• होम
  • अन्य
  • रिव्यू
  • iRobot Roomba j7+ रोबोट वैक्‍यूम क्‍लीनर रिव्‍यू : प्रीमियम फीचर्स के साथ लगता है थोड़ा महंगा

iRobot Roomba j7+ रोबोट वैक्‍यूम क्‍लीनर रिव्‍यू : प्रीमियम फीचर्स के साथ लगता है थोड़ा महंगा

इसका ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम काफी प्रभावित करता है और इसे प्रीमियम भी साबित करता है।

iRobot Roomba j7+ रोबोट वैक्‍यूम क्‍लीनर रिव्‍यू : प्रीमियम फीचर्स के साथ लगता है थोड़ा महंगा

iRobot Roomba j7+ की भारत में कीमत 74,990 रुपये है।

ख़ास बातें
  • कंपनी के अनुसार, डिवाइस सिंगल चार्ज में 75 मिनट चल सकता है
  • इस सेगमेंट कई डिवाइसेज क्लीनिंग और मॉपिंग के साथ आ रहे हैं
  • इसका ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम काफी प्रभावित करता है
iRobot का नाम रोबोट वैक्यूम क्लीनर सेगमेंट में बहुत पुराना है। कंपनी की Roomba लाइनअप लम्बे समय तक पूरी प्रोडक्ट कैटिगरी के साथ जुड़ी रही। इसके कारण बहुत से लोग रोबोट क्लीनर को Roomba ही कहने लगे। अब चीजें बदल गई हैं, खासकर भारत में जहां ज्यादा अफॉर्डेबल और मल्टीफंक्शनल ऑप्शन Xiaomi और Milagrow जैसे ब्रैंड्स की ओर से पेश किए जा रहे हैं और लोगों का ध्यान खींच रहे हैं। हालांकि iRobot अभी भी अपनी मौजूदगी जता रहा है और इसकी प्रोडक्ट रेंज भारत में अधिकारिक रूप से उपलब्ध है, जिसमें नया Roomba j7+ रोबोट वैक्यूम क्लीनर भी शामिल है। 

iRobot Roomba j7+ की कीमत 74,900 रुपये है और यह कंपनी की Roomba रेंज में सबसे महंगा और एडवांस्ड प्रोडक्ट है। सेल्स पैकेज में क्लीन बेस ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम के साथ आता है जो सफाई करने के बाद डिवाइस के डस्टबिन को खाली कर देता है। इस मॉडल में कंपनी ने नेविगेशन, चीजों को ढूंढने और नजरअंदाज करने की क्षमता में और ज्यादा सुधार किया है। क्या यह बेस्ट वैक्यूम क्लीनर है जो आप खरीद सकते हैं? इस रिव्यू में पता करते हैं। 
irobot
 

iRobot Roomba j7+ का डिजाइन

बहुत से ब्रैंड्स रोबोट क्लीनर में वैक्यूम क्लीनिंग और मॉपिंग को एक ही डिवाइस में रख देते हैं लेकिन Roomba j7+ में ऐसा नहीं है। रूम्बा रेंज के प्रोडक्ट्स केवल वैक्यूम क्लीनिंग फंक्शन के साथ आते हैं जबकि Braava रेंज गीला पौंछा (वेट मॉपिंग) जैसे फंक्शंस के साथ आती है, इसलिए यह केवल एक वैक्यूम क्लीनिंग रोबोट है और क्लीन बेस डॉकिंग स्टेशन के साथ आता है। अगर आपके पास एक Braava डिवाइस है तो दोनों एक ही ऐप के माध्यम से काम कर सकते हैं।   

इसका ऑटोमेटिक डर्ट (कूड़ा) डिस्पोज करने वाला सिस्टम iRobot Roomba i3+ के जैसा है, लेकिन डॉकिंग स्टेशन उससे छोटा है। हालांकि काम यह बिल्कुल वैसा ही करता है। रोबोट वैक्यूम से कूड़े को इकट्ठा कर यह अपने आप ही 60 दिनों तक इसके डर्ट बैग में डिस्पोज कर सकता है इससे पहले कि डर्ट बैग को बदलने का समय आए। 

Roomba j7+ और j7 मॉडल (जो फिलहाल भारत में उपलब्ध नहीं है) में केवल एक बड़ा अंतर है कि Roomba j7+ ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल क्लीन बेस डॉक के साथ आता है जबकि j7 में स्टैंडर्ड चार्जिंग डॉक आता है। यह साइज में इसके जैसे ही दूसरे क्लीनर्स के जितना है लेकिन Xiaomi, Milagrow और 360 जैसे ब्रैंड्स से थोड़ा लम्बा दिखता है। 

डिवाइस के टॉप पर एक सिंगल बटन दिया गया है जो डिवाइस को मैन्युअली कंट्रोल करता है, जबकि ज्यादा आसान कंट्रोल वाई-फाई से कनेक्ट करके iRobot Home app के माध्यम से पाए जा सकते हैं। दूसरे डिवाइसेज में खुल सकने वाला टॉप लिड मिलता है लेकिन रूम्बा जे7 में इसकी बजाए एक हटाया जा सकने वाला डस्ट बिन साइड में मिलता है। फ्रंट में लचीला बम्पर दिया गया है ताकि टकराने पर लगने वाले झटकों को यह सहन कर सके। इसके अलावा फ्रंट में प्राइमरी कैमरा और लाइट है जो विजुअल साइमल्टेनिअस लोकलाइजेशन और मैपिंग (VSLAM) नेविगेशन के लिए इस्तेमाल होती है। 

iRobot j7+ सिंगल ब्लैक कलर में उपलब्ध है और चलने के लिए इसमें बॉटम में 3 पहिए हैं, जिनमें से दो मोटर चालित हैं और एक फ्री स्टेबलाइजर की तरह फ्रंट साइड में दिया गया है। नीचे की ओर इसमें सिंगल स्वीपर ब्रश है और एक डबल रोलर ब्रश मेकेनिज्म है जो सक्शन एरिया में कूड़े आदि को खींचने में हेल्प करता है। पैकेज में एक रिप्लेसमेंट स्वीपर ब्रश, डस्ट बिन के लिए HEPA रिप्लेसमेंट फिल्टर और डॉक स्टेशन को पावर आउटलेट से कनेक्ट करने के लिए एक केबल आती है। 
 

iRobot Roomba j7+ नेव‍िगेशन और मैपिंग 

iRobot Roomba j7+ कैमरा आधारित VSLAM नेविगेशन का इस्तेमाल करता है, एक फ्रंट फेसिंग कैमरा इसकी आंख की तरह काम करता है। इसमें एक हेडलाइट भी दी गई है जो डिवाइस के काम करने के समय इसको रास्ता भी दिखाती है। इसकी मदद से यह सटीकता से काम करता है और अंधेरे में भी परेशानी नहीं होती।  

फ्रंट फेसिंग कैमरा के साथ डिवाइस बाकी क्लीनर्स से बेहतर नेविगेशन कर पाती है। यह लिडार बेस्‍ड नेविगेशन के बराबर काम कर लेता है और डाइनिंग टेबल और कुर्सियों के बीच से भी आसानी से सफाई कर लेता है। 
irobot


कैमरा के ज्यादा रेजॉल्य़ूशन और विजिबिलिटी के कारण यह आस पास की जगह को अच्छी तरह से जान लेता है और उसके हिसाब से ही क्लीनिंग करता है। इसलिए एक कमरे से दूसरे कमरे में जाना हो या कमरे के कालीन की सफाई करनी हो, यह आसानी से कर लेता है। डि‍वाइस ने मेरे घर का लेआउट बनाने के लिए कई टेस्ट रन लिए। इसने रूम  के विभाजन को अच्छी तरह से माप लिया ताकि यह रूम के अंदर आसानी से नेविगेट कर सके। 

साधारण शब्दों में कहूं तो नेवि‍गेशन में काफी सुधार हुआ है, दूसरे वैक्यूम डिवाइसेज से यह काफी सुधार में है। कुर्सी, टेबल की टांगों आदि को यह नजर अंदाज कर देता है जिसस टकराव आदि कम हो जाता है। दूसरे रूम का दरवाजा गलती से खुला रहने पर भी यह दूसरे रूम में नहीं गया। कई बार यह निर्देश देने पर भी दूसरे रूम में नहीं गया। इसने पहले अपने रास्ते को फिक्स किया और उसके बाद रूम में गया।  

इसका एक खास फीचर रुकावटों को नजरअंदाज करना और घर में फर्श पर किसी पालतू के मल को भी अनदेखा करना है। मैं पालतू के मल के लिए इसका टेस्ट नहीं कर पाया लेकिन फर्श पर पड़ी केबल, तौलिया और कपड़ों को इसने आसानी से नजरअंदाज कर दिया। 

कई मौकों पर इसने ऐसी चीजों का फोटो लिया और रिव्यू किया, मैंने डिवाइस को निर्देश दिया कि इस एरिया को छोड़ना है या वह वस्तु हटाए जाने पर साफ कर देना है। डिवाइस एक अस्थायी रुकावट और स्थायी रुकावट के बीच अंतर कर लेती है। 
 

iRobot Roomba j7+ ऐप

iRobot Home app से ब्रैंड की सभी डिवाइसेज को कंट्रोल किया जा सकता है। ऐप आसान है और रूम्बा जे 7 के साथ आसानी से काम करता है। इसमें मैपिंग, क्लीनिंग, बैटरी लाइफ के साथ अन्य विजुअल रिप्रेजेंटेशन भी मिलते हैं। घर के वाई-फाई के साथ कनेक्ट होने पर इसे घर के किसी भी कोने से कंट्रोल कर सकते हैं। 

आप अपना फेवरेट क्लीनिंग टास्क भी इसमें सेट कर सकते हैं जैसे पूरा घर या कोई रूम। इसके अलावा आप रोबोट के डस्टबिन को खाली कर सकते हैं, मैप को रूम की सीमाएं सेट करने के लिए बदल भी सकते हैं, नो-गो जोन बना सकते हैं, क्लीन जोन बना सकते हैं और क्लीनिंग शेड्यूल बनाने के साथ साथ डिवाइस की बेसिक सेटिंग्स भी कंट्रोल कर सकते हैं। 
irobot


एक कमी इसमें है कि जब यह काम कर रहा होता है तो मैप इसकी लोकेशन और क्लीनिंग स्टेटस को नहीं दिखाता है। बाद में यह केवल साफ किए गए एरिया को अपडेट करता है, जो कि इस डिवाइस की एकलौती खामी है। ऐप ने रूम को क्लीन करने के टाइम को अच्छे से केल्कुलेट कर लिया। 
 

iRobot Roomba j7+ की क्‍लीनिंग 

दूसरे ब्रांड्स के वैक्यूम क्लीनर सक्शन पावर को खास तौर पर मेंशन करते हैं और आप इसे मोडिफाई भी कर सकते हैं, लेकिन Roomba j7+ इसके उलट चलता है। यह ऑटोमेटिकली केल्कुलेट करता है और तय करता है किसी एरिया को साफ करने के लिए कितनी सक्शन पावर चाहिए होगी। इसके लिए यह धीरे धीरे और सावधानी से आगे बढ़ता है। 

यूजर की तरफ से बस इसे निर्देश देना होता है कि कौन से रूम की सफाई की करनी है, उसके बाद डिवाइस वहीं से सफाई करने चला जाता है। लिडार आधारित 360 S7 मेरे पूरे घर को साफ करने में 35-40 मिनट लेता है लेकिन रूम्बा ने एक घंटा लिया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इसने ज्यादा गहराई से बेहतर सफाई की। 

मैंने पाया कि डिवाइस ज्यादा जिद्दी जगहों पर सक्शन पावर को बढ़ा रहा था लेकिन आवाज इतनी ज्यादा सुनाई नहीं दे रही थी। यह बस थोड़ी देर के लिए ही आवाज कर रहा था। यह कालीनों की काफी अच्छी सफाई करता है और उन पर आसानी से चल पाता है। जबकि दूसरे कई रोबोट क्लीनर उन पर आसानी से नहीं चल पाते है। इसका HEPA फिल्टर 0.1 माइक्रोन के साइज के पार्टिकल को भी कैप्चर कर लेता है, इसलिए यह एलर्जी पैदा करने वाले डस्ट माइट्स के खिलाफ थोड़ी सुरक्षा भी देता है।  

इसकी कनेक्टिविटी स्टेबल थी। जिन कमरों में वाइ-फाई सिग्नल कमजोर था, वहां भी इसने आसानी से सफाई की। इसका मतलब है कि मैंने ऐप के माध्यम से इसको कोई निर्देश नहीं दिया लेकिन फिर भी यह सफाई करने के बाद अपने डॉक स्टेशन पर लौट आया। इसने उन एरिया क्लीनिंग डिटेल्स भी दीं जिनमें मेरे घर के वाई-फाई की कवरेज नहीं है। 
irobot


इसका Clean Base ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम पिछले मॉडल के मुकाबले काफी अच्छा इम्प्रूवमेंट है। यह केवल छोटा और आकर्षक नहीं बल्कि काम भी अच्छा करता है। यह i3+ की अपेक्षा j7+ पर ज्यादा भरोसे से काम करता है। रोबोट का डस्टबिन काफी साफ रखा जाता है, जिसमें कि आदमी का हाथ लगाने की भी जरूरत नहीं पड़ती है। 

इसका डस्ट डिस्पोजल सिस्टम रोबोट के डस्टबिन को खाली करने के लिए वैक्यूम सक्शन का इस्तेमाल करता है, जिसके दौरान कुछ सेकंड तक यह काफी शोर करता है। हालांकि, ये इसे करने में केवल कुछ सेकंड्स का ही वक्त लेता है। कूड़ा एक डिस्पोजेबल डर्ट बैग में इकट्ठा हो जाता है जो क्लीन बेस डॉकिंग स्टेशन में लगा होता है। कंपनी के अनुसार यह 60 दिन तक चल जाता है। बैग फुल होने पर ऐप आपको इसके बारे में बताएगा और आप बैग को हटा कर खाली कर सकते हैं। डिवाइस के साथ में एक अतिरिक्त बैग भी दिया गया है। इसके अलावा 1,660 रुपये में 3 बैग का पैक खरीदा भी जा सकता है। इस कारण लम्बे इस्तेमाल में ये महंगा हो जाता है। 
 

iRobot Roomba j7+ की चार्जिंग और बैटरी लाइफ 

कंपनी के अनुसार, डिवाइस सिंगल चार्ज में 75 मिनट चल सकती है जिसमें यह 1800 स्क्वेयर फीट की सफाई कर सकती है। यह घर के लेआउट और कमरों की एक्सेस पर भी निर्भर करता है। मैं भी इस अनुमान को सही मान सकता हूं कि 75 मिनट का टाइम सही बताया गया है। लेकिन सिंगल चार्ज में यह 1200 स्क्वेयर फीट को साफ करता है जो कि कंपनी के दावे से थोड़ा कम है। प्राइस के हिसाब से इसकी 2,210mAh बैटरी काफी साधारण है।
irobot
 

डिवाइस का बैटरी लेवल जानने का कई तरीका नहीं है क्योंकि ऑपरेशन के दौरान यह बची हुई बैटरी का ग्राफिकल अंदाजा बताता है। यह मेरे घर को सिंगल चार्ज में क्लीन करने के बाद भी कुछ बैटरी बचा लेता था। इससे ज्यादा बड़े एरिया में शायद इसको दोबारा चार्ज करने की जरूरत पड़ सकती है। 

इस तरह की दूसरी डिवाइसेज की तरह, यह डॉकिंग स्टेशन तक अपने रास्ते को खोज लेता है और खुद को चार्ज रखता है। चार्जिंग थोड़ा टाइम लेती है लेकिन वैक्यूम क्लीनर्स के लिए यह सामान्य है। मेरे घर की पूरी सफाई करने के बाद इसने पूरी तरह से चार्ज होने में दो घंटे के लगभग समय लिया। 
 

हमारा फैसला

इस सेगमेंट के कई डिवाइसेज क्लीनिंग और मॉपिंग के साथ आ रही हैं, जिसके हिसाब से iRobot Roomba j7+ 74,900 रुपये में थोड़ा महंगा लगता है। आप मॉपिंग के लिए एक Braava Jet M6 ले सकते हैं। लेकिन तब इन दोनों की कीमत मिलाकर 1,25,000 रुपये हो जाती है और घर में दो डिवाइसेज स्पेस भी ज्यादा घेरती हैं। 

इसका ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम काफी प्रभावित करता है और इसे प्रीमियम भी साबित करता है। इसके इस्तेमाल में आसानी और बेहतर सफाई को देखें तो इसे खरीदा जा सकता है। अगर आपके पास बजट है तो आप इसे देख सकते हैं। अगर आप कोई अफॉर्डेबल ऑप्शन देख रहे हैं तो Milagrow iMap 10.0 और 360 S7 देख सकते हैं। 

कीमत: रु. 74,990
रेटिंग: 8/10

विशेषताएं: 
वैक्यूम सफाई के लिए के बहुत बढि़या
ऑटोमेटिक डर्ट डिस्पोजल सिस्टम अच्छी तरह से काम करता है
सावधानीपूर्ण, सटीक नेविगेशन
इस्तेमाल करने में बहुत आसान

खामियां:
खरीदने और ऑपरेट करने में महंगा है
मैपिंग थोड़ी बेहतर हो सकती है
औसत बैटरी लाइफ
 
Comments

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

अली पार्डीवाला

अली पारदीवाला के पास Gadgets 360 के लिए ऑडियो और वीडियो डिवाइसेज़ के ...और भी

Share on Facebook Tweet Share Snapchat Reddit आपकी राय
 
 

ADVERTISEMENT

Advertisement

#ट्रेंडिंग टेक न्यूज़
  1. ब्राजील के आसमान में 21 UFO का तीन लड़ाकू विमानों ने किया था पीछा, 36 साल बाद सीनेट में हुई चर्चा
  2. Honda के इलेक्ट्रिक स्‍कूटर Benly e की दिखी झलक, जल्‍द हो सकती है लॉन्चिंग
  3. Flipkart Big Bachat Dhamaal Sale: Apple iPhone 13 Mini को 22 हजार तक सस्ती डिस्काउंट कीमत में खरीदें
  4. हैरतअंगेज! अमेरिकी युद्धपोत को 100 UFO ने घेरा! जानें क्‍या है पूरा मामला
  5. लॉन्च से पहले नजर आया Nothing Phone 1 का केस, Flipkart पर 2,000 में प्री-ऑर्डर पास करें हासिल
  6. 22 हजार वाला 32 इंच का बड़ा HD Ready LED Smart TV मात्र 3340 रुपये में खरीदें, Flipkart सेल का आखिरी दिन
  7. डायनासोर को खत्‍म करने वाले एस्‍टरॉयड से भी बड़ा धूमकेतु आ रहा पृथ्‍वी की तरफ, टेंशन में वैज्ञानिक!
  8. Shiba Inu के 22 करोड़ से ज्यादा टोकन 24 घंटे में बर्न, 237% पहुंचा बर्न रेट
  9. चंद्रमा पर ‘कब्‍जा’ करना चाहता है चीन, Nasa के इस बयान पर पड़ोसी देश ने दी यह प्रतिक्रिया
  10. सिंगल चार्ज में 80KM चलेगी Blaupunkt Enno इलेक्ट्रिक बाइक, सस्ते दामों में कर पाएंगे सफर
  11. महज 15 हजार में Black Arrow 700C Bike हुई लॉन्च, जितना मर्जी चलाओं नहीं आएगा कोई खर्च
  12. 5000mAh बैटरी, 3 बैक कैमरा, 4GB रैम के साथ Moto G42 फोन भारत में लॉन्च, जानें कीमत
  13. 100KM का दमदार माइलेज वाली Atum Vader मोटरसाइकिल लॉन्च, पहले 1 हजार ग्राहकों को मिलेगा बड़ा फायदा
  14. सिंगल चार्ज में 115km चलने वाली Morfuns Eole X फोल्डिंग इलेक्ट्रिक बाइक लॉन्च, जानें कीमत
  15. 135 km रेंज देता है Silence S01+ इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानें इसकी कीमत और खूबियां
  16. 60MP सेल्‍फी कैमरा, 100वॉट चार्जिंग के साथ Huawei Nova 10 Pro और Nova 10 फोन लॉन्‍च, जानें प्राइस
  17. अमेरिका के रहस्‍यमयी स्‍पेस प्‍लेन का रिकॉर्ड, ऑर्बिट में पूरे करने वाला है 780 दिन
  18. एलियंस का पता लगाने के लिए Nasa बना रही तैरने वाले रोबोट, इस मिशन पर भेजे जाएंगे
  19. 28 दिनों तक डेली 2GB डेटा, अनलिमिटिड कॉलिंग के साथ Jio का सस्ता प्लान, जानें कीमत
  20. Shiba Inu और Dogecoin से अब इन फूड डिलीवरी कंपनियों में भी होगी पेमेंट
  21. क्‍या 1100 डॉलर तक गिर जाएगी Bitcoin की कीमत, इस निवेशक को है इंतजार
  22. 4K डिस्‍प्‍ले, 80 वॉट के दमदार स्‍पीकर और 2HDMI पोर्ट के साथ Hisense फ्लैगशिप स्‍मार्ट टीवी लॉन्‍च
  23. 50 इंच डिस्प्ले वाला OnePlus TV 50 Y1S Pro स्मार्ट टीवी लॉन्च, कम दामों में घर बन जाएगा सिनेमा
  24. 26 हजार तक सस्ती कीमत में खरीदें Apple iPhone 12, बेहद तगड़ा है ऑफर
  25. WhatsApp Status को चुटकियों में ऐसे करें डाउनलोड
  26. Binance पर Dogecoin ट्रेडर्स के दांव से मिल रहा पॉजिटिव संकेत
  27. इनवेस्टर्स के लिए महत्वपूर्ण है क्रिप्टो सेगमेंट से जुड़े कानूनों को समझना 
  28. 1 लाख 30 हजार Bitcoin रखने वाले माइकल सेलर ने Crypto निवेशकों को मंदी के लिए दी खास सलाह
  29. Shiba Inu के होल्डर्स 11 लाख 90 हजार के पार, टॉप होल्डिंग्स में USDC को भी पछाड़ा
  30. PUBG Lite का बीटा वर्जन लॉन्च हुआ भारत में, ऐसे करें डाउनलोड
#ताज़ा ख़बरें
  1. 60MP सेल्‍फी कैमरा, 100वॉट चार्जिंग के साथ Huawei Nova 10 Pro और Nova 10 फोन लॉन्‍च, जानें प्राइस
  2. चंद्रमा पर ‘कब्‍जा’ करना चाहता है चीन, Nasa के इस बयान पर पड़ोसी देश ने दी यह प्रतिक्रिया
  3. Honda के इलेक्ट्रिक स्‍कूटर Benly e की दिखी झलक, जल्‍द हो सकती है लॉन्चिंग
  4. इनवेस्टर्स के लिए महत्वपूर्ण है क्रिप्टो सेगमेंट से जुड़े कानूनों को समझना 
  5. SUV सेगमेंट में 20KM से ज्यादा माइलेज वाली Maruti की ये गाड़ी है स्मार्ट हाइब्रिड, Rs 11 हजार में ऐसे करें बुकिंग
  6. एलियंस का पता लगाने के लिए Nasa बना रही तैरने वाले रोबोट, इस मिशन पर भेजे जाएंगे
  7. ब्रिटेन की आर्मी के Twitter और YouTube एकाउंट में लगी सेंध
  8. क्या है एंड्रॉयड ऑटो और एप्पल कार प्ले, कार में लगा लिया तो नहीं पड़ेगी फोन इस्तेमाल करने की जरूरत
  9. 50 इंच डिस्प्ले वाला OnePlus TV 50 Y1S Pro स्मार्ट टीवी लॉन्च, कम दामों में घर बन जाएगा सिनेमा
  10. जेंडर डायवर्सिटी पर NFT सीरीज रिलीज करेगी कोका कोला 
© Copyright Red Pixels Ventures Limited 2022. All rights reserved.