दिमाग पढ़ने'' का काम कर सकते हैं? 

जहां तक हम जानते हैं, सचेतन अनुभव (conscious experience ) मस्तिष्क की गतिविधि से उत्पन्न होता है। इसका मतलब यह है कि किसी भी सचेत मानसिक स्थिति में वह होना चाहिए जिसे वैज्ञानिक ‘‘तंत्रिका सहसंबंध'' (“neural correlate”) कहते हैं: मस्तिष्क में सक्रिय होने वाली तंत्रिका कोशिकाओं (न्यूरॉन्स) का एक विशेष पैटर्न। 

तो, प्रत्येक सचेत मानसिक स्थिति के लिए जिसमें आप रह सकते हैं- चाहे वह रोमन साम्राज्य के बारे में सोच रहा हो, या कर्सर को हिलाने की कल्पना कर रहा हो- आपके ब्रेन में गतिविधि का कुछ पैटर्न होता है। अगर कोई इंस्‍ट्रूमेंट हमारे मस्तिष्क की स्थिति को ट्रैक कर सकता है, तो उसे हमारे दिमाग को पढ़ने में भी सक्षम होना चाहिए। बहरहाल, एआई-ऑपरेटेड मन-पढ़ना मुमकिन बनाने के लिए हमें विशेष सचेत मानसिक अवस्थाओं (special conscious mental states) और मस्तिष्क अवस्थाओं के बीच सटीक, आमने-सामने संवाद की पहचान करने में सक्षम होने की जरूरत है। और यह संभव नहीं हो सकता।

ब्रेन की गतिविधि से मन को पढ़ने के लिए, किसी को सटीक रूप से पता होना चाहिए कि मस्तिष्क की कौन सी अवस्थाएं विशेष मानसिक अवस्थाओं के हिसाब से हैं। उदाहरण के लिए, किसी को मस्तिष्क की उन अवस्थाओं में अंतर करने की जरूरत है जो लाल गुलाब को देखने से मेल खाती हैं और उन मस्तिष्क स्थितियों से जो लाल गुलाब को सूंघने या लाल गुलाब को छूने, या लाल गुलाब की कल्पना करने, या यह सोचने से मेल खाती हैं कि लाल गुलाब आपकी मां का पसंदीदा फूल है। 

न्यूरोवैज्ञानिकों को अभी भी केवल एक निश्चित प्रकार के सचेतन अनुभव (conscious experience) के तंत्रिका सहसंबंध (neural correlates) ही मिले होंगे: यानी चेहरे का सामान्य अनुभव। इससे उन्हें विशेष चेहरों के अनुभवों का तंत्रिका संबंधी सहसंबंध नहीं मिल पाता। इसलिए भले ही न्‍यूरोसाइंस में आश्चर्यजनक प्रगति हुई हो, फिर भी मन को पढ़ पाने वाला रीडर मस्तिष्क स्कैन से यह बताने में सक्षम नहीं होगा कि आप बराक ओबामा अपनी मां या किसी ऐसे चेहरे को देख रहे हैं जिसे आप नहीं पहचानते हैं। 

लेकिन एआई के बारे में क्या? तंत्रिका प्रत्यारोपण (nerve transplant) और एआई से जुड़ी हालिया खबरें यह नहीं दिखाती हैं कि कुछ मानसिक अवस्थाएं पढ़ी जा सकती हैं, जैसे कर्सर के हिलने की कल्पना करना और अपने आप से बातें करना? यह समझना कठिन है कि सबसे स्मार्ट एआई के साथ मिलकर, सबसे बढ़िया मस्तिष्क स्कैनर द्वारा निर्मित एक प्रतिलेख, उन सभी को ईमानदारी से कैसे कैप्चर कर सकता है। पिछले कुछ वर्षों में, एआई विकास ने तमाम मुश्किलों को पार करने की प्रवृत्ति दिखाई है। इसलिए एआई-संचालित माइंड-रीडिंग की संभावना को पूरी तरह से खारिज करना नासमझी है। लेकिन हमारे मानसिक जीवन की जटिलता को देखते हुए और हम ब्रेन के बारे में कितना कम जानते हैं - न्‍यूरोसाइंस अभी भी अपनी प्रारंभिक अवस्था में है।
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. Google से मुकाबला! Meta AI भी हिंदी में आया, फेसबुक, इंस्‍टा, वॉट्सऐप यूजर्स कर पाएंगे इस्‍तेमाल
  2. BMW ने भारत में लॉन्च किया इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04, 14 लाख रुपये से ज्यादा का प्राइस
  3. Apple करेगी धमाका! 2026 तक पहला फोल्‍डेबल iPhone लॉन्‍च करने की तैयारी
  4. HMD Crest सीरीज भारत में होगी 25 जुलाई को लॉन्च, Amazon पर होगी उपलब्ध
  5. WhatsApp का तगड़ा फीचर! मोबाइल नंबर शेयर किए बिना कर पाएंगे चैट
  6. Thomson ने लॉन्‍च किए 6 नए लैपटॉप, सबसे सस्‍ता Rs 14,990 का, जानें डिटेल
  7. OTT Report 2024 : 6 महीनों में ओटीटी पर सबसे ज्‍यादा देखी गई यह वेब सीरीज, देखें पूरी लिस्‍ट
  8. Water on Moon : चीनी वैज्ञानिकों को बड़ी कामयाबी! चंद्रमा से लाए सैंपल में खोजा ‘पानी’
  9. Apple का पहला फोल्डेबल होगा iPhone Flip, यहां जानें सबकुछ
  10. Xiaomi 14T Pro के कैमरा डिटेल्स का खुलासा, 50MP प्राइमरी लेंस के साथ ग्लोबली देगा दस्तक
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »