Starship : दुनिया का सबसे भारी रॉकेट फ‍िर उड़ने को तैयार, Elon Musk ने बताया प्‍लान

Starship new flight : रिपोर्टों के अनुसार, 3 से 5 सप्‍ताह में स्‍टारशिप रॉकेट को चौथी बार परीक्षण के लिए लॉन्‍च किया जा सकता है।

Starship : दुनिया का सबसे भारी रॉकेट फ‍िर उड़ने को तैयार, Elon Musk ने बताया प्‍लान

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में स्‍टारशिप रॉकेट को तीसरी बार टेस्‍ट किया गया था और वह टेस्‍ट लगभग कामयाब रहा था।

ख़ास बातें
  • दुनिया के सबसे हैवी रॉकेट को फ‍िर किया जाएगा टेस्‍ट
  • स्‍टारशिप रॉकेट को चौथी बार उड़ाने की तैयारी
  • यही रॉकेट ए‍क दिन मंगल ग्रह का सफर करेगा पूरा
विज्ञापन
दुनिया का सबसे भारी रॉकेट स्‍टारशिप (Starship) एक बार फ‍िर लॉन्‍च टेस्‍ट के लिए तैयार हो रहा है। रिपोर्टों के अनुसार, 3 से 5 सप्‍ताह में इसे चौथी बार परीक्षण के लिए लॉन्‍च किया जा सकता है। खुद एलन मस्‍क ने इसकी तस्‍दीक की है। वह स्‍टारशिप को बनाने वाली स्‍पेसएक्‍स (SpaceX) के मालिक हैं। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, एक सवाल के जवाब में मस्‍क ने कहा कि आने वाले लॉन्‍च का मकसद यह है कि स्‍टारशिप पिछली बार से ज्‍यादा हीट जनरेट करे। गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में स्‍टारशिप रॉकेट को तीसरी बार टेस्‍ट किया गया था और वह टेस्‍ट लगभग कामयाब रहा था। स्‍टारशिप ने अपने टेस्‍ट फ्लाइट पूरी की थी, लेकिन आखिरी समय में कंट्रोल रूम से उसका संपर्क टूट गया। 

What is Starship 

स्टारशिप एक रीयूजेबल रॉकेट है। इसमें मुख्‍य रूप से दो भाग हैं। पहला है- पैसेंजर कैरी सेक्‍शन यानी जिसमें यात्री रहेंगे, जबकि दूसरा है- सुपर हैवी रॉकेट बूस्‍टर। स्‍टारशिप और बूस्‍टर को मिलाकर इसकी लंबाई 394 फीट (120 मीटर) है। जबकि वजन 50 लाख किलोग्राम है। जानकारी के अनुसार, स्टारशिप रॉकेट 1.6 करोड़ पाउंड (70 मेगान्यूटन) का थ्रस्ट उत्पन्न करने में सक्षम है। यह नासा के स्पेस लॉन्च सिस्टम (SLS) रॉकेट से लगभग दोगुना अधिक है। 

क्‍या काम करेगा स्‍टारशिप? 

वैज्ञानिकों का मानना है कि स्‍टारशिप रॉकेट की मदद से भविष्‍य में इंसानों और जरूरी साजो-सामान को चंद्रमा और मंगल ग्रह तक ले जाया जा सकेगा। ऐसा हुआ तो इंसान पृथ्‍वी तक सीमित ना रहकर म‍ल्‍टीप्‍लैनेटरी प्रजाति बन जाएगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी, आर्टिमिस मिशन के तहत इंसानों को चांद पर भेजने की योजना बना रही है। चांद के बाद मंगल ग्रह पर इंसानों को भेजने की योजना है। अगले कुछ दशकों को इस प्‍लान को पूरा करने के लिए स्‍टारशिप जैसे रॉकेट बहुत काम आ सकते हैं। 

एलन मस्‍क बता चुके हैं कि स्‍टारशिप रॉकेट आख‍िरकार 500 फीट ऊंचा होगा। यह मौजूदा वक्‍त में टेस्‍ट किए जा रहे स्‍टारशिप रॉकेट से 20 फीसदी ज्‍यादा है। मार्स (मंगल) मिशन को ध्‍यान में रखते हुए स्‍टारशिप का आकार बढ़ाया जाएगा।  

 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

प्रेम त्रिपाठी

प्रेम त्रिपाठी Gadgets 360 में चीफ सब एडिटर हैं। 10 साल प्रिंट मीडिया ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

विज्ञापन

#ताज़ा ख़बरें
  1. मोबाइल सेवाएं होंगी और बेहतर! 96 हजार 238 करोड़ रुपये के स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी शुरू, Jio, Airtel, Vi मैदान में
  2. Samsung Galaxy Z Fold 6, Galaxy Flip 6 के प्री-रिजर्वेशन 26 जून से होंगे शुरू!
  3. Samsung Music Frame 120W वायरलेस स्पीकर लॉन्च, वॉयस एसिस्टेंट के साथ शानदार फीचर्स से लैस
  4. OnePlus Nord CE4 Lite फोन Snapdragon 695 प्रोसेसर, 5500mAh बैटरी के साथ लॉन्च, कीमत 19,999 रुपये से शुरू
  5. Moto Tag : मोटोरोला लॉन्‍च करेगी ट्रैकिंग डिवाइस, खोया सामान ढूंढने में मिलेगी मदद, Apple से मुकाबला!
  6. BMW का इलेक्ट्रिक स्कूटर CE 04 अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, 129 किलोमीटर की रेंज
  7. Xiaomi Smart Astronomical Telescope: ब्रह्मांड के तारों को हाई-डेफिनेशन में कैप्चर करता है शाओमी का टेलीस्कोप, जानें कीमत
  8. 50MP Sony कैमरा, 8GB रैम वाले iQoo Z9 को Rs. 3,000 सस्ता खरीदने का मौका, जानें पूरी डील
  9. Hero MotoCorp की मोटरसाइकिल्स और स्कूटर्स अगले महीने से हो जाएंगे महंगे
  10. Lenovo का Legion टैबलेट जल्द होगा भारत में लॉन्च, 6,550mAh की बैटरी
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »