• होम
  • सोशल
  • ख़बरें
  • भारत के अंतरिक्ष मिशन पर सवाल उठाने वाले BBC के पुराने वीडियो पर आनंद महिंद्रा ने दिया करारा जवाब

भारत के अंतरिक्ष मिशन पर सवाल उठाने वाले BBC के पुराने वीडियो पर आनंद महिंद्रा ने दिया करारा जवाब

सोशल मीडिया पर खूब शेयर किए जा रहे BBC के इस पुराने वीडियो को आनंद महिंद्रा ने भी शेयर किया और एंकर की बातों का करारा जवाब दिया।

भारत के अंतरिक्ष मिशन पर सवाल उठाने वाले BBC के पुराने वीडियो पर आनंद महिंद्रा ने दिया करारा जवाब
ख़ास बातें
  • आनंद महिंद्रा ने BBC के एक पुराने वीडियो पर कमेंट किया
  • वीडियो में एंकर ने भारत के स्पेस मिशन पर की थी टिप्पणी
  • Chandrayaan-3 की सफल लैंडिंग के बाद से BBC वीडियो जमकर वायरल हो रहा है
विज्ञापन
महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने बीबीसी के एक एंकर की उस पुराने वीडियो फुटेज के लिए कड़ी आलोचना की, जिसमें एंकर ने भारत के अंतरिक्ष मिशन पर सवाल उठाए थे। वीडियो पुराना है, लेकिन बीते बुधवार को च्रंदयान-3 (Chandrayaan-3) की सफल लैंडिंग के बाद से इसे सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है और साथ ही इसमें मौजूद एंकर और साथ ही चैनल की आलोचनाएं भी की जा रही है। वीडियो में एंकर ने भारत के स्पेस मिशन पर यह तर्क देते हुए सवाल उठाया कि देश में करीब 700 मिलियन लोग गरीबी रेखा के नीचे है, तो ऐसे में क्या भारत का स्पेस मिशन पर पैसा खर्च करना सही है?

सोशल मीडिया पर खूब शेयर किए जा रहे BBC के इस पुराने वीडियो को आनंद महिंद्रा ने भी शेयर किया और एंकर की बातों का करारा जवाब दिया। वीडियो में, BBC एंकर ने एक पैनलिस्ट से पूछा, (अनुवादित) "भारत में बुनियादी ढांचे की कमी और व्यापक गरीबी को देखते हुए, क्या भारत को वास्तव में एक अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए धन आवंटित करना चाहिए? 700 मिलियन से अधिक भारतीयों के पास शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाओं तक पहुंच की कमी है, क्या यह आवंटन उचित है?"

X (पूर्व में Twitter) पर आनंद महिंद्रा ने किसी अन्य व्यक्ति द्वारा पोस्ट किए गए इस वीडियो को शेयर किया और अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा, (अनुवादित) "क्या ऐसा है? वास्तविकता यह है कि हमारी गरीबी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा दशकों के औपनिवेशिक वर्चस्व से उत्पन्न हुआ है, जिसने व्यवस्थित रूप से देश के संसाधनों को खत्म कर दिया है।" संपूर्ण उपमहाद्वीप। हालांकि, कोहिनूर हीरे से परे, जो हमसे वास्तव में लूटा गया, वह था हमारा आत्म-सम्मान और हमारी क्षमताओं पर हमारा विश्वास।"
 

उन्होंने आगे कहा, (अनुवादित) "उपनिवेशीकरण का प्राथमिक उद्देश्य - इसका सबसे सूक्ष्म और स्थायी प्रभाव - इसके पीड़ितों में हीनता की भावना पैदा करना है। यही कारण है कि बेहतर स्वच्छता सुविधाओं और अंतरिक्ष अन्वेषण में प्रगति दोनों में निवेश करना विरोधाभासी नहीं है। सर, इसका महत्व हमारी चंद्र खोज हमारे गौरव और आत्म-आश्वासन को फिर से जगाने में उनकी भूमिका में निहित है। वे वैज्ञानिक प्रयासों के माध्यम से प्राप्त प्रगति में हमारे विश्वास को फिर से स्थापित करने में मदद करते हैं। इस तरह की खोज हमें खुद को गरीब परिस्थितियों से ऊपर उठाने के लिए प्रेरित करती है। गरीबी का सबसे गहरा रूप महत्वाकांक्षा की गरीबी है।"

भारत ने बुधवार को शाम करीब 6 बजे एक स्पेस प्रोग्राम में एक नया मील का पत्थर रखा, जब Chandrayaan-3 ने 41 दिनों की यात्रा के बाद चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक कदम रखा। इस उपलब्धि ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अंतरिक्ष यान उतारने वाले दुनिया के पहले देश के रूप में भारत की विशिष्टता को मजबूत किया, और रूस, चीन और अमेरिका के बाद चांद के किसी भी हिस्से में कदम रखने वाला भारत चौथा देश बन गया।
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

नितेश पपनोई Nitesh has almost seven years of experience in news writing and reviewing tech products like smartphones, headphones, and smartwatches. At Gadgets 360, he is covering all ...और भी

संबंधित ख़बरें

Share on Facebook Gadgets360 Twitter ShareTweet Share Snapchat Reddit आपकी राय google-newsGoogle News
 
 

विज्ञापन

Advertisement

#ताज़ा ख़बरें
  1. वैज्ञानिकों ने ब्रह्मांड में ढूंढीं 7 खास जगहें, क्‍या हो सकता है वहां? जानें
  2. PUBG Mobile ने की SSC नॉर्थ अमेरिका के साथ साझेदारी, प्लेयर्स को मिलेगा 482KM स्पीड वाली सुपरकार चलाने का मौका
  3. बिजनेस करने वालों के लिए HMD ने लॉन्‍च किया खास फोन! मिलेगी तगड़ी सिक्‍यो‍रिटी, जानें प्राइस
  4. Samsung Galaxy Book4 Edge की कीमत हुई लीक, जानें सबकुछ
  5. CMF Phone (1) जल्द होगा 50MP कैमरा, 8GB RAM के साथ लॉन्च, जानें सबकुछ
  6. Vivo X Fold 3 Pro भारत में 5700mAh बैटरी, 100W फास्ट चार्जिंग के साथ होगा लॉन्च! Flipkart पर टीज
  7. Motorola Razr, Motorola Razr 50 Ultra के रेंडर्स ऑनलाइन आए नजर, जानें स्पेसिफिकेशंस
  8. Uber कैब कंपनी की बसें भी चलेंगी दिल्ली में! मिली मंजूरी
  9. What is Changhe Z-10 : ऐसा लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर जिसे रूस-चीन मिलकर बना रहे थे, पर बिगड़ गई बात!
  10. 550 प्रकाशवर्ष दूर NASA के Hubble टेलीस्कोप को दिखे तीन नए जन्मे तारे!
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2024. All rights reserved.
ट्रेंडिंग प्रॉडक्ट्स »
लेटेस्ट टेक ख़बरें »