ChatGPT में गलती निकालो और 16 लाख रुपये तक जीतो, Open AI ने दिया खुला ऑफर

बग बाउंटी प्रोग्राम नया कॉन्सेप्ट नहीं है। अक्सर, टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनियां प्रोग्रामर्स और एथिकल हैकर्स को अपने सॉफ्टवेयर सिस्टम में बग की रिपोर्ट करने के लिए रिवॉर्ड देती हैं।

ChatGPT में गलती निकालो और 16 लाख रुपये तक जीतो, Open AI ने दिया खुला ऑफर

OpenAI द्वारा विकसित ChatGPT ने इंटरनेट में AI टूल के लिए एक खास क्रेज पैदा कर दिया है

ख़ास बातें
  • OpenAI ने ChatGPT में बग निकालने पर 20 हजार डॉलर तक देने का वादा किया है
  • रिवॉर्ड प्रति बग 200 डॉलर (लगभग 16,412 रुपये) से शुरू होते हैं
  • प्रोग्राम में सिस्टम द्वारा जरनेट गलत या दुर्भावनापूर्ण कंटेंट शामिल नहीं
विज्ञापन
टेक्नोलॉजी जगत में तहलका मचाने वाला चैटबॉट ChatGPT सबकी जबान पर है। लोग इसके जरिए अपनी दुविधाओं का समाधान तो ले ही रहे हैं, साथ ही इसका इस्तेमाल अपनी परिक्षाओं को पास करने या ऑफिस के काम आसान बनाने के लिए भी कर रहे हैं। अब, इसे बनाने वाली फर्म OpenAI ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम में कमजोरियों की रिपोर्ट करने वाले यूजर्स को 20,000 डॉलर (लगभग 16.4 लाख रुपये) तक देने का वादा किया है।

समाचार एजेंसी Reuters के अनुसार, OpenAI ने उन यूजर्स को 20 हजार डॉलर तक देने का वादा कर डाला है, जो इस AI चैटबॉट में बग्स ढूंढ निकालेंगे। बग बाउंटी प्रोग्राम को कल, मंगलवार को लाइव किया गया था। लोगों को उनके द्वारा रिपोर्ट किए गए बग की गंभीरता के आधार पर रिवॉर्ड दिया जाएगा, जिसमें प्रति भेद्यता (vulnerability) 200 डॉलर (लगभग 16,412 रुपये) से शुरू होने वाले रिवॉर्ड शामिल है।

बग बाउंटी प्रोग्राम नया कॉन्सेप्ट नहीं है। अक्सर, टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनियां प्रोग्रामर्स और एथिकल हैकर्स को अपने सॉफ्टवेयर सिस्टम में बग की रिपोर्ट करने के लिए रिवॉर्ड देती हैं। बग बाउंटी प्लेटफॉर्म Bugcrowd पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, OpenAI ने रिसर्चर्स को ChatGPT की कुछ कार्यक्षमता को और OpenAI सिस्टम कैसे संवाद करते हैं और थर्ड-पार्टी के अनुप्रयोगों के साथ डेटा शेयर करते हैं, इसका फ्रेमवर्क रिव्यू करने के लिए आमंत्रित किया है।

इस प्रोग्राम में OpenAI सिस्टम द्वारा निर्मित गलत या दुर्भावनापूर्ण कंटेंट जनरेट करना शामिल नहीं है।

बता दें कि हाल ही में इटली में चैटजीपीटी को प्राइवेसी नियमों के संदिग्ध उल्लंघन के लिए प्रतिबंधित किया गया था। इसके अलावा, इसे चीन में भी बैन कर दिया गया है। चीन में, सभी टेक कंपनियों को उनके प्लेटफॉर्म पर चैटजीपीटी सर्विसेज मुहैया करवाने के लिए बैन कर दिया है।

Microsoft द्वारा समर्थित OpenAI का ChatGPT नवंबर में लॉन्च किया गया था और रिलीज के बाद से ही इसने दुनिया भर में तूफान ला दिया है। ये यूजर्स के सवालों के जवाब सटीक तरह से और बेहद तेजी से देता है। हालांकि, इसने कई गलतियां भी की है, जिसके चलते ये आलोचनाओं के घेरे में भी आया है।

Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

ये भी पढ़े: , ChatGPT AI tool, ChatGPT ban, ChatGPT Bug Bounty Program
नितेश पपनोई Nitesh has almost seven years of experience in news writing and reviewing tech products like smartphones, headphones, and smartwatches. At Gadgets 360, he is covering all ...और भी
Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. चीन ने बना दी इलेक्ट्रॉनिक स्किन! -78 डिग्री तापमान में भी नहीं जमेंगे रोबोट के हाथ
  2. IND vs PAK T20 World Cup: भारत-पाकिस्तान के बीच T20 वर्ल्ड कप महामुकाबला, कब, कहां, कैसे देखें फ्री!
  3. Redmi A3x सस्ता स्मार्टफोन 5000mAh बैटरी, 90Hz डिस्प्ले के साथ लॉन्च, जानें कीमत
  4. Honor 200 सीरीज के लॉन्च से पहले फुल स्पेसिफिकेशन लीक, मिलेगा 50MP डुअल सेल्फी कैमरा!
  5. IIT Job Crisis: IIT के 8 हजार स्टूडेंट्स इस साल बेरोजगार!
  6. 15.5 करोड़ साल पुराने, 6 हाथ वाले अजब जीव की खोज!
  7. AI Anchors के साथ फिर शुरू हो रहा है DD Kisan न्यूज चैनल, अब डिजिटल मानव पढ़ेंगे न्यूज!
  8. Nothing Phone 2a को नए कलर्स में पेश करने की तैयारी
  9. Decathlon BTWIN E-Fold 900 इलेक्ट्रिक साइकिल देती है 55 Km की रेंज, 1 सेकंड में हो जाती है फोल्ड, जानें कीमत
  10. OnePlus Open 2 फोल्डेबल फोन को लेकर सामने आई कई अहम डिटेल्स, फ्लैगशिप चिपसेट के साथ आएगा!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »