Apple की तुलना में 20 गुना ज्यादा डेटा इकट्ठा करता है Google!

Google के प्रवक्ता का कहना है कि कंपनी ने डेटा की मात्रा को मापने के लिए की गई शोध की कार्यप्रणाली में खामियां पाई हैं और वे दावों से असहमत हैं।

Apple की तुलना में 20 गुना ज्यादा डेटा इकट्ठा करता है Google!

Google इस रिसर्च से असहमत है

ख़ास बातें
  • Google और Apple के डेटा इकट्ठा करने के तरीकों पर एक शोध की गई है
  • शोध से पता चला है कि गूगल ऐप्पल की तुलना में 20 गुना ज्यादा डेटा लेता है
  • गूगल ने इस शोध के तरीकों से असहमती जताई है
Google अपने Android ऑपरेटिंग सिस्टम पर Apple द्वारा iPhone पर इकट्ठा किए गए डेटा की तुलना में 20 गुना ज्यादा डेटा इकट्ठा करता है। ऐसा हम नहीं, एक नई स्टडी कहती है। ट्रिनिटी कॉलेज डबलिन, आयरलैंड के रिसर्चर्स ने उस डेटा की तुलना की, जो एक Pixel फोन ने Google के साथ साझा किया और जो iPhone ने Apple के साथ साझा किया। तुलना में पाया गया कि Google Apple की तुलना में 20 गुना अधिक हैंडसेट डेटा एकत्र करता है। शोध में यह भी पाया गया कि "न्यूनतम रूप से कॉन्फिगर" होने के बावजूद भी पिक्सल और आईफोन मॉडल ने औसतन काफी बार डेटा साझा किया। एक रिपोर्ट के अनुसार, Google रिसर्चर्स द्वारा इस्तेमाल किए गए तरीके से असहमत है।

डगलस जे. लीथ (Douglas J. Leith) और उनकी ट्रिनिटी कॉलेज डबलिन की टीम ने मोबाइल हैंडसेट प्राइवेसी को आज़माने के लिए Google द्वारा बनाए गए Pixel फोन और  Apple द्वारा बनाए गए iPhone को आमने-सामने रखा और यह पता लगाया कि कौन अपने फोन से ज्यादा डेटा इकट्ठा करता है। इस रिसर्च में पाया गया कि Pixel और iPhone दोनों मॉडल्स ने अपने संबंधित निर्माताओं के साथ औसतन हर 4.5 मिनट में डेटा साझा किया। एकत्र किए गए डेटा में IMEI, हार्डवेयर सीरियल नंबर, सिम सीरियल नंबर और IMSI, हैंडसेट फोन नंबर समेत अन्य कई जानकारियां शामिल थी।

जब कोई यूज़र इन दोनों स्मार्टफोन में पहली बार सिम डालता है, तो Google और Apple दोनों के फोन कंपनी को डेटा भेजते हैं। यह पाया गया कि iOS आस-पास के डिवाइस के मैक एड्रेस साथ ही उनके जीपीएस लोकेशन को Apple के साथ साझा करता है। iOS यूज़र्स के लिए इससे बचने के लिए किसी प्रकार का विकल्प मौजूद नहीं है। यदि लॉग इन नहीं किया गया है, उस स्थिति में भी दोनों फोन IMEI, हार्डवेयर सीरियल नंबर, सिम सीरियल नंबर और फोन नंबर अपने निर्माताओं को भेजते हैं। स्टडी के अनुसार, यहां गूगल एक कदम आगे निकलता है और कंपनी को Android आईडी, रीसेटेबल डिवाइस आइडेंटिफायर या एड आईडी और DroidGuard Key भी भेजता है। इसकी तुलना में, Apple केवल UDID और Ad ID एकत्र करता है।

लॉग इन न होने पर भी Apple यूज़र्स की लोकेशन एकत्र करता है, साथ ही स्थानीय IP एड्रेस भी लिया जाता है। जबकि Google ने  ऐसा नहीं किया। Google ने वाई-फाई मैक एड्रेस एकत्र किया, जबकि Apple ने ऐसा नहीं किया। दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम तब भी टेलीमेट्री डेटा भेजते हैं, जब यूज़र्स ने इनके लिए ऑप्ट-आउट किया होता है। स्टार्टअप के 10 मिनट के भीतर, Google लगभग 1MB डेटा एकत्र करता है, जबकि Apple 42KB डेटा एकत्र करता है। जब फोन को निष्क्रिय छोड़ दिया जाता है, तो Google हर 12 घंटे में 1MB डेटा एकत्र करता है, जबकि Apple 52KB डेटा एकत्र करता है।

रिसर्च को सबसे पहले देखने वाले Arstechnica की रिपोर्ट एक Google प्रवक्ता का हवाला देते हुए बताती है कि कंपनी इस शोध की पद्धति से असहमत है।

कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि कंपनी ने डेटा की मात्रा को मापने के लिए की गई शोध की कार्यप्रणाली में खामियां पाई हैं और वे दावों से असहमत हैं। प्रवक्ता ने आगे बताया कि यह शोध काफी हद तक स्मार्टफोन के काम करने के तरीके को बताते हैं। उन्होंने उदाहरण दिया कि आधुनिक कार भी नियमित रूप से कार निर्माताओं को गाड़ी के कंपोनेंट्स, उनकी सुरक्षा स्थिति और सेवा शेड्यूल के बारे में बुनियादी डेटा साझा करती हैं और मोबाइल फोन भी समान तरीके से काम करते हैं।
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

पढ़ें: English
Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. PUBG: New State के भारत लॉन्च को लेकर Krafton का बड़ा बयान, कहा भारत में...
  2. Dogecoin क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में 1 हफ्ते में 400 पर्सेंट का उछाल, जानें मौजूदा कीमत
  3. सूरज से चार्ज होगी Toyota की नई इलेक्ट्रिक SUV कार, डिज़ाइन भी है धांसू
  4. सिंगल चार्ज में 95 किलोमीटर चलने वाला Bajaj Chetak Electric अब इन 2 शहरों में भी बुकिंग के लिए होगा अवेलेबल
  5. सिंगल चार्ज में 100 किलोमीटर चलने वाली Made in India इलेक्ट्रिक साइकल लॉन्च, जानें कीमत और खासियतें
  6. Vivo Y91 की कीमत हुई कम, जानें नया दाम
  7. WhatsApp Status को चुटकियों में ऐसे करें डाउनलोड
  8. PUBG Mobile Lite को नए हथियारों के साथ मिला अपडेट, मैप में भी हुए बदलाव
  9. PUBG: New State vs PUBG Mobile: पुराने गेम से कितना अलग होगा नया PUBG गेम
  10. Oppo A15s को मिला 4 जीबी रैम + 128 जीबी स्टोरेज वेरिएंट, जानें कीमत
#ताज़ा ख़बरें
  1. सिंगल चार्ज में 1 हजार किलोमीटर चलेगी ये कार, फोन छोड़ Huawei ने पेश की अपनी पहली इलेक्ट्रिक SUV
  2. 43 इंच 4K स्मार्ट TV भारत में अगले महीने लॉन्च करेगा Realme
  3. Amazon Fire TV Cube (2nd Gen) हैंड-फ्री Alexa के साथ भारत में लॉन्च, कीमत Rs 12,999
  4. 64MP कैमरा के साथ Samsung Galaxy F52 5G के स्पेसिफिकेशन ऑनलाइन लीक, जल्द हो सकता है लॉन्च
  5. 90Hz डिस्प्ले व 5,000mAh बैटरी के साथ Tecno Spark 7P भारत में लॉन्च, जानें अन्य खूबियां
  6. Sony ने भारत में 75इंच स्मार्ट एंड्रॉयड TV किया लॉन्च, कीमत 59,990 रुपये से शुरू...
  7. 5,000mAh बैटरी व 4GB रैम के साथ Poco M2 Reloaded भारत में लॉन्च, कीमत 9,499 रुपये
  8. Audi ने इलेक्ट्रिक सेगमेंट में पेश की नई दमदार कार, सिंगल चार्ज में चलेगी 700 किलोमीटर
  9. 64MP कैमरा व 8GB तक की रैम के साथ Vivo लाएगा दो नए फोन, तस्वीर व स्पेसिफिकेशन लीक!
  10. 2 साल तक की वॉरंटी के साथ आया 44MP पॉप-अप सेल्फी कैमरे वाला ये Lenovo Legion Phone 2 Pro फोन
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2021. All rights reserved.
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com