शनि ग्रह के छोटे से चंद्रमा के नीचे हो सकता है महासागर, मिले सबूत

मीमास में घुमावदार घूर्णन होता है और वैज्ञानिकों का मानना है कि यह इसके अंदर मौजूद महासागर की वजह से है।

शनि ग्रह के छोटे से चंद्रमा के नीचे हो सकता है महासागर, मिले सबूत

वैसे शनि ग्रह के चंद्रमा की तरह पृथ्‍वी के चंद्रमा पर भी पानी की मौजूदगी के सबूत मिले हैं।

ख़ास बातें
  • यह रिसर्च इकारस जर्नल में प्रकाशित हुई है
  • शनि का यह चंद्रमा सतह के 14 से 20 मील बर्फ के नीचे पानी को रख सकता है
  • इस ग्रह के 60 से ज्‍यादा चंद्रमा हैं
बृहस्पति के बाद हमारे सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह शनि (Saturn) है। इसने हमेशा वैज्ञानिकों और शौकिया खगोलविदों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। शनि के चारों ओर लगे छल्लों को देखकर इसे आसानी से पहचाना जा सकता है। लेकिन इसकी एक और विशेषता है इस ग्रह के 60 से ज्‍यादा चंद्रमा। इन चंद्रमाओं में से एक ने हाल में वैज्ञानिकों की जिज्ञासा को जगाया है। एक नई रिसर्च के अनुसार, इस ग्रह की परिक्रमा करने वाले एक छोटे से चंद्रमा मीमास (Mimas) की जमी हुई सतह के नीचे एक महासागर छिपा हो सकता है।

मीमास में घुमावदार घूर्णन होता है और वैज्ञानिकों का मानना है कि यह इसके अंदर मौजूद महासागर की वजह से है। हालांकि महासागरों वाले बाकी चंद्रमाओं से उलट मीमास की सतह पर ऐसा कोई निशान नहीं है, जो इसके नीचे महासागर का संकेत देता है। यह रिसर्च इकारस जर्नल में प्रकाशित हुई है। रिसर्चर एलिसा रोडेन और उनके सहयोगी मैथ्यू वॉकर ने महसूस किया कि यह चंद्रमा अपनी सतह के 14 से 20 मील बर्फ के नीचे पानी को रख सकता है।

बर्फीले उपग्रहों की जियोफ‍िजिक्‍स के स्‍पेशलिस्‍ट और नासा के नेटवर्क फॉर ओशन वर्ल्ड्स रिसर्च कोऑर्डिनेशन नेटवर्क के को-लीडर रोडेन ने कहा कि मीमास की सतह पर गड्ढा है। उन्‍हें और उनके सहयोगी को लगता है कि यह बर्फ का जमा हुआ टुकड़ा है। उनकी रिसर्च ने हमारे सौर मंडल और उसके बाहर एक संभावित रहने लायक दुनिया की धारणा को और मजबूत बना दिया है। 

उनका कहना है कि मीमास में महासागर या समुद्र की मौजूदगी को परखने से रिसर्चर्स को शनि ग्रह के बाकी चंद्रमाओं को भी बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी।

वैसे शनि ग्रह के चंद्रमा की तरह पृथ्‍वी के चंद्रमा पर भी पानी की मौजूदगी के सबूत मिले हैं। चंद्रमा पर गए चीन के Chang'e 5 लुनर लैंडर ने वहां पानी से जुड़े अहम सबूत की खोज की है। इस लैंडर ने चंद्रमा की सतह पर पानी से जुड़ा पहला ऑन-साइट सबूत पाया है। यह बताता है कि आखिर पानी की मौजूदगी के बाद भी चंद्रमा सूखा क्‍यों है। 

पीयर-रिव्यू जर्नल साइंस एडवांस में पब्‍लिश हुई स्‍टडी से पता चला है कि चंद्रमा की लैंडिंग साइट पर मौजूद मिट्टी में 120 भाग-प्रति-मिलियन (ppm) पानी है। यानी एक टन मिट्टी में 120 ग्राम पानी है। हल्की और वेसिकुलर चट्टान में यहां पानी की मात्रा 180ppm है। यह पृथ्‍वी की तुलना में बहुत कम है। इस वजह से चंद्रमा अधिक शुष्क है।
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

गैजेट्स 360 स्टाफ The resident bot. If you email me, a human will respond. और भी
Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. आधे दामों में नए AC खरीद घर को बनाएं शिमला, 45 हजार वाला AC 23 हजार में
  2. 9 हजार से सस्ते में लॉन्च हुआ Vivo Y01, मिलेगी 5000mAh बैटरी और MediaTek Helio P35 प्रोसेसर समेत खास फीचर्स
  3. 28 दिनों तक डेली 1GB डाटा और अनलिमिटिड कॉलिंग वाला Airtel का सस्ता प्लान, जानें कीमत
  4. मंगल पर कभी था जीवन? वैज्ञानिकों ने स्टडी किया 1.3 अरब साल पुराना उल्का पिंड
  5. महाराष्ट्र को मिला 50 इंटर-सिटी इलेक्ट्रिक बसों का तोहफा, पहली बस 1 जून को होगी रवाना
  6. 22 हजार वाला स्मार्टफोन मात्र 7 हजार से कम में खरीदने का मौका, 108MP कैमरा और 8GB RAM जैसे फीचर्स
  7. दिल्ली में अब कैसे छोड़ या ले पाएंगे बिजली सब्सिडी, जानें ऑनलाइन तरीका, चूक गए तो पूरा आएगा बिल
  8. मंगल ग्रह पर एलियंस के दरवाजे तक पहुंचा Nasa का रोवर! जानें क्‍या है पूरा सच
  9. वैज्ञानिकों ने की चांद की मिट्टी पर की पौधे उगाने की कोशिश, नतीजे देख रह गए हैरान!
  10. रविवार 15 मई को होने जा रहा पूर्ण चंद्र ग्रहण, 'ब्लड मून' अनोखी खगोलीय घटना को ऐसे देखें लाइव
  11. वैज्ञानिकों का दावा अंतरिक्ष में मौजूद हैं न दिखने वाली अदृश्य (इनविजिबल) दीवारें!
  12. 1500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसें दिल्ली में लोगों को कराएंगीं सैर! प्रदूषण मुक्त होगी दिल्ली
  13. 115 km रेंज वाला BGauss D15 इलेक्ट्रिक स्कूटर भारत में लॉन्च, Bajaj Chetak और TVS iQube को देगा टक्कर
  14. 4 इंच का छोटा फोन लॉन्च करेगी Cubot, जानें फीचर्स
  15. WhatsApp Status को चुटकियों में ऐसे करें डाउनलोड
  16. अप्रैल महीने में भारत में लगभग 50 हजार बिके इलेक्ट्रिक टू व्‍हीलर, Ola पहले नंबर पर
  17. Nasa के जेम्‍स वेब टेलीस्‍कोप ने दिखाई काबिलियत, तारों से घिरे आकाश की खूबसूरत इमेज ली
  18. हमारी आकाशगंगा में स्‍टार सिस्‍टम के विस्‍फोट से बन सकता है सुपरनोवा
  19. Bitcoin समेत Crypto मार्केट लाल से हुई हरी, MANA में 50% उछाल!
  20. चीन में कोर्ट ने Bitcoin को माना वर्चुअल एसेट
  21. गर्वनेंस को लेकर डर से ब्लॉक की गई Terra ब्लॉकचेन
  22. 7 दिनों में लोगों का पैसा 0, Terra (Luna) में 100% गिरावट के बाद अब भारतीय एक्सचेंज से भी डी-लिस्ट
  23. क्रिप्टोकरेंसीज में क्यों आई गिरावट और आगे का कैसा हो सकता है रास्ता
  24. Battlegrounds Mobile India में मई 2022 का अपडेट शुरू, नए मैप, मोड और फीचर्स से गेम बना और मजेदार!
  25. सिंगल चार्ज में 300KM चलेगा ये इलेक्ट्रिक स्कूटर, क्रूज कंट्रोल और 90किमी की टॉप स्पीड
  26. एक बार चार्ज करने पर 60 दिन चल सकता है ये शेवर! MIJIA Electric Shaver S600 की जानें कीमत
  27. 50MP कैमरा, 5000mAh बैटरी, Snapdragon 695 5G SoC के साथ Moto G82 5G फोन लॉन्च, जानें कीमत
  28. 50MP कैमरा के साथ Motorola Moto G52j 5G होगा सस्ता 5G स्मार्टफोन, लॉन्च से पहले यहां आया नजर
  29. OnePlus Nord CE 2 Lite Review: वनप्लस फैंस को नहीं करेगा निराश
  30. Vivo Y12s भारत में 5,000mAh बैटरी के साथ लॉन्च, कीमत 10 हजार से कम
#ताज़ा ख़बरें
  1. 115 km रेंज वाला BGauss D15 इलेक्ट्रिक स्कूटर भारत में लॉन्च, Bajaj Chetak और TVS iQube को देगा टक्कर
  2. महाराष्ट्र को मिला 50 इंटर-सिटी इलेक्ट्रिक बसों का तोहफा, पहली बस 1 जून को होगी रवाना
  3. हमारी आकाशगंगा में स्‍टार सिस्‍टम के विस्‍फोट से बन सकता है सुपरनोवा
  4. अप्रैल महीने में भारत में लगभग 50 हजार बिके इलेक्ट्रिक टू व्‍हीलर, Ola पहले नंबर पर
  5. क्रिप्टो हैक्स में से 97 प्रतिशत का निशाना बने DeFi प्रोजेक्ट्स
  6. 9 हजार से सस्ते में लॉन्च हुआ Vivo Y01, मिलेगी 5000mAh बैटरी और MediaTek Helio P35 प्रोसेसर समेत खास फीचर्स
  7. वीडियो गेम्स खेलना बच्चों के लिए नुकसानदायक या फायदेमंद? लेटेस्ट स्टडी आपको कर देगी हैरान
  8. 50MP कैमरा के साथ Motorola Moto G52j 5G होगा सस्ता 5G स्मार्टफोन, लॉन्च से पहले यहां आया नजर
  9. क्रिप्टोकरेंसीज में क्यों आई गिरावट और आगे का कैसा हो सकता है रास्ता
  10. ब्‍लैक होल भी होते हैं कुपोषण का शिकार, Nasa के हबल टेलीस्‍कोप ने खोज निकाला
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2022. All rights reserved.