DeFi सेक्‍टर का सबसे बड़ा बेलआउट, Jump Crypto ने 320 मिलियन डॉलर के Ether टोकन भरे

इस सप्ताह की शुरुआत में वर्महोल को हैक कर लिया गया था। हैकर ने धोखाधड़ी करके 1 लाख 20 हजार टोकन की माइनिंग की, जिसकी कीमत लगभग 322 मिलियन डॉलर (2,410 करोड़ रुपये) थी।

DeFi सेक्‍टर का सबसे बड़ा बेलआउट, Jump Crypto ने 320 मिलियन डॉलर के Ether टोकन भरे

चोरी किए गए फंड को बदलने के बावजूद धोखाधड़ी से बनाई गई क्रिप्टोकरेंसी वजूद में है और उसे क्‍लीन टोकंस हासिल करने के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

ख़ास बातें
  • DeFi के सेक्‍टर में इसे अबतक का सबसे बड़ा ‘बेलआउट’ कहा जा रहा है
  • जंप क्रिप्‍टो ने ट्विटर पर यह डिटेल शेयर की है
  • 1 लाख 20 हजार Ether टोकन को बदल दिया गया है
विज्ञापन
वेंचर कैपिटल फर्म जंप क्रिप्टो (Jump Crypto) ने 320 मिलियन डॉलर (लगभग 2,391 करोड़ रुपये) के Ether टोकन की फ‍िर से पूर्ति कर दी है। ये टोकन हाल में हुई एक हैकिंग में वर्महोल पोर्टल (Wormhole portal) से चोरी हो गए थे। जंप क्रिप्टो के पास Certus One का मालिकाना है, जिसने वर्महोल ब्लॉकचेन ब्रिज डेवलप किया है। चुराई गई पूंजी को बदलने के लिए फर्म ने वर्महोल अकाउंट्स में कुल 1 लाख 20 हजार Ether टोकन जमा किए। डीसेंट्रलाइज्‍ड फाइनेंस (DeFi) के सेक्‍टर में इसे अबतक का सबसे बड़ा ‘बेलआउट' कहा जा रहा है। जंप क्रिप्‍टो ने ट्विटर पर यह डिटेल शेयर की है। 

ट्वीट में कहा गया है कि हमने कम्‍युनटी मेंबर्स के लिए और वर्महोल को सपोर्ट करने के लिए 1 लाख 20 हजार Ether टोकन को बदल दिया है।
वर्महोल पोर्टल लोगों को Ethereum-बेस्‍ड स्मार्ट कॉन्‍ट्रैक्‍ट्स के साथ एक क्रिप्टोकरेंसी से दूसरे में स्विच करने की इजाजत देता है। यह प्लेटफॉर्म इनपुट क्रिप्टोकरेंसी को एक टेंपरेरी इंटरनल टोकन में बदल देता है, जिसे रैप्ड Ether (wETH) कहा जाता है। उसके बाद इसे यूजर्स की जरूरत वाली क्रिप्टोकरेंसी में बदल दिया जाता है। ऐसे पोर्टलों को ‘ब्लॉकचैन ब्रिज' कहा जाता है।

इस सप्ताह की शुरुआत में वर्महोल को हैक कर लिया गया था। हैकर ने धोखाधड़ी करके 1 लाख 20 हजार टोकन की माइनिंग की, जिसकी कीमत लगभग 322 मिलियन डॉलर (2,410 करोड़ रुपये) थी। CoinTelegraph की एक रिपोर्ट के अनुसार हैकर्स ने Ether टोकन के लिए 93,750 wETH को भुनाया, जबकि बाकी को altcoins के लिए स्वैप किया।

चोरी किए गए फंड को बदलने के बावजूद धोखाधड़ी से बनाई गई क्रिप्टोकरेंसी वजूद में है और उसे क्‍लीन टोकंस हासिल करने के लिए इस्‍तेमाल किया जा सकता है। वर्महोल पोर्टल ने अज्ञात हैकरों को 10 मिलियन डॉलर (करीब 75 करोड़ रुपये) का इनाम देने की पेशकश भी की है। हालांकि हैकर्स की ओर से अबतक किसी रेस्‍पॉन्‍स की जानकारी नहीं मिली है। पिछले साल रिसर्च रिपोर्टों से पता चला था कि DeFi प्रोटोकॉल के सेंट्रलाइज्‍ड एलिमेंट हैकर्स की चपेट में हैं।

ब्लॉकचेन रिसर्च फर्म CertiK की एक रिपोर्ट से पता चला है कि साइबर क्रिमिनल्‍स ने 1.3 बिलियन डॉलर (लगभग 9,606 करोड़ रुपये) से अधिक की चोरी की, जिससे DeFi प्रोटोकॉल को भारी नुकसान हुआ।

 

भारतीय एक्सचेंजों में क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

ये भी पढ़े: DeFi, Jump Crypto, Wormhole portal, Ether, Bitcoin, cryptocurency, Crypto
राधिका पाराशर

राधिका पाराशर के पास Gadgets 360 में वरिष्ठ संवाददाता की पोस्ट है। ये ...और भी

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. BYD ने एक दिन में की Seal EV की 200 यूनिट्स की डिलीवरी
  2. Lava Yuva 5G इस सप्ताह होगा भारत में लॉन्च
  3. पाकिस्तानी हैकर्स इन मैसेजिंग ऐप्स के जरिए भारत सरकार और डिफेंस की वेबसाइटों को बना रहे हैं निशाना
  4. TCL ने लॉन्च किए 75-इंच साइज तक के कई नए स्मार्ट टेलीविजन मॉडल, कीमत Rs. 15,990 से शुरू
  5. ISS पर मिशन के लिए भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों को एडवांस ट्रेनिंग देगी NASA
  6. Xiaomi 14 Civi अगले महीने होगा भारत में लॉन्च, ट्रिपल रियर कैमरा यूनिट
  7. Comet : पृथ्‍वी की ओर आ रहा धूमकेतु, बिना दूरबीन दिखाई देगा, कब पहुंचेगा? जानें
  8. Samsung Galaxy M35 5G फोन लॉन्‍च, इसमें है 6000mAh बैटरी, 50MP कैमरा, 8जीबी रैम, जानें प्राइस
  9. क्रिप्टो मार्केट में तेजी, Bitcoin का प्राइस 72,000 डॉलर से ज्यादा
  10. Realme ने डुअल रियर कैमरा यूनिट के साथ लॉन्च किया Narzo N65 5G
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »